tags

Best शेर Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best शेर Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 460 Followers
  • 2355 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"मैं तेरे पूरी जिंदगी की अभिलाषा नहीं रखता मुझे बस अपने आँसुओं का वो हिस्सा देदे जो अक्सर बह जाता है तेरी आँखों से और लौट जाता है तेरी किसी ख्वाहिश के टूटने पर। मैं अनजान बन के रह लूँगा तेरी यादों को अपनी आँखों मैं बसाकर। और तू जी लेना मुझे भूला कर। पारुल शर्मा"

मैं तेरे पूरी जिंदगी की अभिलाषा नहीं रखता
मुझे बस अपने आँसुओं का वो हिस्सा देदे
जो अक्सर बह जाता है तेरी आँखों से 
और लौट जाता है
 तेरी किसी ख्वाहिश के टूटने पर।
मैं अनजान बन के रह लूँगा
 तेरी यादों को अपनी आँखों मैं बसाकर।
और तू जी लेना मुझे भूला कर।
          पारुल शर्मा

#जिंदगी#अभिलाषा#आँसू#हिस्सा#अक्सर#बहना#आँखों#लौट#ख्वाहिश#टूटना#अनजान#यादों#बसाकर#जीना#भूलना
#Nojotohindi#Nojoto#Nojotoquotes#Nojotoofficial#hindi#Shayari#hindipoetry#Poetry#sher#हिन्दीकविता#शेर#शायर#कविता#रचना#h#kavishala#hindipoet#TST#kalakash#Faiziqbalsay#Motivation#kavi#kavishala#kavi#
#कवि#Life#शायर#कवि#Life#जीवन
#इश्क #मोहब्बत #प्यार #Love

346 Love
22 Share

""

"इश्क के लफ्ज बहुत ही हल्के होते हैं। बेबफाई न छिड़कें तो दिल में ही रहेंगे। पारुल शर्मा #gif"

इश्क के लफ्ज बहुत ही हल्के होते हैं।
बेबफाई न छिड़कें तो दिल में ही रहेंगे।
                  पारुल शर्मा #gif

इश्क के #लफ्ज बहुत ही #हल्के होते हैं।
#बेबफाई न छिड़कें तो दिल में ही रहेंगे।
पारुल शर्मा
#2liner#Gif
#Nojotohindi#Nojoto#Nojotoquotes#Nojotoofficial#hindi#Shayari#hindipoetry#Poetry#sher#हिन्दीकविता#शेर#शायर#कविता#रचना#h#kavishala#hindipoet#TST#kalakash#Faiziqbalsay#Motivation#kavi#kavishala#kavi#
#कवि#Life#शायर#कवि#Life#जीवन
#इश्क #मोहब्बत#प्यार#Love#दिल#Dil#Pyar#ishq

263 Love
9 Share

""

"पे हम शेर नहीं लिखा करते हम तो खुद दहाडा़ करते है हम तो सिर्फ मोहब्बत करने वाले है शाहब बस हम तो सिर्फ मोहब्बत करना जानते है ........शेर @sanjay sanju"

पे हम शेर नहीं लिखा करते हम तो खुद दहाडा़ करते है
हम तो सिर्फ मोहब्बत करने वाले है
शाहब बस हम तो सिर्फ मोहब्बत करना जानते है
                                        ........शेर


@sanjay sanju

 

236 Love
2 Share

""

"हो हौसला पहाड़ सा , शेर की दहाड़ सा । है मुश्किलें कुछ नही , बस राह की है ठोकरे । बड़े चल , बड़े चल , खुद को बस तू झोंक रे । समय सब लील जायेगा , बाद तू पछतायेगा । अभी भुजा में जोर है , हवाओँ में भी शोर है । हाथी सा चिंघाड़ तू , फौलाद को भी फाड़ तू । राष्ट्र का तू है युवा तो, इस राष्ट्र को दिशा दे । हर उठने वाली आँख का, तू नामोनिशा मिटा दे ।"

हो हौसला पहाड़ सा ,
शेर की दहाड़ सा ।
है मुश्किलें कुछ नही ,
बस राह की है ठोकरे  ।
बड़े चल , बड़े चल ,
खुद को बस तू झोंक रे ।
समय सब लील जायेगा ,
बाद तू पछतायेगा ।
अभी भुजा में जोर है ,
हवाओँ में भी शोर है ।
हाथी सा चिंघाड़ तू ,
फौलाद को भी फाड़ तू ।
राष्ट्र का तू है  युवा  तो,
इस राष्ट्र को दिशा दे ।
हर उठने वाली आँख का,
तू नामोनिशा  मिटा दे ।

हो #हौसला #पहाड़ सा ,
#शेर की #दहाड़ सा ।
है #मुश्किलें कुछ नही ,
बस #राह की है #ठोकरे
बड़े चल , बड़े चल ,
#खुद को बस तू #झोंक रे ।
#समय सब लील जायेगा ,
बाद तू #पछतायेगा

223 Love
19 Share

""

"मैं आज़ाद था, जन्मदिन मुबारक, चंद्रशेखर आज़ाद 23 जुलाई 1906 का वह शुभ महूर्त बना था , जब भाबरा में माँ जगरानी ने शेर जना था ! आंखों में वो आंखे डाले सच्ची बाते करता था , उसके इस व्यक्तित्व पर ही जमाना नाज़ करता था ! था बापू से प्रभावित पहले ,पर पथ उसका अलग था , गर्म खून शेर के जैसा, वो अहिंसा से बिलग था ! बचपन की वो 15 बेतें ज्वाला बनके फूटी थी , अंग्रेजी हुकूमत की रीढ़ की हड्डी टूटीं थी ! अपने खून पसीने से H.R.A. को उसने सँवारा था , किसी दुश्मन के पैरों के नीचे झुकना नही ग़वारा था! अल्फ़्रेड पार्क घेराबन्दी में नॉट बाबर पूँछा कौन हो तुम , पिस्टल निकाल फ़ायर किया बोला तुम्हारे बाप है हम ! 27 फरवरी 1931 काला दिन था ,भाग्य को किसने मेटा था , आखरी दम तक लड़ा आज़ाद ,वह माँ भारती का सच्चा बेटा था ! आख़री गोली बची तो पिस्तौल कनपटी पर रखकर गोली दाग लिया , धन्य हुआ था जग सारा आजादी के ख़ातिर खुद को आज़ाद किया ! "" मैं आज़ाद था ,आज़ाद हूँ ,और आज़ाद रहूँगा , हर हिंदुस्तान जवाँ के दिलो में वे सदा ही जिंदा रहेंगे !!"" ((( ""राहुल "")))"

मैं आज़ाद था, जन्मदिन मुबारक, चंद्रशेखर आज़ाद                                         23 जुलाई 1906 का वह शुभ महूर्त बना था ,
                                       जब भाबरा में माँ जगरानी ने शेर जना था !
आंखों में वो आंखे डाले सच्ची बाते करता था ,
उसके इस व्यक्तित्व पर ही जमाना नाज़ करता था !
था बापू से प्रभावित पहले ,पर पथ उसका अलग था ,
गर्म खून शेर के जैसा, वो अहिंसा से बिलग था !
बचपन की वो 15 बेतें ज्वाला बनके फूटी थी ,
अंग्रेजी हुकूमत की रीढ़ की हड्डी टूटीं थी !
अपने खून पसीने से H.R.A. को उसने  सँवारा था ,
किसी दुश्मन के पैरों के नीचे झुकना नही ग़वारा था!
अल्फ़्रेड पार्क घेराबन्दी में नॉट बाबर पूँछा कौन हो तुम ,
पिस्टल निकाल फ़ायर किया बोला तुम्हारे बाप है हम !
27 फरवरी 1931 काला दिन था ,भाग्य को किसने मेटा था ,
आखरी दम तक लड़ा आज़ाद ,वह माँ भारती का सच्चा बेटा था ! 
आख़री गोली बची तो पिस्तौल कनपटी पर रखकर गोली दाग लिया ,
धन्य हुआ था जग सारा  आजादी के ख़ातिर खुद को आज़ाद किया !
"" मैं आज़ाद था ,आज़ाद हूँ ,और आज़ाद रहूँगा ,
हर हिंदुस्तान जवाँ के दिलो में वे सदा ही जिंदा रहेंगे !!""







         ((( ""राहुल "")))

#ChandraShekharAzad
#जीवनी #वीर_रस #गीतिका
#nojotohindi #Hindi
23 जुलाई 1906 का वह शुभ महूर्त बना था ,
जब भाबरा में माँ जगरानी ने शेर जना था !
आंखों में वो आंखे डाले सच्ची बाते करता था ,
उसके इस व्यक्तित्व पर ही जमाना नाज़ करता था !
था बापू से प्रभावित पहले ,पर पथ उसका अलग था ,

175 Love
2 Share