tags

Best बेंवफ़ा Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best बेंवफ़ा Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 2 Followers
  • 4 Stories
  • Latest
  • Video

""

"कैसे कहूँ यें दिल कितना उदास हैं मानों एसा लग रहा हैं फ़िर उसी बेंवफ़ा की तलाश हैं"

कैसे कहूँ
यें दिल कितना उदास हैं 

मानों एसा लग रहा हैं
फ़िर उसी बेंवफ़ा की तलाश हैं

...............................................................

कैसे कहूँ
यें
#दिल कितना #उदास हैं

मानों एसा लग रहा हैं
फ़िर उसी #बेंवफ़ा की #तलाश हैं

26 Love

""

"मैं ,, तन्हाईं कों अपना हम - सफ़र ,, और मौंत को अपनी मंजिल मानता हूँ देखें हैं कई शख़्स मैंने इस जहां में ,, हम - दर्द बनकर दर्द देते हुए क्यूँ ,, किसी को अपना दिल देकर चैन - ओं - सूकून खोतें हों " साहिब " यहां हर शख़्स अपना नहीं होता"

मैं ,, तन्हाईं कों अपना हम - सफ़र ,, और मौंत को अपनी मंजिल मानता हूँ
देखें हैं कई शख़्स मैंने इस जहां में ,, हम - दर्द बनकर दर्द देते हुए 









क्यूँ  ,, किसी को अपना दिल देकर
चैन - ओं - सूकून खोतें हों  " साहिब "
यहां हर शख़्स अपना नहीं होता

यहां हर किसी के सामने ,, अपनी दरिया - दिलीं मत दिखना " ए मेरे Dost "
यें दुनियां बड़ी
#ज़ालिम हैं ,, लगाकर #इल्ज़ाम ख़ुद पर हीं ,, #बेंवफ़ा करार देतीं हैं
@दीपिका😎
............................................................................🥀 🥀

Yaha Har Kisi Ke Samne Apni Dariya - Dili Mat Dikhana " E Mere Dost "
Ye Duniya Badi Jalim Hai ,, Lagakar Iljam Khud Par Hi ,, Bewafa Karar Deti Hai
............................................................................🥀 🥀

361 Love

""

"गुमशुदा है कौन मुझमें ,, किसकी मुझे तलाश हैं मैं इक़ जिंदा इंसान हूँ ,, या चलतीं - फ़िरती कोई लाश हैं भटक रहा हूँ मैं यहां - वहां ,, मगर मिलता कुछ नहीं यें ज़िंदगी हैं बेंवफ़ा ,, सिर्फ़ अगर - मगर और काश हैं - MERI SHAYARI MERI DASTAAN"

गुमशुदा है कौन मुझमें ,, किसकी मुझे तलाश हैं 
मैं इक़ जिंदा इंसान हूँ ,, या चलतीं - फ़िरती कोई लाश हैं
भटक रहा हूँ मैं यहां - वहां ,, मगर मिलता कुछ नहीं
 यें ज़िंदगी हैं बेंवफ़ा ,, सिर्फ़ अगर - मगर और काश हैं


- MERI SHAYARI MERI DASTAAN

#गुमशुदा है कौन मुझमें ,, किसकी मुझे #तलाश हैं
मैं इक़ #जिंदा #इंसान हूँ ,, या चलतीं - फ़िरती कोई #लाश हैं
#भटक रहा हूँ मैं यहां - वहां ,, मगर #मिलता कुछ नहीं
यें ज़िंदगी हैं #बेंवफ़ा ,, सिर्फ़ अगर - मगर और #काश हैं
........................................................................ 🥀 🥀

Gumshuda Hai Kon Mujhme ,, Kiski Mujhe Talash Hai
Mai Ik Jinda Insan Hoo ,, Ya Chalti - Firti Koi Lash Hai

330 Love

""

"Mr. MANEESH"

Mr. MANEESH

कैसे कहूँ ,, कि यें #दिल कितना #उदास हैं

मानों एसा लग रहा हैं
#फ़िर उसी #बेंवफ़ा की #तलाश है
...................................................................🥀 🥀

Kaise Kahu ,, Ki Ye #Dil Kitna #udas Hai

306 Love
2 Share