tags

Best Pehli_Mulakkat Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best Pehli_Mulakkat Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 489 Followers
  • 486 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"मेरे बारे मे पूछना है तो उसकी दहलीज की मिट्टी से पूछियेगा, कितनी रातें मैंने उसकी चौखट पे पड़े पड़े धूल करदी. पूछना है तो उस सावन की बारिश से भी पूछ लेना,जिसने मेरी आँखों से टकराने की भूल करदी. सैलाब था मेरी इन आँखों में,बारिश की बूंदे भी मेरे आँसुयों ने फिजूल करदीं. समंदर बन गया था वो शहर उसका मेरे गम से,जिसने मोहब्बत मेरी नामंजूर करदी।"

मेरे बारे मे पूछना है तो उसकी
दहलीज  की मिट्टी से पूछियेगा,
कितनी रातें मैंने उसकी चौखट पे पड़े
पड़े धूल करदी.

पूछना है तो उस सावन की बारिश से
भी पूछ लेना,जिसने मेरी आँखों से
टकराने की भूल करदी.

सैलाब था मेरी इन आँखों में,बारिश
की बूंदे भी मेरे आँसुयों ने फिजूल
करदीं.

समंदर बन गया था वो शहर उसका
मेरे गम से,जिसने मोहब्बत मेरी
नामंजूर करदी।

#Pehli_Mulakkat Mysterious Girl. @Svitha1 @Naina.roy @Vaishali Gupta Riya @राधाकृष्णप्रिय Deepika @Nosheen Siddiqui

249 Love
5 Share

""

"तुमसे ना सही खुद से होती है रोज़ तुम्हारी बात, मुस्कुराते हैं होंठ औऱ आँख मेरी नम होती हैं... आज भी याद है मुझे अपनी पहली मुलाक़ात, कौन कहता है फासलों से मोहब्बत कम होती हैं... ✍My_Words..."

तुमसे ना सही खुद से होती है रोज़ तुम्हारी बात,
मुस्कुराते हैं होंठ औऱ आँख मेरी नम होती हैं...

आज भी याद है मुझे अपनी पहली मुलाक़ात,
कौन कहता है फासलों से मोहब्बत कम होती हैं...


✍My_Words...

फ़ासलों से मोहब्बत कम नहीं होती....🙂#Love #FirstLove #philosophy #QandA #Pehli_Mulakkat

@aman6.1 @Shikha Sharma @Suman Zaniyan @sheetal pandya मेरे शब्द @Vaishali Bhardwaj Mr. MANEESH

235 Love
2 Share

""

"बहुत सी खामियां हैं मुझमें, पर उसने कभी बताया नहीं। और इश्क़ सच्चा था उसका, इसलिए उसने कभी जताया नहीं।। -सुप्रिया"

बहुत सी खामियां हैं मुझमें,
पर उसने कभी बताया नहीं।
और इश्क़ सच्चा था उसका, 
 इसलिए उसने कभी जताया नहीं।।

-सुप्रिया

#Pehli_Mulakkat #Love #Loveforever #Gulzar #supriyaarya

216 Love
1 Share

""

"अभी हुई ही नहीं"

अभी हुई ही नहीं

#Pehli_Mulakkat

211 Love

""

"पहली मुलाकात हमेशा याद रहती है , अच्छी हो या बुरी, मगर हमारे मानस पटल पर अलग सी भावनाएं अंकित कर देती है,जो जिंदगी भर हमारे साथ रहती हैं । मेरी पहली मुलाकात उनसे , वो भी कुछ ऐसी ही थी । फ़ोन पर दो -चार बार औपचारिक बातें करने के बाद हमने मिलने का प्लान बनाया, और दिन वो खास चुना मेरे जन्मदिन का । सुबह होते ही हम दोनों अपने घर से निकले , तयशुदा मंजिल के लिए, जगह मेरे घर से नजदीक थी तो मैं पहले पहुँच कर उसका इंतजार करने लगी । मेरे मन में लाखों सवाल उमड़ रहे थे, कि ये पूछना है, वो पूछना है । लगभग एक घंटे के इंतजार के बाद सामने से एक हंसता मुसकुराता इंसान आता दिखा , जिसकी मुस्कान ने मेरा दिल मोह लिया। चॉकलेट का पैकेट मुझे देते हुए उसने कहा ,"इस दुनिया में मेरे लिए आने के लिए बहुत शुक्रिया, क्या आप मेरी जिंदगी में शामिल हो जाओगी हमेशा के लिए?" पहली मुलाकात और ऐसा प्रस्ताव! "जनाब कुछ ज्यादा नहीं हो रहा ,अभी तो मैं आपको अच्छे से जानती भी नहीं, अभी क्या कहूँ, समझ नहीं आ रहा "। तो थोड़ा फिल्मी अंदाज़ में उसने कहा, "जानने ,समझने को तो जिंदगी पड़ी है , साथ में एक दूसरे को जानते समझते साथ में जिंदगी बिताते हैं ना !" मैं हंस पड़ी और बस उसके हाथ को थाम बिना कुछ कहे उसके साथ चल दी। वो जो सफर उस वक्त शुरू हुआ समझने जानने का ,वो आज भी जारी है, मगर उनका वो पहला और आखिरी फिल्मी अंदाज़ आज भी मेरे लबों पर मुस्कान बिखेर देता है।"

पहली मुलाकात हमेशा याद रहती है , अच्छी हो या बुरी, मगर हमारे मानस पटल पर अलग सी भावनाएं अंकित कर देती है,जो जिंदगी भर हमारे साथ रहती हैं । मेरी पहली मुलाकात उनसे , वो भी कुछ ऐसी ही थी । फ़ोन पर दो -चार बार औपचारिक बातें करने के बाद हमने मिलने का 
प्लान बनाया, और दिन वो खास चुना मेरे जन्मदिन का ।
सुबह होते ही हम दोनों अपने घर से निकले , तयशुदा मंजिल के लिए, जगह मेरे घर से नजदीक थी तो मैं पहले पहुँच कर उसका इंतजार करने लगी । मेरे मन में लाखों सवाल उमड़ रहे थे,  कि ये पूछना है, वो पूछना है । लगभग एक घंटे के इंतजार के बाद सामने से एक हंसता मुसकुराता इंसान आता दिखा , जिसकी मुस्कान ने मेरा दिल मोह लिया। 
चॉकलेट का पैकेट मुझे देते हुए उसने कहा ,"इस दुनिया में मेरे लिए आने के लिए बहुत शुक्रिया,  क्या आप मेरी जिंदगी में  शामिल हो जाओगी हमेशा के लिए?"
पहली मुलाकात और ऐसा प्रस्ताव! "जनाब कुछ ज्यादा नहीं हो रहा ,अभी तो मैं आपको अच्छे से जानती भी नहीं, अभी क्या कहूँ, समझ नहीं आ रहा "।
तो थोड़ा फिल्मी अंदाज़ में उसने कहा, "जानने ,समझने को तो जिंदगी पड़ी है , साथ में एक दूसरे को जानते समझते साथ में जिंदगी बिताते हैं ना !" मैं हंस पड़ी और बस उसके हाथ को थाम बिना कुछ कहे उसके साथ चल दी। वो जो सफर उस वक्त शुरू हुआ समझने जानने का ,वो आज भी जारी है, मगर उनका वो पहला और आखिरी फिल्मी अंदाज़ आज भी मेरे लबों पर मुस्कान बिखेर देता है।

#Pehli_Mulakkat #मुस्कान #nojotoquotesforall #nojotowritersclub #nojotohindi #Anshulathakur #kahaniya #storytelling #Memories

186 Love