tags

Best धुप Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best धुप Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 24 Followers
  • 174 Stories
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"कल तक जो बेचैन थे धुप और गर्मी से आज वही पानी से ऊब गया। रोये क्यों न कोई इस हाल पे जब पूरा शहर पानी में डूब गया। धुप तो केवल छिनती थी दिन का सुकून पर पानी तो सब कुछ बहाकर ले गया। कड़ी धूप में भी नही रुकते जिसके कदम वही पानी सबको स्थिर कर गया। कल तक जो जल देती थी जिंदगी वही आज सब को बेघर कर गया। पुरे शहर में जब पानी घर कर गया, वही आज सब को बेघर कर गया। 😢😢😢😢😢😢😢😢 #PreyForFloodVictims🙏 #PreyForBihar 🙏"

कल तक जो बेचैन थे धुप और गर्मी से
आज वही पानी से ऊब गया।
रोये क्यों न कोई इस हाल पे
जब पूरा शहर पानी में डूब गया।
धुप तो केवल छिनती थी दिन का सुकून 
पर पानी तो सब कुछ बहाकर ले गया।
कड़ी धूप में भी नही रुकते जिसके कदम
वही पानी सबको स्थिर कर गया।
कल तक जो जल देती थी जिंदगी
वही आज सब को बेघर कर गया।
पुरे शहर में जब पानी घर कर गया,
वही आज सब को बेघर कर गया।
😢😢😢😢😢😢😢😢
#PreyForFloodVictims🙏
#PreyForBihar 🙏

#PureShaharMePaniGharKarGaya पुरे शहर में जब पानी घर कर गया #PreyForFloodVictims🙏 #PreyForBihar 🙏

67 Love

"वो सर्द मौसम, वो ठंडी हवाएं, वो बादलों से, छन के आती, तन को सुहाती, मन को लुभाती, गुनगुनी सी धुप, एक तेरा साथ, आज भी है याद, तेरे हाथों की छुअन, तेरे बातों का सुकून, नये शहर में, अनजान राहों पे, फुर्सत के वो पल, आते हैं जब ख़्यालों में, तो गुदगुदा जाते हैं, इस तन को, किसी सर्द दोपहर की गुनगुनी धुप से। -राकेश(साफिर) 19dec2018"

वो सर्द मौसम,
वो ठंडी हवाएं,
वो बादलों से, 
छन के आती,
तन को सुहाती,
मन को लुभाती,
गुनगुनी सी धुप,
एक तेरा साथ,
आज भी है याद,
तेरे हाथों की छुअन,
तेरे बातों का सुकून,
नये शहर में,
अनजान राहों पे,
फुर्सत के वो पल,
आते हैं जब ख़्यालों में,
तो गुदगुदा जाते हैं,
इस तन को,
किसी सर्द दोपहर
की गुनगुनी धुप से।
-राकेश(साफिर)
19dec2018

 

22 Love

"Fire इश्क में हम युं होश गंवाते रहे, उसके लिऐ घर आग में जलाते रहे, हम ख्वाबों को पिरोते रहे लफ्ज़ों में, और हकीकत को आग में जलाते रहे, वो समझ जाते मतलब मेरे लिखे खतों का, मगर हम तो खतों को ही आग में जलाते रहे, वो भी खड़े थे धुप में इंतज़ार मे रकीब के, हम भी खड़े थे धुप में छांव उसकी बनकर, जब तक आता महबुब उनका मिलनें उनसें, हम खड़े बरसती आग में खुद को जलाते रहे, हम इश्क बन तो नहीं सकते थे कभी उनका, याद होते हुऐ भी खुद को प्रेम आग में जलाते रहे,"

Fire इश्क में हम युं होश गंवाते रहे,
उसके लिऐ घर आग में जलाते रहे,
हम ख्वाबों को पिरोते रहे लफ्ज़ों में,
और हकीकत को आग में जलाते रहे,
वो समझ जाते मतलब मेरे लिखे खतों का,
मगर हम तो खतों को ही आग में जलाते रहे,
वो भी खड़े थे धुप में इंतज़ार मे रकीब के,
हम भी खड़े थे धुप में छांव उसकी बनकर,
जब तक आता महबुब उनका मिलनें उनसें,
हम खड़े बरसती आग में खुद को जलाते रहे,
हम इश्क बन तो नहीं सकते थे कभी उनका,
याद होते हुऐ भी खुद को प्रेम आग में जलाते रहे,

बे वजह हम खुद को जलाते रहे,
#Fire #wod

62 Love
3 Share

"दरख्तों का क्या है , धुप में जलते है , आप जैसे फूल तो दिलो में पलते है। - राणा ©"

दरख्तों का क्या है , धुप में जलते है , 
आप जैसे फूल तो दिलो में पलते है। 
- राणा ©

#दरख्तों का क्या है , #धुप में #जलते है ,
आप जैसे #फूल तो #दिलो में #पलते है।
#Nojoto #hindinojoto #Nojotohindi

37 Love

"ये कसक दिल की दिल में चुभी रह गयी , जिन्दगी में तुम्हारी कमी रह गयी । एक मैं एक तुम और हमारा ये दिल , जिन्दगी बस आधी बची रह गयी । इस दिल में तुम्हारी कमी रह गयी । रात की भींगी भींगी छ़तो की तरह मेरी आँखो में थोड़ी नमी रह गयी जिन्दगी में तुम्हारी कमी रह गयी । मैने रोका नहीं वो चला भी गया मुड़ मुड़ कर दुर तक देखता रह गया जब चली थी तो धुप ही धुप थी , आते आते इधर चाँदनी रह गयी । ये कसक दिल की दिल में चुभी रह गयी , जिन्दगी में तुम्हारी कमी रह गयी । ( रिया सिंह )"

ये कसक दिल की दिल में चुभी रह गयी ,
जिन्दगी में तुम्हारी कमी रह गयी  ।
एक मैं एक तुम और हमारा ये दिल , 
जिन्दगी बस आधी बची रह गयी ।
इस दिल में तुम्हारी कमी रह गयी ।
रात की भींगी भींगी छ़तो की तरह 
मेरी आँखो में थोड़ी नमी रह गयी 
जिन्दगी में तुम्हारी कमी रह गयी ।
मैने रोका नहीं वो चला भी गया 
मुड़ मुड़ कर दुर तक देखता रह गया 
जब चली थी तो धुप ही धुप थी ,
आते आते इधर चाँदनी रह गयी ।
ये कसक दिल की दिल में चुभी रह गयी ,
जिन्दगी में तुम्हारी कमी रह गयी ।
                   ( रिया सिंह )

कमी

17 Love
1 Share