tags

Best author Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best author Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos about author, author vs writer, poem with author name.

  • 229 Followers
  • 1112 Stories
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"बंद आँखों से देखा.. वो.. सपना, अधूरा... नज़र आया। काल्पनिक सा था.. वो सपना, जो.. ख्यालों में ही... पूरा हो गया। जब सामने देखा..., तो...वो कागज़... कोरा नज़र आया । ना लिखा था.. पैग़ाम.. वो इत्तु सा, धुला हुआ... समंद्र नज़र आया। बूँद बूँद से जुड़ा, वो बादल.... धुँआ हो गया। धूल में लिपटी ...थी.... वो क़िताब... कोरी नज़र आई। कल... मुक़मल.. हुई वो मोहब्बत..., बिखरी... नज़र आई, आँख खोली... तो.. सपना टूट गया, हकीकत... कुछ यूँ...नज़र आई। इत्तु सा..."

बंद आँखों से देखा.. वो.. सपना,
  अधूरा... नज़र आया।
काल्पनिक सा था.. वो सपना, 
जो.. ख्यालों में ही... पूरा हो गया।
 जब सामने देखा...,  
तो...वो कागज़... कोरा नज़र आया । 
ना लिखा था.. पैग़ाम.. वो इत्तु सा,
 धुला हुआ... समंद्र नज़र आया।
बूँद बूँद से जुड़ा, 
वो बादल.... धुँआ हो गया।
धूल में लिपटी ...थी.... वो क़िताब...
 कोरी नज़र आई।
कल... मुक़मल.. हुई वो मोहब्बत...,
 बिखरी... नज़र आई,
आँख खोली... तो.. सपना टूट गया,
हकीकत... कुछ यूँ...नज़र आई।

 इत्तु सा...

इत्तु सा पैग़ाम अधूरेपन के नाम।

बंद आँखों से देखा.. वो.. सपना,
अधूरा... नज़र आया।
काल्पनिक सा था.. वो सपना,
जो.. ख्यालों में ही... पूरा हो गया।
जब सामने देखा...,
तो...वो कागज़... कोरा नज़र आया ।

27 Love
1 Share

"उसको जब गुस्सा आता है तो वो खुद से लड़ लेती है जब भी तन्हा होती हैं , कुछ कच्चे सपने गढ़ लेती है उससे मेरी प्यारी - प्यारी , बस छोटी सी यारी है मैं उसको लिख लेता हूँ तो वो भी मुझको पढ़ लेती हैं -- सुल्तान मोहित बाजपेयी"

उसको जब गुस्सा आता है तो वो खुद से लड़ लेती है
जब भी तन्हा होती हैं , कुछ कच्चे सपने  गढ़ लेती है 

 उससे  मेरी  प्यारी -  प्यारी , बस  छोटी  सी  यारी है
मैं उसको लिख लेता हूँ तो वो भी मुझको पढ़ लेती हैं

 -- सुल्तान मोहित बाजपेयी

.......

#nojotohindi #nojotomystory #Emotionalhindiquotestatic #author #Quotes #kalakaksh #kavishala #Shayari #Poetry

19 Love

"हमारा ख़त लबो से चूंमकर , वो खूब रोती है समझ जाती है सब , लेकिन उसे पढना नही आता सुल्तान मोहित बाजपेयी"

हमारा  ख़त  लबो  से  चूंमकर ,  वो  खूब  रोती  है
समझ जाती है  सब , लेकिन उसे पढना नही आता

सुल्तान मोहित बाजपेयी

उसे पढ़ना नही आता

#nojotohindi #nojotomystory #Emotionalhindiquotestatic #author #Quotes #kalakaksh #kavishala #Shayari #Poetry

24 Love

"वो भी पत्थर जैसी थी पर तुम भी पत्थर जैसी निकलीं चाकू-वाकू ,ख़ंजर-वंजर , नस्तर-वस्तर ,जैसी निकलीं हँसना-वसना , रोना-वोना , झगड़ा-वगड़ा , मेरे जैसा तुम तो उससे बेहतर थी , पर उससे बत्तर जैसी निकलीं ©सुल्तान मोहित बाजपेयी"

वो भी पत्थर जैसी थी पर तुम भी पत्थर जैसी निकलीं
चाकू-वाकू ,ख़ंजर-वंजर , नस्तर-वस्तर ,जैसी निकलीं

हँसना-वसना , रोना-वोना , झगड़ा-वगड़ा , मेरे  जैसा
तुम तो उससे बेहतर थी , पर उससे बत्तर जैसी निकलीं

©सुल्तान मोहित बाजपेयी

#अस'आर

#nojotohindi #nojotomystory #Emotionalhindiquotestatic #author #Quotes #kalakaksh #kavishala #Shayari #Poetry

19 Love

"दुखों का रोना... रोया ना कर, दर्द को अपने... भुलाया ना कर। सँवार कर.. उसको .., कुछ इस तरह... निकाला कर। देख.....खुदा...बोल उठे.... मिर्ज़ा मिर्ज़ा ग़ालिब ग़ालिब...। इत्तु सा..."

दुखों का रोना...
रोया ना कर,
दर्द को अपने...
भुलाया ना कर।
सँवार कर.. 
उसको ..,
कुछ इस तरह...
निकाला कर।
देख.....खुदा...बोल उठे....
मिर्ज़ा मिर्ज़ा ग़ालिब ग़ालिब...।

इत्तु सा...

इत्तु सा पैग़ाम दुखड़े के नाम।

दुखों का रोना रोया ना कर,
दर्द को अपने भुलाया ना कर।
सँवार कर.. उसको ..,
कुछ इस तरह निकाला कर।
देख.....खुदा...बोल उठे....
मिर्ज़ा मिर्ज़ा ग़ालिब ग़ालिब...।

37 Love