tags

Best सोचूं Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best सोचूं Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 16 Followers
  • 46 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

कुछ #सोचूं तो तेरा ही खयाल आता है
कुछ बोलूं तो तेरा ही नाम आता है
कब तक छुपाऊं #दिल की बात
तुम्हारी हर बात पर मुझे प्यार आ जाता है...
#nojotohindi

1.4K Love
47 Share

""

"कुछ नहीं,पर हूं मैं बहुत कुछ तुम्हें रास आए,न आए ग़म है कहीं,पर हूं मैं बहुत खुश ये खुशी कोई पाए,न पाए साधारण हूं,पर बहुत खास भी सपने छोटे सही,पर मामुली नहीं दूर की सोचूं,पर सोचूं पास भी तूफा का इंतजार है, हवा अभी खुली नहीं बस ज़रा सा नाम चाहिए, कुछ तो ऐसा काम चाहिए हूनर की कदर हो मुझे भी एक मुकाम चाहिए"

कुछ नहीं,पर हूं मैं बहुत कुछ
तुम्हें रास आए,न आए
ग़म है कहीं,पर हूं मैं बहुत खुश
ये खुशी कोई पाए,न पाए


साधारण हूं,पर बहुत खास भी
सपने छोटे सही,पर मामुली नहीं
दूर की सोचूं,पर सोचूं पास भी
तूफा का इंतजार है, हवा अभी खुली नहीं

बस ज़रा सा नाम चाहिए,
कुछ तो ऐसा काम चाहिए
हूनर की कदर हो
मुझे भी एक मुकाम चाहिए

 

28 Love
1 Share

""

"स्वच्छ भारत लिखूँ_तो प्यार हो तुम सोचूं तो इश्क हो तुम और चाहूँ तो मोहब्बत हो तुम अब चाहें लिखूँ सोचूं या चाहूँ मेरे हर लफ्ज़ हर ख़याल में हो तुम..!"

स्वच्छ भारत लिखूँ_तो 
प्यार हो तुम 

सोचूं तो 
इश्क हो तुम 

और 
चाहूँ तो मोहब्बत हो तुम 

अब चाहें लिखूँ सोचूं या चाहूँ 
मेरे हर लफ्ज़ हर ख़याल में हो तुम..!

 

9 Love
1 Share

""

"हार मन से मैं अब हार गई हूं, दिल से भी अब हार गई हूं। जब जब तुझको सोचूं, तब लगता है अब हार गई हूं।। मैं धरती हूं, तू अम्बर है... काश मैं सूरज बन पाती... किरणों के संग जाती और तुझको मैं यूं ही छू जाती... दिल का स्वप्न ये रहा नहीं अब... तुम किसी और के हो जाना... खुद से मैं अब हार गई हूं, खुदा से भी तुझको हार गई हूं। जब जब तुझको सोचूं, लगे... अब खुद से भी तुझको हार गई हूं।। ©priyastarkgold"

हार

मन से मैं अब हार गई हूं, दिल से भी अब हार गई हूं।
जब जब तुझको सोचूं, तब लगता है अब हार गई हूं।।
मैं धरती हूं, तू अम्बर है... काश मैं सूरज बन पाती...
किरणों के संग जाती और तुझको मैं यूं ही छू जाती...
दिल का स्वप्न ये रहा नहीं अब...
तुम किसी और के हो जाना...
खुद से मैं अब हार गई हूं, खुदा से भी तुझको हार गई हूं।
जब जब तुझको सोचूं, लगे... अब खुद से भी तुझको हार गई हूं।।
©priyastarkgold

#हार

8 Love
4 Share

""

"तुम मुझ से अलग कब हो, मैं तुम से जुदा कहां हूं। पानी में में कमल जैसे रहते हो मुझ ही में तुम।। देखूं तो तुम्हे देखूं सोचूं तो तुम्हे सोचूं । सागर में नदी जैसे बहते हो मुझ ही में तुम।।"

तुम मुझ से अलग कब हो, मैं तुम से जुदा कहां हूं।
पानी में में कमल जैसे रहते हो मुझ ही में तुम।।
देखूं तो तुम्हे देखूं सोचूं तो तुम्हे सोचूं ।
सागर में नदी जैसे बहते हो मुझ ही में तुम।।

दीवानगी

6 Love
1 Share