tags

Best a Shayari, Status, Quotes, Stories

Find the Best a Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 1101 Followers
  • 2096 Stories
  • Latest
  • Popular
  • Video

""

"#5LinePoetry If you're mind is positive You see everything positive 😁 And If you're mind is negative You see everything negative 😠 Hence Evrytime set your mind on only positive things 🤗 ☺ Good day to you ☺ ©A J"

#5LinePoetry If you're mind is positive 
You see everything positive 😁
And
If you're mind is negative
You see everything negative 😠

Hence Evrytime set your mind on only 
positive things 🤗

☺ Good day to you ☺

©A J

Good Day #newday #a #Good #thinkpositive
#5LinePoetry

11 Love
3 Share

""

"हाथों की लकीरें यकीनन मिटने लगी..! लहू - ए - तहरीरें दफ़तन जलने लगी..!! ख्वाहिश के आईने पर धूल जमने लगी..! कागजों पर लहू की बूंदें भी सूखने लगी..!! जो चला हर दफा मेरे साथ साय की तरह..! इक दौर-ए-मोहब्बत की उम्र घटने लगी..!! बहुत गुमान था इन हाथों की लकीरों पर..! झोली फकीरों की है लकीरें कहने लगी..!! मेरी दहलीज पर रेखाएं सख्त खींची गई..! जबसे हिज़्र नफ़स बनकर साथ रहने लगी..!! दरख़्त से टूटकर महज़ पत्ता हाथ ना लगा..! बाज़ार-ए-जिस्म की आंधियाँ चलने लगी..!! खुद की तस्वीर का अक़्स नजर न आता..! चेहरा-ए-गमज़दा पर लकीरें उभरने लगी..!! ©Darshan Raj"

हाथों  की  लकीरें  यकीनन  मिटने लगी..!
लहू - ए - तहरीरें  दफ़तन  जलने  लगी..!!

ख्वाहिश के आईने पर  धूल जमने लगी..!
कागजों पर लहू की बूंदें भी सूखने लगी..!!

जो चला हर दफा मेरे साथ साय की तरह..!
इक  दौर-ए-मोहब्बत की उम्र घटने लगी..!!

बहुत गुमान था इन हाथों की लकीरों पर..!
झोली फकीरों की है लकीरें कहने  लगी..!!

मेरी दहलीज पर रेखाएं  सख्त खींची गई..!
जबसे हिज़्र नफ़स बनकर साथ रहने लगी..!!

दरख़्त से टूटकर महज़ पत्ता हाथ ना लगा..!
बाज़ार-ए-जिस्म की आंधियाँ चलने लगी..!!

खुद की तस्वीर  का अक़्स  नजर न आता..!
चेहरा-ए-गमज़दा पर लकीरें उभरने लगी..!!

©Darshan Raj

#a
#Curfew2021
#rekhta #gazal #ग़ज़ल #darshan #Nojoto #nazm #achanak #Instagram
@I.A.S dreamerneha 🌟 @indira @indu singh @Internet Jockey @Govind Pandram Tarani Nayak(disha Indian).

88 Love
1 Share

""

"बाते खत्म नही होती, और रात हो जाती है, इसी तरह काश, ये जिंदगी भी हो जाए। ©vaibhav trivedi"

बाते खत्म नही होती,
और रात हो जाती है,
इसी तरह काश,
ये जिंदगी भी हो जाए।

©vaibhav trivedi

#Love #Live #Jindagi #pyaar #a #ishaq #Dil #Baad #Bate

7 Love

""

"भूलना मुश्किल था तुझे पर तेरे लिए गम ने ये काम आसान कर दिया, तेरे लिए कुछ नहीं किया बस तुझे प्यार किया अपने दिए वादों पर अहंकार किया, क्या खूब वफा मिली मुझे मेरे सामने ही मेरी मोहब्बत ने मोहब्बत का ताज रकीब के नाम किया, दुःख का इल्ज़ाम हम पर डाला बेगुनाह उसको नाम दिया।। ©Mauryavanshi Veer"

भूलना मुश्किल था तुझे पर तेरे लिए गम ने ये काम आसान कर दिया,
तेरे लिए कुछ नहीं किया बस तुझे प्यार किया अपने दिए वादों पर अहंकार किया,
क्या खूब वफा मिली मुझे मेरे सामने ही मेरी मोहब्बत ने मोहब्बत का ताज रकीब के नाम किया,
दुःख का इल्ज़ाम हम पर डाला बेगुनाह उसको नाम दिया।।

©Mauryavanshi Veer

#a #Mauryavanshi

#dryleaf

12 Love

""

"माँ तेरा ही प्रेम पवित्र है, और गंगा का पानी..! बाकी तो सब नश्वर है, बस तेरी अमर कहानी..! हर युग - युग नें पहचानी, माँ तेरी प्रेम निशानी..! थोड़ी चंचल थोड़ी सयानी, थोड़ी सी माँ नादानी..! हर घर - घर में नई कहानी, हर घर में खींचातानी..! चलो आओ तुम्हें सुनाता हूं, माँ की अमर कहानी..! द्वापर युग की बात है, श्री कृष्ण की गाथा पुरानी..! जन्म दियो माँ देवकी, पूत बुलावत यशोदा रानी..! ह्रदय पत्थर धर लियो, जननी कुन्ती महारानी..! लोक - लाज़ में त्याग दियो, सूर्य पुत्र वरदानी..! युग - युग में ऐसा वीर नहीं, कर्ण जैसा महादानी..! जन - जन ने नाम रख दियो, राधे पुत्र कर्ण ज्ञानी..! माँ की महिमा अपार है, हर जन को बात बतानी..! सेवा भाव समर्पण रखो, ना बनो वीर अभिमानी..! ब्रह्मा विष्णु महेश भी पूजे, पूजे पंचतत्व हर ज्ञानी..! माँ की ममता का मोल नहीं, जग को बात समझनी..! ©Darshan Raj"

माँ  तेरा  ही प्रेम  पवित्र है, और  गंगा  का  पानी..!
बाकी  तो सब  नश्वर है, बस  तेरी अमर  कहानी..!

हर युग - युग  नें पहचानी, माँ  तेरी प्रेम  निशानी..!
थोड़ी चंचल थोड़ी  सयानी, थोड़ी सी माँ नादानी..!

हर घर - घर में  नई कहानी, हर घर में खींचातानी..!
चलो आओ तुम्हें सुनाता हूं, माँ की  अमर कहानी..!

द्वापर युग की बात है, श्री कृष्ण की  गाथा पुरानी..!
जन्म दियो  माँ देवकी, पूत बुलावत  यशोदा रानी..!

ह्रदय  पत्थर  धर  लियो, जननी  कुन्ती महारानी..!
लोक - लाज़  में  त्याग  दियो, सूर्य  पुत्र  वरदानी..!

युग - युग में ऐसा वीर नहीं, कर्ण  जैसा महादानी..!
जन - जन ने नाम रख दियो, राधे पुत्र कर्ण ज्ञानी..!

माँ की  महिमा  अपार है, हर जन को बात बतानी..!
सेवा भाव  समर्पण रखो, ना बनो  वीर अभिमानी..!

ब्रह्मा विष्णु महेश भी पूजे, पूजे  पंचतत्व हर ज्ञानी..!
माँ की ममता का मोल नहीं, जग को बात समझनी..!

©Darshan Raj

#a
#MothersDay2021
#pyaarimaa #maa #माँ #HappyMothersDay #Nojoto #nojotonews #rekhta #darshan
@haquikat @indu singh @Antima Jain @Amita Tiwari @Manak desai @Govind Pandram

75 Love
1 Share