tags

Best hindipoetry Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best hindipoetry Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 1964 Followers
  • 11879 Stories
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"शोर और ख़ामोशी चलो खामोशियों में ज़रा शोर कर के देखें लबालब भरीं हैंआंखें यूंही गौर करके देखें ना दिखाई दिये,ना सुनाई दिये,लफ़्ज अभी अब उंगलियों से इशारें उस ओर कर के देखें अंधेरे से घिरा लगता है सबकुछ चारो ओर से बुलाकर आफताब कुछ तो भोर कर के देखें दूर के किनारों से मिलना आसान सा तो है इन लहरो के विरुद्ध यूंही जोर कर के देखें आमिल"

शोर और ख़ामोशी चलो खामोशियों में ज़रा शोर कर के देखें
 लबालब भरीं हैंआंखें यूंही गौर करके देखें 

ना दिखाई दिये,ना सुनाई दिये,लफ़्ज अभी
अब उंगलियों से इशारें उस ओर कर के देखें 

अंधेरे से घिरा लगता है सबकुछ चारो ओर से
बुलाकर आफताब कुछ तो भोर कर के देखें 

दूर के किनारों से मिलना आसान सा तो है
इन लहरो के विरुद्ध यूंही जोर कर के देखें 

आमिल

kya bhool gaye mujhe
😂😂😋😋😛😛😝😝🤔🤔


Chalo khamoshiyo mai zra shoor kr ke dekhe
Labalabb bhari hain aankhe yuhi goor kr ke dekhe

Na dikhai diye ,na sunai diye ,lafz abhi

26 Love

"होंठ और तिल जिस तिल पर दिल आया वो क्या अब फीका हुआ जिन होंठों की उदासी की वज़ह जानने बेचैन रहते थे वो वज़ह खत्म हुयी या देखना छोड़ दिया"

होंठ और तिल जिस तिल पर दिल आया वो क्या अब फीका हुआ
जिन होंठों की उदासी की वज़ह जानने बेचैन रहते थे
वो वज़ह खत्म हुयी या देखना छोड़ दिया

न जाने क्या बात हुयी
जो मुझसे रूठे पिया

#honth #nojoto #writersofnojoto #Hindi #Hindiwriters #nojotihindi #story #Hindipoetry #Poetry #shayri

38 Love

"होंठ और तिल लाल मूँगिया होठों के आसन्न वलय अधरों से गिरता तिल काला सम्मोहित दीप्त मलय शशि में संतप्त अंधेरों सा कौतूहल व्याप्त विलय निराशक्त पूजा प्रहरी भी भाँपे महाप्रलय"

होंठ और तिल   लाल मूँगिया होठों के आसन्न वलय
अधरों से गिरता तिल काला 
 सम्मोहित दीप्त मलय
शशि में संतप्त अंधेरों सा
कौतूहल व्याप्त विलय
निराशक्त पूजा प्रहरी भी
भाँपे महाप्रलय

#Nozoto #Nozotohindi #Nozotonews #Hindi #Hindipoetry #Hindishayari #Hindisahitaya #shayri #Nozotopoetry

25 Love

"होंठ और तिल जाम लाया है वाइज नशा नहीं लाया जिस के चर्चे हैं चर्चों में वो नहीं आया बुतों को कब तक निगाहसार करूं लहू का रंग आया लहू नहीं आया डा सुनील सत्याग्रही"

होंठ और तिल  जाम लाया है वाइज
 नशा नहीं लाया
जिस के चर्चे हैं चर्चों में
वो नहीं आया
बुतों को कब तक 
निगाहसार करूं
लहू का रंग आया
 लहू नहीं आया
                        डा सुनील सत्याग्रही

#Nozoto #Nozotohindi #Nozotonews #Hindi #Hindipoetry #Hindishayari #Hindisahitaya #shayri #Nozotopoetry

23 Love

#nojoto #writersofnojoto #Hindi #Hindiwriters #nojotohindi #story #Poetry #Hindipoetry #poem #Poet #Hindipoet #writers

40 Love