tags

Best Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best ए Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 1865 Followers
  • 16710 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"कब तक छुपाओगे रुख़-ए-ज़ेबा नक़ाब में बर्क़-ए-जमाल रह नहीं सकता हिजाब में"

कब तक छुपाओगे रुख़-ए-ज़ेबा नक़ाब में
बर्क़-ए-जमाल रह नहीं सकता हिजाब में

#Nojoto

983 Love
17 Share

""

"अभी काँटों से बचाता हूँ मैं अपना दामन अभी ना-वाक़िफ़-ए-तहज़ीब-ए-गुलिस्ताँ हूँ मैं"

अभी काँटों से बचाता हूँ मैं अपना दामन
अभी ना-वाक़िफ़-ए-तहज़ीब-ए-गुलिस्ताँ हूँ मैं

 

547 Love

""

"#DearZindagi #DearZindagi लोग कहते हैं जिंदगी का सफर बहुत लंबा हैं ,अभी तो बस शुरुआत हैं मंजिल तो अभी बाकी हैं जिंदगी अभी बाकी हैं समझ नहीं आता रास्ते ऐसे भूलभुलैया वाले क्यों हैं? जब चलते हैं हम तो रेल की पटरियों की तरह ट्रैक बदल जाते हैं चलते-चलते थक बहुत जाते हैं, रुक के भी चूक सब जाते हैं समझते हुये जिंदगी के अनुभव सम्भल बहुत जाते हैं पर अफ़सोस की किताबें भरते चले जाते हैं ए जिंदगी!कुछ मिलता हैं कुछ छूट कहीं जाता हैं हँसते हैं कभी,कभी रो बहुत जाते हैं खुद की परछाई से कभी-कभी डर बहुत जाते हैं सूरज की किरण के सहारे कभी निखरते भी हैं फिर भी अँधेरे में चलता जाये कोई साथी ही उम्रभर का सच्चा हमराही साबित हो जाता हैं ए जिंदगी!!समुन्द्र तो वाकिफ हैं अपनी गेहराई से पूरी तरह बस हमें उसमे उतरना बाकी हैं, उसमे अपनी नाव चलाना बाकी हैं हैं तनाव के झूले इसमें कभी तूफान भी आता जरूर हैं अगर कभी मन करे उसका तो शांत के झकोले भी देता जरूर हैं फिर भी ए जिंदगी!!ये तय हमे ही करना हैं हमारी मंजिल की राह ले जानी कहाँ है? रुक जाना हैं वहीं या डूब जाना हैं कहीं या भीड़ जाना हैं दरिया में कहीं अब तय यही करना हैं हमें किनारे तक जाना हैं? ए जिंदगी!!तू बहुत कुछ सिखाती हैं"

#DearZindagi #DearZindagi लोग कहते हैं जिंदगी का सफर बहुत लंबा हैं ,अभी तो बस शुरुआत हैं
मंजिल तो अभी बाकी हैं जिंदगी अभी बाकी हैं
समझ नहीं आता रास्ते ऐसे भूलभुलैया वाले क्यों हैं?
जब चलते हैं हम तो रेल की पटरियों की तरह ट्रैक बदल जाते हैं
चलते-चलते थक बहुत जाते हैं, रुक के भी चूक सब जाते हैं
समझते हुये जिंदगी के अनुभव सम्भल बहुत जाते हैं
पर अफ़सोस की किताबें भरते चले जाते हैं
ए जिंदगी!कुछ मिलता हैं कुछ छूट कहीं जाता हैं
हँसते हैं कभी,कभी रो बहुत जाते हैं
खुद की परछाई से कभी-कभी डर बहुत जाते हैं
सूरज की किरण के सहारे कभी निखरते भी हैं
फिर भी अँधेरे में चलता जाये कोई साथी ही
उम्रभर का सच्चा हमराही साबित हो जाता हैं
ए जिंदगी!!समुन्द्र तो वाकिफ हैं अपनी गेहराई से पूरी तरह
बस हमें उसमे उतरना बाकी हैं, उसमे अपनी नाव चलाना बाकी हैं
हैं तनाव के झूले इसमें कभी तूफान भी आता जरूर हैं
अगर कभी मन करे उसका तो शांत के झकोले भी देता जरूर हैं
फिर भी ए जिंदगी!!ये तय हमे ही करना हैं हमारी मंजिल की राह ले जानी कहाँ है?
रुक जाना हैं वहीं या डूब जाना हैं कहीं या भीड़ जाना हैं दरिया में कहीं
अब तय यही करना हैं हमें किनारे तक जाना हैं?
ए जिंदगी!!तू बहुत कुछ सिखाती हैं

#DearZindagi जिंदगी बहुत कुछ सिखाती हैं😊😊👍

521 Love
2 Share

""

"उम्र भर छानी है इन हाथों से ख़ाक-ए-मय-कदा हाथ अब आए हैं कुछ आदाब-ए-मय-ख़ाना हमें"

उम्र भर छानी है इन हाथों से ख़ाक-ए-मय-कदा
हाथ अब आए हैं कुछ आदाब-ए-मय-ख़ाना हमें

 

411 Love
1 Share

कोई बिजली इन ख़राबों में घटा रौशन करे;
ऐ अँधेरी बस्तियो! तुमको खुदा रौशन करे;

नन्हें होंठों पर खिलें मासूम लफ़्ज़ों के गुलाब;
और माथे पर कोई हर्फ़-ए-दुआ रौशन करे;

ज़र्द चेहरों पर भी चमके सुर्ख जज़्बों की धनक;
साँवले हाथों को भी रंग-ए-हिना रौशन करे;

294 Love
2 Share