tags

Best चाँद Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

8718 Stories- Find the Best चाँद Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 1373 Followers
  • 8718 Stories
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"तुझे अपना चाँद समझ के चल रही हूँ तूम डूब ना जाना ग़र देर हो जाय मुझे आदत नही,नई हूँ मै इस राह पर पग पग पर कॉटे और लगती है ठोकर तूम रुक जाना, कुछ इंतेजार भी कर सफर में वो चाँद साथ तो है मगर इक जगह थमसा, कैसे कहूँ हम सफर गर्दीश में वीराना लगे, पर सफ़र है तो अपना अपना प्यार भी कभीतगता है इक सपना "

तुझे अपना चाँद समझ के चल रही हूँ
तूम डूब ना जाना ग़र देर हो जाय मुझे
आदत नही,नई हूँ मै  इस राह पर
पग पग पर कॉटे और लगती है ठोकर
तूम रुक जाना, कुछ इंतेजार भी कर 
सफर में वो चाँद साथ तो है मगर
इक जगह थमसा, कैसे कहूँ हम सफर
गर्दीश में वीराना लगे, पर सफ़र है तो अपना
अपना प्यार भी कभीतगता है इक सपना

प्यार की राहपर...

29 Love

"घूंघट में चाँद बादलों☁की घूंघट में चाँद🌒था उस दिन, तीज 😍का त्योहार था उस दिन, नहीं दिख रहा था चाँद 🌒उस दिन, तरसा 🙇‍♀रहा था अपने दीदार को चाँद🌒 उस दिन, मेरा चाँद 🙍‍♂भी नहीं आया मेरी गली 🏞उस दिन, उसे भी सजी सवरी 👸देखना था मुझे उस दिन, सादगी 🙍‍♀तो मेरी रोज ही देखता था ये रूप 👸भी देखना था उसे उस दिन, अपने मन🙇‍♂ की बात नहीं बताई मुझे उस दिन, और नहीं समझ पाया मेरे दिल का हाल 🤦‍♀वो उस दिन, मैं कितने बेकरार थी अपने🙍‍♂चाँद🌒 के दीदार के लिए उस दिन, {मैंने पूछा रोज की तरह जल्दी क्यों नहीं उगता 😌चांद इस दिन, मुझे कहा उसने चाँद 😚तो कब का उग गया है, मैंने पूछा कहां? उसने कहा आईना 🤳देखलो और कर लो दीदार चाँद का🙈} सब कुछ खास😍था हमारे लिए उस दिन, हम दोनों जो साथ👫 थे उस दिन, बादलों☁की घुंघट में चाँद🌒था उस दिन, फिर कुछ ही पलों में हो गया दीदार घूंघट 🌝में चाँद का उस दिन, बादलों की घूंघट से बेपर्दा🌕हुआ फिर चाँद उस दिन..."

घूंघट में चाँद बादलों☁की घूंघट में चाँद🌒था उस दिन,
तीज  😍का त्योहार था उस दिन,
नहीं दिख रहा था चाँद 🌒उस दिन,
तरसा 🙇‍♀रहा था अपने दीदार को चाँद🌒 उस दिन,
मेरा चाँद 🙍‍♂भी नहीं आया मेरी गली 🏞उस दिन,
उसे भी सजी सवरी 👸देखना था मुझे उस दिन,
 सादगी 🙍‍♀तो मेरी रोज ही देखता था ये रूप 👸भी देखना था उसे उस दिन,
अपने मन🙇‍♂ की बात नहीं बताई मुझे उस दिन,
और नहीं समझ पाया मेरे दिल का हाल 🤦‍♀वो उस दिन,
मैं कितने बेकरार थी अपने🙍‍♂चाँद🌒 के दीदार के लिए उस दिन,
{मैंने पूछा रोज की तरह जल्दी क्यों नहीं उगता 😌चांद इस दिन,
मुझे कहा उसने चाँद 😚तो कब का उग गया है,
मैंने पूछा कहां?
उसने कहा आईना 🤳देखलो और कर लो दीदार चाँद का🙈}
सब कुछ खास😍था हमारे लिए उस दिन,
हम दोनों जो साथ👫 थे उस दिन,
बादलों☁की घुंघट में चाँद🌒था उस दिन,
फिर कुछ ही पलों में हो गया दीदार घूंघट 🌝में चाँद का उस दिन,
बादलों की घूंघट से बेपर्दा🌕हुआ फिर चाँद उस दिन...

#Ghoonghat#pod#Nojoto#nojotohindi #nojotoapp
बादलों ☁की घूंघट में चाँद🌒था उस दिन,
तीज 😍का त्योहार था उस दिन,
नहीं दिख रहा था चाँद 🌒उस दिन,
तरसा 🙇‍♀रहा था अपने दीदार को चाँद🌒 उस दिन,
मेरा चाँद 🙍‍♂भी नहीं आया मेरी गली 🏞उस दिन,
उसे भी सजी सवरी 👸देखना था मुझे उस दिन,
सादगी 🙍‍♀तो मेरी रोज ही देखता था ये रूप 👸भी देखना था उसे उस दिन,
अपने मन🙇‍♂ की बात नहीं बताई मुझे उस दिन,
और नहीं समझ पाया मेरे दिल का हाल 🤦‍♀वो उस दिन,
मैं कितने बेकरार थी अपने 🙍‍♂चाँद🌒 के दीदार के लिए उस दिन,
{मैंने पूछा रोज की तरह जल्दी क्यों नहीं उगता 😌चांद इस दिन,
मुझे कहा उसने चाँद 😚तो कब का उग गया है,
मैंने पूछा कहां
उसने कहा आईना 🤳देखलो और कर लो दीदार चांद का🙈}
सब कुछ खास😍 था हमारे लिए उस दिन,
हम दोनों जो साथ👫 थे उस दिन,
बादलों☁ की घुंघट में चांद🌒था उस दिन,
फिर कुछ ही पलों में हो गया दीदार घूंघट 🌝में चाँद का उस दिन,
बादलों की घूंघट से बेपर्दा🌕 हुआ फिर चाँद उस दिन...

39 Love

"घूंघट में चाँद देख के ऐसे कुकृत्यों को चाँद बेचारा रोया है निर्मम पापी राक्षसो ने अब बच्चियों को तक ना छोड़ा है रे भेड़िये ये हवसी तू हवस में अँधा है आज कल तो बच्चों की किडनी बेचने का भी धंधा है देख के इतना जुल्म जमी पे कैसे में मुख दिखलाऊँ जब भी जमी पे आऊं तो घुघट हमेशा संग लाउ ✍️विवेक दाधीच✍️"

घूंघट में चाँद देख के ऐसे कुकृत्यों को 
चाँद बेचारा रोया है 
निर्मम पापी राक्षसो ने अब बच्चियों को तक ना छोड़ा है
रे भेड़िये ये हवसी तू हवस में अँधा है
आज कल तो बच्चों की किडनी बेचने का भी धंधा है
देख के इतना जुल्म जमी पे
कैसे में मुख दिखलाऊँ
जब भी जमी पे आऊं तो घुघट हमेशा 
संग लाउ
✍️विवेक दाधीच✍️

#Ghoonghat

12 Love

"घूंघट में चाँद घूंघट मे चाँद छुपा है इस तरह.. मेरा साजन मुझसे छुपा है जिस तरह.. ना जाने कब उसका दीदार होगा.. अब मे तड़प रही हु उसके लिए इस तरह... पानी को प्यासा तड़पे जिस तरह... ~Halima usmani"

घूंघट में चाँद घूंघट मे चाँद छुपा है इस तरह.. 
मेरा साजन मुझसे छुपा है जिस तरह.. 
ना जाने कब उसका दीदार होगा.. 
अब मे तड़प रही हु उसके लिए इस तरह... 
पानी को प्यासा तड़पे जिस तरह... 
~Halima usmani

#Ghoonghat #pod #CTL #nojotohindi #nojotoapp #nojotopoetry #nojoto #Love #vichar #mohobbat #kahani #kavita #feelings @sonam mishra (Youtuber) @Ankit Sarswat @RajD @Nawab Imran @aamil Qureshi @Manmohan Yadav

68 Love

"घूंघट में चाँद घूंघट में चाँद और बेकरारी दीदार की। बेदाग सा नूर, होगी मासूम सूरत मेरे यार की।। ख्याल है ख्वाब है ख्वाहिश भी है। पर न जाने क्या सिला होगा, इस इंतजार की।।"

घूंघट में चाँद घूंघट में चाँद और बेकरारी दीदार की।
बेदाग सा नूर, होगी मासूम सूरत मेरे यार की।।
ख्याल है ख्वाब है ख्वाहिश भी है।
पर न जाने क्या सिला होगा, इस इंतजार की।।

#ghunghatmechand
#nojotohindi

18 Love