tags

Best कोहरा Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best कोहरा Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 63 Followers
  • 116 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"अभी तेरी यादों का, कोहरा है नजर के सामने.. जरा सी धूप खिले, तो कोई और दिखाई दे... ©drVats #NojotoQuote"

अभी तेरी यादों का, 
कोहरा है नजर के सामने.. 
जरा सी  धूप खिले,
तो कोई और दिखाई दे...
                          ©drVats #NojotoQuote

Kohra..
#kohra #dhundh #Yaad #Memories #Nojoto #Nojotohindi #Shayari #Poetry #Love #Pyar #2liner #प्यार #यादें #धूप #कोहरा #धुंध #Fun #MyThoughts #Quotes #Thoughts #writer #drvats #Astitva

851 Love
26 Share

""

"ज़िंदगी दिसंबर सी कुछ लोगों की 'ज़िंदगी दिसम्बर सी' है। कभी अचानक सर्दियो में धूप की तरह खुशियां ज़िन्दगी में दस्तक देती है। तो कभी आसमान में बादल आ जाने की तरह गम के सागर में जा डूबती है। दिसंबर में कोहरे की वजह से कुछ दिखाई नही देता। ज़िन्दगी भी मुश्किलो के जाल में यूँ फंस जाती है। जैसे उन मुश्किलो का हल दिखाई नही देता वक़्त बेवक्त बदलता रहता है मौसम का दायरा। जैसे लगा हो ज़िन्दगी पर किसी अनहोनी का पहरा। मगर देखते ही देखते दिसंबर का महीना गुज़रने के बाद एक एक नए साल की शुरुआत नई खुशियो और उम्मीदो से होती है। ज़िन्दगी में भी दुःख का चक्रव्युह समाप्त हो कर खुशियो कीसुबह एक न एक दिन जरूर होती है।।।"

ज़िंदगी दिसंबर सी कुछ लोगों की 'ज़िंदगी दिसम्बर सी' है।
कभी अचानक सर्दियो में धूप की
तरह खुशियां ज़िन्दगी में दस्तक देती है।
तो  कभी आसमान में बादल आ जाने की
तरह गम के सागर में जा डूबती है।
दिसंबर में कोहरे की वजह से कुछ दिखाई नही देता।
ज़िन्दगी भी मुश्किलो के जाल में यूँ फंस जाती है।
जैसे उन मुश्किलो का हल दिखाई नही देता
वक़्त बेवक्त बदलता रहता है मौसम का दायरा।
जैसे लगा हो ज़िन्दगी पर किसी अनहोनी का पहरा।
मगर देखते ही देखते दिसंबर का महीना गुज़रने के बाद एक 
एक नए साल की शुरुआत नई खुशियो और उम्मीदो से होती है।
ज़िन्दगी में भी दुःख का चक्रव्युह समाप्त हो कर खुशियो कीसुबह
एक न एक दिन जरूर होती है।।।

#december #nojotoquotes #nojotopoem #nojotoclub #sushmathakur #nojotolife #देसम्बरसी #राहे #कोहरा #बादल

210 Love

""

"कोहरा है गम का घना कोहरा मेरे जीवन में छाया यूँ, है चारों दिशाए धुंधली-सी, पसरा है धुआँ सा क्यों? चल पड़ी हूँ शिशे-से ख़्वाब लेकर मैं अंधेरों में। कुछ भी न दिखे अब तो रौशनी मौन-सी हैं क्यों? चलूँ एक भी कदम जब भी तो भय से कांप उठती हूँ। अभी तो दूर है मंज़िल और डगर भी हैं ख़फा मुझसे।"

कोहरा      है गम का घना कोहरा मेरे जीवन में छाया यूँ,
है चारों दिशाए धुंधली-सी, पसरा है धुआँ सा क्यों?

चल पड़ी हूँ शिशे-से ख़्वाब लेकर मैं अंधेरों में।
कुछ भी न दिखे अब तो रौशनी मौन-सी हैं क्यों?

चलूँ एक भी कदम जब भी तो भय से कांप उठती हूँ।
अभी तो दूर है मंज़िल और डगर भी हैं ख़फा मुझसे।

#कोहरा

100 Love

""

"कोहरा कोहरे वाली शर्द मौसमों में तेरा संग है कांटों पे खिली गुलाब हो जैसे तुम तो आए हो मेरी जिंदगी में , पतझड़ के बाद बरसात हो जैसे कर न जाना तुम दगा बरसात में आई सैलाब हो जैसे..."

कोहरा कोहरे वाली शर्द मौसमों में तेरा संग है 
कांटों पे खिली गुलाब हो जैसे
तुम तो आए हो मेरी जिंदगी में ,
पतझड़ के बाद बरसात हो जैसे
कर न जाना तुम दगा 
बरसात में आई सैलाब हो जैसे...

#कोहरा

92 Love
1 Share

""

"कोहरा जहां तक नजर जाए बस धुआं ही धुआं और धुएं में ढकी हुई धरती पर.... जरा-सी दूर की चीज भी नजर नहीं आती साफ-साफ हर तरफ बस छाया हुआ है देखो "कोहरा' घना है,,//"

कोहरा जहां तक नजर जाए बस धुआं ही धुआं
और धुएं में ढकी हुई धरती पर....
जरा-सी दूर की चीज भी
नजर नहीं आती साफ-साफ
हर तरफ बस छाया हुआ है देखो "कोहरा' घना है,,//

#कोहरा

86 Love