tags

Best poemhindi Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best poemhindi Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 11 Followers
  • 11 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"" कभी वख्त मिले ना.... " कभी वख्त मिले ना..... कभी वख्त मिले ना,तो उस शक्श के बारे में भी सोच लेना... गुस्सा आए तो बेशक किसी खिलौने को वो शक्श समझ कर नाखूनों से नोच देना.... फिर भी गुस्सा शांत न हो तो उठा फेकना खिलौने में समाए उस शक्श को, या फिर जला देना उसके प्यार के हर अक्स को.... कभी वख्त मिले ना, तो अपनी ये आखें मूंद लेना....... जाने अनजाने में ही सही , कभी एक दफा उस शक्श के ख्वाब ढूंढ लेना...... दुनिया भर की ख़ुशी मिलती थी जिसके पास तुझे, अब वही शक्श तुझे सबसे बुरा लगता होगा कभी वख्त मिले ना तो ये ही सोच लेना...... तेरे साथ रहने में जो सुरीले गाने सा लगता था तुझे, तेरे चले जाने के बाद कैसे बेसुरे सा लगता होगा, कभी वख्त मिले ना तो ये सोच लेना ...... एक वख्त था, जब उसका गुस्सा भी तुझे प्यार बेशुमार सा लगता होगा, एक वख्त अब है जब उसका प्यार भी बिलकुल बेकार सा लगता होगा ..... रखता था ज़रा जकड कर तुझे, ताकि झूठ और फरेब की कश्मकश में तू कहीं खो ना जाए, थोड़ी बंदिशें इस लिए थी लगाई उसने, ताकि इस ज़ालिम दुनिया में तुझे कहीं कुछ हो न जाए , कभी वख्त मिले तो ये सोच लेना........ रहता था पास तुम्हारे जब वो, चेहरे पर नूर तो तुम्हारे भी हुआ करता होगा ये सोच लेना, साथ रहोगे तुम दोनों हर्फ़ -दर-हर्फ़, इस बात का गुरूर तो ज़रा उससे भी हुआ करता होगा ये सोच लेना..... माना कुछ बुराइयां थी उसमें पर... उतना भी बुरा नहीं था जैसा तुझे दिखलाया गया , गलती उसकी है ये सही है, पर गलती उन तरीकों और लोगों की भी तो थी,ये सोच लेना... तुम्हारे अज़ीज़ नए दोस्तों की मेहरबानी , जिन तरीकों से तुझे उसके खिलाफ भड़काया गया, कभी वख्त मिले तो ये सोच लेना.... उतना बुरा भी नहीं था वो, कभी वख्त मिले तो ये सोच लेना....."

"  कभी वख्त मिले ना.... " 
             
 कभी वख्त मिले ना.....
कभी वख्त मिले ना,तो उस शक्श के बारे में भी सोच लेना...
 गुस्सा आए तो बेशक किसी खिलौने को वो शक्श समझ कर नाखूनों से नोच देना....
फिर भी गुस्सा शांत न हो तो उठा फेकना खिलौने में समाए उस शक्श को,
 या फिर जला देना उसके प्यार के हर अक्स को....

कभी वख्त मिले ना,
तो अपनी ये आखें मूंद लेना.......
जाने अनजाने में ही सही ,
कभी एक दफा उस शक्श के ख्वाब ढूंढ लेना......

दुनिया भर की ख़ुशी मिलती थी जिसके पास तुझे,
अब वही शक्श तुझे सबसे बुरा लगता होगा
कभी वख्त मिले ना तो ये ही सोच लेना......
तेरे साथ रहने में जो सुरीले गाने सा लगता था तुझे,
तेरे चले जाने के बाद कैसे बेसुरे सा लगता होगा,
कभी वख्त मिले ना तो  ये सोच लेना ......

 एक वख्त  था, जब उसका गुस्सा भी तुझे प्यार बेशुमार सा लगता होगा,
एक वख्त  अब है जब उसका प्यार भी बिलकुल बेकार सा लगता होगा .....
रखता था ज़रा जकड कर तुझे, ताकि झूठ और फरेब की कश्मकश में तू कहीं खो ना जाए,
थोड़ी बंदिशें इस लिए थी लगाई उसने,
 ताकि इस ज़ालिम दुनिया में तुझे कहीं कुछ हो न जाए ,
कभी वख्त मिले तो ये सोच लेना........

 रहता था पास तुम्हारे जब वो,
चेहरे पर नूर तो तुम्हारे भी हुआ करता होगा ये सोच लेना,
साथ रहोगे तुम दोनों हर्फ़ -दर-हर्फ़,
इस बात का गुरूर तो ज़रा उससे भी हुआ करता होगा ये सोच लेना.....

 माना  कुछ बुराइयां थी उसमें पर...
उतना भी बुरा नहीं था जैसा तुझे दिखलाया गया ,
 गलती उसकी है ये सही है, पर गलती उन तरीकों और लोगों की भी तो थी,ये सोच लेना...
तुम्हारे अज़ीज़ नए दोस्तों की मेहरबानी ,
 जिन तरीकों से तुझे उसके खिलाफ भड़काया गया,
कभी वख्त मिले तो ये सोच लेना....

 उतना बुरा भी नहीं था वो,
 कभी वख्त मिले तो ये सोच लेना.....

"कभी वख्त मिले ना........"


#latest#poemhindi#loveover#HeartBreak#Popular#nojotohindi#hindiwriters#nojoto#if_time_permits#loveends

158 Love
1 Share

हम तुझे तब याद आएंगे......

#latest#Popular#story_like_poem#poemhindi#nojoto#nojotohindi#Shayari#kahani#kavita#HindiPoem

143 Love
4 Share

""

"नयी शुरुवात   किसी दिन साथ चलते हैं ..शायद कुछ बात हो जाये  पुरानी दास्ताँ जो थी .. शायद उसकी नयी शुरूवात हो जाए  मोहब्बत की पुरानी परछाइयाँ ..शायद नए अक्स में नजर आये  तेरी आँखों की ये पलके ...शायद नम हो पाएं  काश इश्क की अपनी .... नयी पहचान बन पाए  तेरी बातों से मेरी धड़कने और साँसे रुक जाए ... काश ये मेरा दिल.....फिर गुश्ताख हो जाए  ...फिर गुश्ताख हो जाए .. मोहब्बत की हमारी फिर ... नयी शुरुवात हो जाए "

नयी शुरुवात

  किसी दिन साथ चलते हैं ..शायद कुछ बात हो जाये 
पुरानी दास्ताँ जो थी .. शायद उसकी नयी शुरूवात हो जाए 
मोहब्बत की पुरानी परछाइयाँ ..शायद नए अक्स में नजर आये 
तेरी आँखों की ये पलके ...शायद नम हो पाएं 
काश इश्क की अपनी .... नयी पहचान बन पाए 
तेरी बातों से मेरी धड़कने और साँसे रुक जाए ...
काश ये मेरा दिल.....फिर गुश्ताख हो जाए 
...फिर गुश्ताख हो जाए ..
मोहब्बत की हमारी फिर ... नयी शुरुवात हो जाए 

नयी शुरुवात


  किसी दिन साथ चलते हैं ..शायद कुछ बात हो जाये 

पुरानी दास्ताँ जो थी .. शायद उसकी नयी शुरूवात हो जाए 

मोहब्बत की पुरानी परछाइयाँ ..शायद नए अक्स में नजर आये 

21 Love

""

"कुछ रंग पुराने ख़ोज के, होली दोबारा मना लेते हैं, कुछ मीठा बना के जिंदगी, रोज़ दीवाली मना लेते हैं, समय की गुल्लक में, हंसी कहकहे बचा लेते हैं, कुछ खुश हो जाये मुश्किलें भी, उन्हें भी बुला  लेतें हैं, किस्मत नचवाये तो क्या? #ज़िद्दी हूँ कुछ, इसे भी अपनी ताल पे नचवा लेते हैं, डोर है रब के हाथ में, बेफ़िक्री की पतंग उड़ा लेते हैं, लफ़्ज़ों के गुलदस्ते में, कई बदरंग पत्ते छुपा लेते हैं ------ #jd"

कुछ रंग पुराने ख़ोज के,
होली दोबारा मना लेते हैं,
कुछ मीठा बना के जिंदगी,
रोज़ दीवाली मना लेते हैं,
समय की गुल्लक में,
हंसी कहकहे बचा लेते हैं,
कुछ खुश हो जाये मुश्किलें भी,
उन्हें भी बुला  लेतें हैं,
किस्मत नचवाये तो क्या?
#ज़िद्दी हूँ कुछ,
इसे भी अपनी ताल पे नचवा लेते हैं,
डोर है रब के हाथ में,
बेफ़िक्री की पतंग उड़ा लेते हैं,
लफ़्ज़ों के गुलदस्ते में,
कई बदरंग पत्ते छुपा लेते हैं ------ #jd

कुछ रंग पुराने ख़ोज के,
होली दोबारा मना लेते हैं,
कुछ मीठा बना के जिंदगी,
रोज़ दीवाली मना लेते हैं,
समय की गुल्लक में,
हंसी कहकहे बचा लेते हैं,
कुछ खुश हो जाये मुश्किलें भी,
उन्हें भी बुला  लेतें हैं,

18 Love

""

"Kahaani kabhi khamoshi se bayaan nahi hoti Magar Nazron ki berukhi jab pesh hoti hai khamoshi bhi shor macha jaati hai!"

Kahaani kabhi khamoshi se bayaan nahi hoti
Magar Nazron ki berukhi jab pesh hoti hai khamoshi bhi shor macha jaati hai!

#Hindipoetry #Hindi#poemhindi #Shayari

12 Love
1 Share