tags

Best अख़बार Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best अख़बार Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 47 Followers
  • 151 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"ये दिल भी तुम्हारा है, प्यार भी तुम्हारा है, तुम झूठ को सच लिख दो, ये अखबार भी तुम्हारा है..!! -- 🎯As_writes"

ये दिल भी तुम्हारा है,
 प्यार भी तुम्हारा है, 
तुम झूठ को 
सच लिख दो, 
ये अखबार भी 
तुम्हारा है..!!
 -- 
🎯As_writes

✍️✍️✍️#Nojoto #Love #Shayari #poem #शायरी #कविता #nojotohindi #nojotonews #दिल #प्यार #अख़बार #शहर #तुम्हारा @Iraj Tanveer @🇦 🇳 🇰 🇮 🇹 🇮🇳 🇲OTIVATIO🇳0️⃣6️⃣ @Mahima Yadav @Khushi 😄 Ishu Priya ÄŘTIFIÇEŘ

134 Love
2 Share

""

"अख़बार Akhbaar hume sirf khabar nahi.....humare apno ko jhoode bhi rakhta tha....phones ke aane se sab alag ho gae"

अख़बार Akhbaar hume sirf khabar nahi.....humare
apno ko jhoode bhi rakhta tha....phones ke aane se sab alag ho gae

#अख़बार

127 Love

""

"अख़बार Akhbar roz padhti hai woh....meri kamyaabi ki khabar padhne ke liye"

अख़बार Akhbar roz padhti hai woh....meri kamyaabi ki khabar padhne ke liye

#अख़बार

110 Love

""

"ताज़ा ग़ज़ल ज़रूरी है महफ़िल के वास्ते, सुनता नहीं है कोई दोबारा सुनी हुई... - मुनव्वर राना #NojotoQuote"

ताज़ा ग़ज़ल ज़रूरी है
महफ़िल के वास्ते,
सुनता नहीं है कोई दोबारा सुनी हुई...

- मुनव्वर राना #NojotoQuote

ताज़ा ग़ज़ल ज़रूरी है महफ़िल के वास्ते , सुनता नहीं है कोई दोबारा सुनी हुई ...
.
मुनव्वर राना की ये ग़ज़ल बेशक़ शायरी पसन्द लोगों को ज़ुबानी याद हो...नाम है - दोहरा रहा हूँ बात पुरानी कही हुई...
.
.
.
ये ऊपर का जो शेर है जिससे मैंने इस ब्लॉग की शुरुआत की है काफ़ी संज़ीदगी है इसमें अगर गौर फ़रमाया जाए...ज़िन्दगी से जुड़ी एक बहुत बड़ी सच्चाई समाई है इसमें...लोगों को हर वक़्त कुछ नया चाहिए होता है, वो आपकी परिस्थिति का मतलब न समझते हुए बस उसके मज़े लेते नज़र आते हैं, देर होती है बस किसी के नए किस्से या किसी की

41 Love
1 Share

""

"ताज़ा ग़ज़ल ज़रूरी है महफ़िल के वास्ते, सुनता नहीं है कोई दोबारा सुनी हुई... - मुनव्वर राना #NojotoQuote"

ताज़ा ग़ज़ल ज़रूरी है महफ़िल के वास्ते,
सुनता नहीं है कोई दोबारा सुनी हुई...

- मुनव्वर राना #NojotoQuote

ताज़ा ग़ज़ल ज़रूरी है महफ़िल के वास्ते , सुनता नहीं है कोई दोबारा सुनी हुई ...

मुनव्वर राना की ये ग़ज़ल बेशक़ शायरी पसन्द लोगों को ज़ुबानी याद हो...नाम है - दोहरा रहा हूँ बात पुरानी कही हुई...


ये ऊपर का जो शेर है जिससे मैंने इस ब्लॉग की शुरुआत की है काफ़ी संज़ीदगी है इसमें अगर गौर फ़रमाया जाए...ज़िन्दगी से जुड़ी एक बहुत बड़ी सच्चाई समाई है इसमें...लोगों को हर वक़्त कुछ नया चाहिए होता है, वो आपकी परिस्थिति का मतलब न समझते हुए बस उसके मज़े लेते नज़र आते हैं, देर होती है बस किसी के नए किस्से या किसी की ज़िन्द

39 Love
1 Share