Moment
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"जो इंसान खुदा के साथ भी वफादार ना रहा उससे वफा की उम्मीद ही बेवजह है Anshula Thakur 💕"

जो इंसान खुदा के साथ भी वफादार ना रहा 
उससे वफा की उम्मीद ही बेवजह है 
Anshula Thakur 💕

#truequotes #feelings #LatenightThoughts #nojotoquotesforall #nojotowritersclub #nojotohindi #Anshulathakur #Khuda #Wafa

308 Love

""

"तुम क्यों डरते हो मुझे खोने से कभी सुना है? बिन साँसों के ज़िन्दगी"

तुम क्यों डरते हो मुझे खोने से
कभी सुना है?
बिन साँसों के ज़िन्दगी

#nojotohindi #nojotolife #nojotoquotes #nojotoLove
#nojotolines #डरना #सांसे
#ज़िंदगी

226 Love

""

"समय सबका आता है, किसी का पहले तो किसी का बादमें आता है समय के चक्र की गति बहुत ही न्यारी है कल तक जो फकीर था ,आज का वो राजा है कल के बोये बीज कि ,आज लहराती फसल है समय से आगे कुछ ना होता है ना समय के पीछे समय का आवागमन तो केवल परिश्रम ही करवता है कोई और नही खुद का समय तो इंसान खुद ही लाता है समय समय की बात हैं ,सारी समय की बलिहारी है..।। मेरे शब्द✍️"

समय सबका आता है, किसी का पहले तो किसी का बादमें आता है
समय के चक्र की गति बहुत ही न्यारी है 
कल तक जो फकीर था ,आज का वो राजा है
कल के बोये बीज कि ,आज लहराती फसल है
समय से आगे कुछ ना होता है ना समय के पीछे
समय का आवागमन तो केवल परिश्रम ही करवता है
कोई और नही खुद का समय तो इंसान खुद ही लाता है
समय समय की बात हैं ,सारी समय की बलिहारी है..।।


मेरे शब्द✍️

#समय#nojotohindi#nojotoenglish#nojotopoetry#nojotoapp#QandA @My_Words✍✍ @aman6.1 @Mr. MANEESH @#Rahul @Shivam Tiwari @Saurav Tiwari

198 Love

""

"कोई औऱ ख़्वाहिश क्या रखूं इस ज़िंदगी से, ज़िंदगी से जो सीखा मैंने वो भी तो कम नहीं... दोनों का आख़िर में हिसाब चलो बराबर रहा, हमारे पास तुम नही औऱ तुम्हारे पास हम नहीं... ✍My_Words..."

कोई औऱ ख़्वाहिश क्या रखूं इस ज़िंदगी से,
ज़िंदगी से जो सीखा मैंने वो भी तो कम नहीं...

दोनों का आख़िर में हिसाब चलो बराबर रहा,
हमारे पास तुम नही औऱ तुम्हारे पास हम नहीं...


✍My_Words...

हिसाब बराबर रहा चलो ...💔 #Life #Motivation #QandA #Love #nojotohindi #nojotonews #feelings #Emotions #Relationships
@aman6.1 @Shikha Sharma @Suman Zaniyan @sheetal pandya मेरे शब्द @Mr. MANEESH @HOLOCAUST

193 Love

""

"भूल चुकी हो मुझको या अब भी मुझे याद कर देर से सोती हो सर्द मौसम है, बारिश भी नहीं होती क्या तुम अब भी रोती हो"

भूल चुकी हो मुझको 
या अब भी मुझे याद कर देर से सोती हो
सर्द मौसम है, बारिश भी नहीं होती 
क्या तुम अब भी रोती हो

सर्द मौसम है

181 Love
1 Share