रेलगाड़ियां नहीं होती सिर्फ एक साधन 
जो लोगों को ढ
  • Latest
  • Video

"रेलगाड़ियां नहीं होती सिर्फ एक साधन जो लोगों को ढोने का काम करती हैं , बल्कि ध्यान से देखे तो पता चलता है कि वे भावनाएं भी लिए होती है अपने अंदर। उसमे बैठ कर आ रहा होता है एक फौजी जिसके इंतेज़ार में एक नवेली दुल्हन घर पर रो रही होती है। उसमे बैठकर आ रहा होता है एक मजबूर पिता जिसका पूरा परिवार सुख की रोटी खाने का उम्मीद लगाए हुए है। उसमे बैठा होता है एक मां का लाल , जिसकी माता इस इंतजार में रहती है की बेटे के आने पे उसके गिरवी गहने लाला वापस करेगा। उसमे बैठकर जा रहा है एक मासूम बच्चा पैसे कमाने , जिसे पैसे का भाव भी नहीं मालूम क्यूंकि उसकी बड़ी बहन अभी तक पैसे की वजह से कुंवारी बैठी है।"

रेलगाड़ियां नहीं होती सिर्फ एक साधन 
जो लोगों को ढोने का काम करती हैं ,
बल्कि ध्यान से देखे तो पता चलता है कि वे भावनाएं भी लिए होती है अपने अंदर।
उसमे बैठ कर आ रहा होता है एक फौजी 
जिसके इंतेज़ार में एक नवेली दुल्हन घर पर रो रही होती है।
उसमे बैठकर आ रहा होता है एक मजबूर पिता 
जिसका पूरा परिवार सुख की रोटी खाने का उम्मीद लगाए हुए है।
उसमे बैठा होता है एक मां का लाल ,
जिसकी माता इस इंतजार में रहती है की बेटे के आने पे उसके गिरवी गहने लाला वापस करेगा।
उसमे बैठकर जा रहा है एक मासूम बच्चा पैसे कमाने ,
जिसे पैसे का भाव भी नहीं मालूम 
क्यूंकि उसकी बड़ी बहन अभी तक पैसे की वजह से कुंवारी बैठी है।

#onlinepoetry.
#nojoto

13 Love