Good Morning
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"अंधेरे की चादर ओढ़े जब मैं आऊँ तुम सूरज की किरणें बिखेर दिन बन जाना मैं चाँदनी रात सी चुप हो जाऊँ तुम भोर बन मुझे जगाना Love cannot be quarantined!"

अंधेरे की चादर ओढ़े जब मैं आऊँ
तुम सूरज की किरणें बिखेर दिन बन जाना
मैं चाँदनी रात सी चुप हो जाऊँ
तुम भोर बन मुझे जगाना
Love cannot be quarantined!

#Morning #Thoughts #Love

357 Love
2 Share

""

"jate jate ek sukun mil jaye to kya kahnaa jindagi uski aagosh me khamosh ho jaye to kya kahnaa..... napi tuli si thi jindagi ab tk kuchh behisab kar jaye to kya kahnaa...... jate jate ek sukun mil jaye to kya kahnaa.. 🔥manas 🔥"

jate jate ek sukun mil jaye 

to kya kahnaa

jindagi uski aagosh me khamosh ho jaye 

to kya kahnaa.....

napi tuli si thi jindagi ab tk 

kuchh behisab kar jaye 

to kya kahnaa......

jate jate ek sukun mil jaye to kya kahnaa..

🔥manas 🔥

# sukun

247 Love
21 Share

""

"मेरी हर सुबह बहुत ही खूबसूरत है, जिंदगी में तेरे होने से... सूरज का उजाला पूरे जंहा को रोशन करता है और तेरा प्यार मुझे ... पहेली किरण धरती पर उतरती है वैसे ही तेरा प्यार मुझ में.. हा रोज ही बस बड़ता रहता है मुझ में तू .…निरंतर मेरे शब्द ✍️"

मेरी हर सुबह बहुत ही खूबसूरत है, जिंदगी में तेरे होने से...
सूरज का उजाला पूरे जंहा को रोशन करता है और 
तेरा प्यार मुझे ...
पहेली किरण धरती पर उतरती है वैसे ही तेरा प्यार मुझ में..
हा रोज ही बस बड़ता रहता है मुझ में तू .…निरंतर

मेरे शब्द ✍️

#Morning#mylove#mylife#mybittu😘#nojotohindi#nojotoenglish#nojotoaap#QandA @My_Words✍✍ @aman6.1 @Nishu Ranga @HOLOCAUST @Tezmi_queen @Shikha Sharma

208 Love

""

"तुम मेरी वो ख़्वाब हो जो कभी पूरा तो नहीं हो सकता मगर मुझे जीने का हौसला जरूर दे सकता है ।।"

तुम मेरी वो ख़्वाब हो 

जो कभी पूरा तो नहीं हो सकता 

मगर मुझे जीने का हौसला जरूर दे सकता है ।।

#Morning

199 Love
20 Share

""

"तू छोड़ गया तो कोई गम नहीं तेरे छोड़ जाने का थोड़ा सा गम तो है क्योंकि कोई था जिस पर हक़ था मेरा तेरे साथ जितना था वो खुशियों से भरा था तुझसे ही मेरा सुकून था जब से तू मिला मेरी सुबह ,शाम ,रात , gud ही थी । स्वा त्रिपाठी। ✍️✍️"

तू छोड़ गया तो कोई गम नहीं 

तेरे छोड़ जाने का थोड़ा सा गम तो है 
क्योंकि कोई था जिस पर हक़ था मेरा 
तेरे साथ जितना था 
वो खुशियों से भरा था 
तुझसे ही मेरा सुकून था 
जब से तू मिला 
मेरी सुबह ,शाम ,रात ,
gud ही थी ।

स्वा त्रिपाठी।
✍️✍️

 

182 Love
2 Share