Flood
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"When you run alone it's called a race. but when god runs with you that's called grace. Prachi tyagi..."

When you run alone
 it's called a race. 
but when god runs with you 
that's called grace.


Prachi tyagi...

#flood

191 Love

""

"छोटे से जहाँ में, छोटी सी बस्ती मेरी, भीषण 'बाढ़' में छोटी सी कस्ती मेरी, हे! भगवान कुछ तो मुझ पर दया कर.. तेज लहरों में मिट न जाये हस्ती मेरी। .....गोविन्द पन्द्राम"

छोटे से जहाँ में, छोटी सी बस्ती मेरी,  
भीषण 'बाढ़' में छोटी सी कस्ती मेरी,  
हे! भगवान कुछ तो मुझ पर दया कर.. 
तेज लहरों में मिट न जाये हस्ती मेरी।

          .....गोविन्द पन्द्राम

#flood = बाढ़

166 Love
1 Share

""

"ऊंचे नीचे मकानों को जलजला बराबर कर गया मजदूरों के दफ्तर में भी पानी भर गया ए खुदा तू हमारा कोई ठिकाना बना दे यहां अच्छे दिनों का बादा हर साल की तरह पानी में मर गया"

ऊंचे नीचे मकानों को जलजला बराबर कर गया
मजदूरों के दफ्तर में भी पानी भर गया
ए खुदा तू हमारा कोई ठिकाना बना दे
यहां अच्छे दिनों का बादा हर साल की तरह पानी में मर गया

#flood @16teen @Jyoti gupta @Prateek Singh(MBA) @Vasudha Uttam @writer Sunita singh @Jyoti gupta

165 Love

""

"कोन कहता है तुम्हें की दरिया का मुंह तोड़ दो हे गुजारिश आपसे मेरे गांब की सड़क शहर की तरफ मोड़ दो बोट लेकर बादे करते हो तुम चांद तारों के रहने दो उन्हें आसमानों पर कब तक जलाएं अपना खून डालकर दिय में नुक्कड़ पर खड़े खम्बे से मेरे बल्ब का तार जोड़ दो"

कोन कहता है तुम्हें की दरिया का मुंह तोड़ दो
हे गुजारिश आपसे मेरे गांब की सड़क शहर की तरफ मोड़ दो
बोट लेकर बादे करते हो तुम चांद तारों के रहने दो उन्हें आसमानों पर
कब तक जलाएं अपना खून डालकर दिय में
नुक्कड़ पर खड़े खम्बे से मेरे बल्ब का तार जोड़ दो

#flood @Vasudha Uttam @A. P. Eshu bauddh @pinky masrani @Heart beat..... 💞 @Akanksha jain

162 Love

""

"क्या हुआ साहब जो घर नहीं रहा, ये खुला आसमां भी तो घर से कम नहीं.. लुट गया सब तो क्या हुआ, मौत के आगे झुकने वाले भी हम नहीं.. बना लेंगे फ़िर एक बार आशियाना, बन गए हैं पत्थर हुई बिल्कुल भी आंखें नम नहीं.. कर लेंगे सबर हम फ़िर एक बार, ऐसे भी तो ज़िन्दगी में दर्द पहले से ही कम नहीं.. ...Balwinder Pal"

क्या हुआ साहब जो घर नहीं रहा,
ये खुला आसमां भी तो घर से कम नहीं..

लुट गया सब तो क्या हुआ,
मौत के आगे झुकने वाले भी हम नहीं..

बना लेंगे फ़िर एक बार आशियाना,
बन गए हैं पत्थर हुई बिल्कुल भी आंखें नम नहीं..

कर लेंगे सबर हम फ़िर एक बार,
ऐसे भी तो ज़िन्दगी में दर्द पहले से ही कम नहीं..
...Balwinder Pal

#flood

137 Love