Reading
  • Latest
  • Popular
  • Video

""

"☺️दिल की बातें दिल में रखकर उसके सामने से गुजर गए और दिल की बातें किताबों की पढ़ने में ही रहेंगे💔हम रहे या ना रहे उम्र भर रहेगी यह किताब इस दुनिया में ©Vishwajeet Chakraborty"

☺️दिल की बातें दिल में रखकर उसके सामने से गुजर गए और दिल की बातें किताबों की पढ़ने में ही रहेंगे💔हम रहे या ना रहे उम्र भर रहेगी यह किताब इस दुनिया में

©Vishwajeet Chakraborty

how to first excited Love 😍 yaad rahegi 🔥

#reading

8 Love
1 Share

""

"हम किशी को धोखा दे तो हम बड़े समझदार है और कोई हम धोखा दे तो वो धोखै बाज है ©surender kumar"

हम किशी को धोखा दे तो
हम बड़े समझदार है
और कोई हम धोखा दे तो
वो धोखै बाज है

©surender kumar

#reading

13 Love

""

"क्या लिखूं पन्ने पे इस कलम से मेरे अपने जज्बात हैं अपने आप से.... ©vpsingh22rj"

क्या लिखूं पन्ने पे
 इस कलम से 
मेरे अपने जज्बात हैं
 अपने आप से....

©vpsingh22rj

अपने जज्बात अपने आप
#nojoto

8 Love

""

"गज़ल लिखे जो मेने नाम तेरे, मेरी किताबों में! खोल के देखा आज एक बार फिर नज़र आये थे! भुली-बिसरी यादो के बादल! आँसु बन आंखों में बरस आये थे! वो सुखे पते तेरे नाम के, जो किताबों में रखे थे मैने! आज फिर एक पल के लिए हरे नज़र आये थे! शक़ था मुझे तेरा, गैरों के साथ मिलने का! गौर से देखा तुझमे तो, तुम भी गैर नज़र आये थे! वो मेरा मोबाइल चैक करना तेरा, तो बहुत सारे कॉन्टेक्ट पाये थे! जिन जिन पे शक़ था मुझको, वो शक़ सही नज़र आये थे! वो दोस्तों की महफिल में, तेरा मुझे जलील करना! ठुकरा कर प्यार मेरा दाग बदनामी के लगाये थे! रो पङा मेरा टूटा दिल, बिखरा टुकङो में! वफा करके भी हम क्यूँ, बेवफा कहलाये थे! ©मनीष कुमार"

गज़ल

लिखे जो मेने नाम तेरे, मेरी किताबों में!
खोल के देखा आज एक बार फिर नज़र आये थे!

भुली-बिसरी यादो के बादल!
आँसु बन आंखों में बरस आये थे!

वो सुखे पते तेरे नाम के, जो किताबों में रखे थे मैने!
आज फिर एक पल के लिए हरे नज़र आये थे!

शक़ था मुझे तेरा, गैरों के साथ मिलने का!
गौर से देखा तुझमे तो, तुम भी गैर नज़र आये थे!

वो मेरा मोबाइल चैक करना तेरा, तो बहुत सारे कॉन्टेक्ट पाये थे!
जिन जिन पे शक़ था मुझको, वो शक़ सही नज़र आये थे!

वो दोस्तों की महफिल में, तेरा मुझे जलील करना!
ठुकरा कर प्यार मेरा दाग बदनामी के लगाये थे!

रो पङा मेरा टूटा दिल, बिखरा टुकङो में!
वफा करके भी हम क्यूँ, बेवफा कहलाये थे!

©मनीष कुमार

#reading

11 Love

""

"अपनी मंजिल को भुला कर जिया तो क्या जिया दम है तो उसे पाकर दिखा , लिख दे खुन से अपनी कामयाबी की कहानी और बोल किस्मत को है दम तो , उसे मिटा कर दिखा...! ©Ankit yaduvanshi"

अपनी  मंजिल  को  भुला  कर  जिया  तो 
क्या  जिया  दम  है  तो  उसे  पाकर  दिखा ,
लिख  दे  खुन  से  अपनी  कामयाबी  की  कहानी 
और  बोल  किस्मत  को  है  दम  तो ,
उसे  मिटा  कर  दिखा...!

©Ankit yaduvanshi

#manzil

8 Love