Eid-e-Milad
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"चांद भी क्या खूब है, न सर पर घूंघट है, न चेहरे पे बुरका, कभी करवाचौथ का हो गया, तो कभी ईद का, तो कभी ग्रहण का तो कभी पूनम का अगर ज़मीन पर होता तो टूटकर विवादों मे होता, अदालत की सुनवाइयों में होता, अखबार की सुर्ख़ियों में होता, लेकीन "शुक्र है आसमान में बादलों की गोद में है, इसीलिए ज़मीन में कविताओं और ग़ज़लों में महफूज़ है” ©Shivam Tiwari"

चांद भी क्या खूब है,
न सर पर घूंघट है,
न चेहरे पे बुरका,

कभी करवाचौथ का हो गया,
तो कभी ईद का,
तो कभी ग्रहण का
तो कभी पूनम का
अगर

ज़मीन पर होता तो
टूटकर विवादों मे होता,
अदालत की सुनवाइयों में होता,
अखबार की सुर्ख़ियों में होता,

लेकीन

"शुक्र है आसमान में बादलों की गोद में है,
इसीलिए ज़मीन में कविताओं और ग़ज़लों में महफूज़ है”

©Shivam Tiwari

चांद भी क्या खूब है,
न सर पर घूंघट है,
न चेहरे पे बुरका,

कभी करवाचौथ का हो गया,
तो कभी ईद का,
तो कभी ग्रहण का
कभी पूनम का

178 Love

""

"बातो के सिलसिले जब से रातो को बढ़ने लगे है। दिल जान गया है वो भी हमसे इश्क़ करने लगे है। -Ravan✍️"

बातो के सिलसिले जब से रातो को बढ़ने लगे है।

दिल जान गया है वो भी हमसे इश्क़ करने लगे है।

-Ravan✍️

#IASOFFNEHA #sandhya #kavirahulpal #yashika #Sanakhan #Shivamyadav #Priya #yonim #fellings #Indira
Pihu priyanka Rahul sana jyoti
Eid-e-milad Hiyan Chopda yonami81 Sujata jha nanhi_shayrana Vanshika Agrawal👑

154 Love

""

"दिल किसी का कभी भी दुखाते नहीं| हाल-ए-दिल सभी को सुनाते नहीं| पद तुम्हारा भले लाख ऊँचा रहे | रौब अपना किसी को दिखाते नहीं| वो तुम्हारा महल हैं मुबारक तुम्हें| झोपड़ी भी किसी का गिराते नहीं| हो सफर लाख कितना कठिन भी मगर| बढ़ गये जो कदम डगमगाते नहीं| जो गलत हैं उसे तुम गलत ही कहो| जुर्म का सर कभी भी उठाते नहीं| 💞रश्मि💞 ©रश्मि सचिन पाठक"

दिल  किसी  का  कभी  भी दुखाते नहीं|
हाल-ए-दिल    सभी   को    सुनाते नहीं|

पद   तुम्हारा    भले   लाख  ऊँचा   रहे |
रौब   अपना   किसी   को  दिखाते नहीं|

वो   तुम्हारा  महल    हैं  मुबारक   तुम्हें|
झोपड़ी   भी   किसी  का   गिराते  नहीं|

हो सफर लाख कितना कठिन भी मगर|
बढ़   गये  जो  कदम   डगमगाते   नहीं|

जो  गलत  हैं  उसे  तुम  गलत ही कहो|
जुर्म  का  सर  कभी   भी  उठाते   नहीं|
💞रश्मि💞

©रश्मि सचिन पाठक

💞S.R💞

#Eid-e-milad Anshu writer J P Lodhi. S.N Gurjar Govind Pandram Yogendra Nath

152 Love

""

"दर्द-ए-दिल से सजाकर, मैं गजल लिखने लगा हूँ। सुर्ख से नाजुक लबों को, मैं कमल लिखने लगा हूँ। संगमरमर सा तरासा, हुस्न उसका देखकर ही.. खूबसूरत उस परी को, मैं महल लिखने लगा हूँ। सोचता हूँ हाल-ए-दिल, मैं बता दूँ उस परी को.. जिस परी को जिंदगी की, मैं पहल लिखने लगा हूँ। ©Govind Pandram"

दर्द-ए-दिल से सजाकर,  
मैं गजल लिखने लगा हूँ।
सुर्ख से नाजुक लबों को, 
मैं कमल लिखने लगा हूँ। 

संगमरमर सा तरासा, 
हुस्न उसका देखकर ही.. 
खूबसूरत उस परी को, 
मैं महल लिखने लगा हूँ।

सोचता हूँ हाल-ए-दिल, 
मैं बता दूँ उस परी को..
जिस परी को जिंदगी की,  
मैं पहल लिखने लगा हूँ।

©Govind Pandram

#संगमरमर 2122, ...., .... 2122,
@Tarani Nayak(disha Indian). @Rekha💕Sharma "मंजुलाहृदय" @रश्मि सचिन पाठक Asha...#anu @Priya dubey

149 Love

""

"दोस्तों के संग बैठे इक जमाना हो गया| वक्त किसके पास हैं अब ये बहाना हो गया| भावना में बह गये थे भूल जाओ अब मुझे| बोलकर ऐसा सुनो अब वो सयाना हो गया| खेलकर हम जिस मकाँ में हो गये इतने बड़े| वक्त का देखो तक़ाज़ा कैदखाना हो गया| मैं मनाता था तुम्हें अब तो मनाऊंगा नहीं| दौर वो कुछ और था रिश्ता पुराना हो गया| चैन मेरा खो गया हैं नींद कोसो दूर हैं| चाहतो में आपके ये दिल दिवाना हो गया| 💞रश्मि💞 ©रश्मि सचिन पाठक"

दोस्तों  के  संग  बैठे  इक  जमाना  हो  गया|
वक्त किसके पास हैं अब ये  बहाना हो गया|

भावना  में  बह गये थे भूल जाओ अब मुझे|
बोलकर  ऐसा सुनो अब वो सयाना हो गया|

खेलकर हम जिस मकाँ में हो गये इतने बड़े|
वक्त  का  देखो  तक़ाज़ा कैदखाना हो गया|

मैं  मनाता  था  तुम्हें अब तो मनाऊंगा नहीं|
दौर  वो कुछ और था रिश्ता पुराना हो गया|

चैन  मेरा   खो  गया  हैं  नींद  कोसो  दूर हैं|
चाहतो में आपके ये  दिल दिवाना  हो गया|
💞रश्मि💞

©रश्मि सचिन पाठक

💞S.R💞

#Eid-e-milad Anshu writer J P Lodhi. Raj Yaduvanshi Yogendra Nath Govind Pandram hidden girl yashika शिल्पा यादव Ashis Barik दिव्य मनोरथ @vks Siyag @Deepti Srivastava @Saggii Rambade💙 @Nराधा.....राजपूत...💞N @ਕਾਲਾ 🥂🥂🤞🤞

144 Love