आँखों में अश्रु घनेरे दो,
हाँ घाव हृदय बहुतेरे दो
  • Latest Stories