Eid quotes
  • Latest
  • Popular
  • Video

""

"लिखनें बैढता हुँ,तो सामने मेरे तुम आ जाती हो,। 'मेरी जान,,,, ना जाने क्यों तुम मेरे 'पन्ने' खराब करने आ जाती हो,,।। ©Dilip Singh"

लिखनें बैढता हुँ,तो सामने मेरे तुम आ जाती हो,।
'मेरी जान,,,,
ना जाने क्यों तुम मेरे 'पन्ने' खराब करने आ  जाती हो,,।।

©Dilip Singh

लिखनें बैढता हुँ,,,,✍️

#EidChand

5 Love

""

"तरसे हैं दीदार को तेरे, छत से नजर गढाये है! आ जा अब तो रहा न जाता, सारा सब्र टूट रहा है, मुझसे ! तरसी ऑंखों ने कुछ ऐसा कहा दिया है, कही रूठ न जाऊं खुदसे !! ©प्रकाश "प्रतीक""

तरसे हैं दीदार को तेरे,
छत से नजर गढाये है!
आ जा अब तो रहा न जाता,
सारा सब्र टूट रहा है, मुझसे !
तरसी ऑंखों ने 
कुछ ऐसा कहा दिया है,  
कही  रूठ न जाऊं खुदसे !!

©प्रकाश "प्रतीक"

#चांदनी

#EidChand

6 Love

""

"Eid Mubarak 🌙 ©Khayalon Wali"

Eid Mubarak 🌙

©Khayalon Wali

#EidChand

9 Love

""

"हिन्दुस्तां के सब लोगो को मुबारक हो ईद एक दूजे को गले लगाये,बोले खुशामदीद  सबके हृदय के मुरझाये आज फूल खिले किसी को ख्वाबों ख्यालों में गम न मिले इस ईद सबकी खुशहाली की नमाज पढ़े, खुदा से करे सबके गम मिटाने की ज़िद हिन्दुस्तां के सब लोगो को मुबारक हो ईद एक दूजे को गले लगाये, बोले खुशामदीद इस कोरोनाकाल मे सब ख़ूब ज़कात करे दीन-दुःखियों,गरीबो को हम ख़्याल करे खुदा से सब कोरोना मिटाने की दुआ करे कोरोना हैवान को वो सुलाये मौत की नींद हिन्दुस्तां के सब लोगो को मुबारक हो ईद एक दूजे को गले लगाये, बोले खुशामदीद इस ईद हम सब भीतर से बदी को मिटाये अपने अंदर नेकी,अच्छाई की लौ जलाये इस ईद करे हम सब अच्छाई की खरीद मन से मिटा दे,ईर्ष्या-द्वेष के सब ही गीत हिन्दुस्तां के सब लोगो को मुबारक हो ईद एक दूजे को गले लगाये, बोले खुशामदीद दिल से विजय ©Vijay Kumar उपनाम-"साखी""

हिन्दुस्तां के सब लोगो को मुबारक हो ईद
एक दूजे को गले लगाये,बोले खुशामदीद 

सबके हृदय के मुरझाये आज फूल खिले
किसी को ख्वाबों ख्यालों में गम न मिले

इस ईद सबकी खुशहाली की नमाज पढ़े,
खुदा से करे सबके गम मिटाने की ज़िद

हिन्दुस्तां के सब लोगो को मुबारक हो ईद
एक दूजे को गले लगाये, बोले खुशामदीद

इस कोरोनाकाल मे सब ख़ूब ज़कात करे
दीन-दुःखियों,गरीबो को हम ख़्याल करे

खुदा से सब कोरोना मिटाने की दुआ करे
कोरोना हैवान को वो सुलाये मौत की नींद

हिन्दुस्तां के सब लोगो को मुबारक हो ईद
एक दूजे को गले लगाये, बोले खुशामदीद

इस ईद हम सब भीतर से बदी को मिटाये
अपने अंदर नेकी,अच्छाई की लौ जलाये

इस ईद करे हम सब अच्छाई की खरीद
मन से मिटा दे,ईर्ष्या-द्वेष के सब ही गीत

हिन्दुस्तां के सब लोगो को मुबारक हो ईद
एक दूजे को गले लगाये, बोले खुशामदीद

दिल से विजय

©Vijay Kumar उपनाम-"साखी"

ईद मुबारक
#EidChand

9 Love
1 Share

""

"चाँद कैसे कहूँ मुबारक हो मैने बुझते चिराग़ देखे है अमरीश शर्मा राजन ©kalmkaarr"

चाँद कैसे कहूँ मुबारक हो
मैने बुझते  चिराग़ देखे  है

अमरीश  शर्मा  राजन

©kalmkaarr

#EidChand

10 Love