Red Quotes
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"कोन कहता है इंसान मिट्टी का बना है मैंने कुछ लोग जहां पत्थर के भी देखे है,"

कोन कहता है इंसान मिट्टी का बना है
मैंने कुछ लोग जहां पत्थर के भी देखे है,

#OpenPoetry#Love#shayri#kavita#hindinojoto#indianpoerty#Poetry#sadshayri#vichar @aman6.1 @Anil Kumar Kumar @Baljit Singh @Deep Sandhu

124 Love
3 Share

"Mai yq pe tha fir nojoto ke user ki taraf se nyota aaya hum vipaksh me the par uska samman kiya aur kai sare post likhe Like huve follow huye unfollow bhi huye Ye follow unfollow ka khel chalata rahega lekin apna nojoto amar rahana chahiye, Apni lekhani rukani nai chahiye Follow aayenge jayenge lekin apni lekhani amar rahani chahiye  .... Jai ho lekhani baba... 《Plz Atal ji gussa mat hona ap kyoki mai apka Bada wala pankha hu》"

Mai yq pe tha fir nojoto ke user ki taraf se nyota aaya hum vipaksh me the par uska samman kiya aur kai sare post likhe 
Like huve follow huye unfollow bhi huye 
Ye follow unfollow ka khel chalata rahega lekin apna nojoto amar rahana chahiye,
Apni lekhani rukani nai chahiye 
Follow aayenge jayenge lekin apni lekhani amar rahani chahiye  ....
Jai ho lekhani baba...
《Plz Atal ji gussa mat hona ap kyoki mai apka Bada wala pankha hu》

 

116 Love

"मैंने सुना है अक्सर , बेवफाओं के दिल में दरवाजे नहीं होते .. खूंटी बांधकर इश्क को, कैद भी तो नहीं किया जा सकता.. 🌹"

मैंने सुना है अक्सर ,
बेवफाओं के दिल में दरवाजे नहीं होते ..
खूंटी बांधकर इश्क को,
कैद भी तो नहीं  किया जा सकता.. 🌹

#hamariadhoorikahani

97 Love
1 Share

"रणभूमि फिर सजी हुई है जंग की है तैयारी माँ से लेकर आशीर्वाद चले है तिरंगा धारी काली  सा श्रृंगार  देख शत्रु  मे हलचल  छाया एक नहीं  सौ  से लड़ने का साहस  सबने दिखाया एक-एक रण बाकुर भारी था शत्रु  के सेना पे…… जैसे मानो सिंह लड़ रहा गरज रहा दुश्मन पे. एक हाथ बन्दूक लिए और दूसरे मे था झंडा………….. गोली सीने से पार थी लेकिन झुका नही तिरंगा मरते-मरते दिखा गया वो अपने साहस  की सीमा शत्रु  मे आतंक कर गया दूभर कर गया जीना युद्ध  हुआ  फिर  से तब पीछे पछताओगे………….., कश्मीर मे अपनी सेना  की  क्या क़ब्र बनवाओगे? भूल गए हो क्या तुम, कारगिल की वो हार? या फिर भूल गए, विक्रम बत्रा …की हुंकार जिससे  दहली थी रणभूमि वो ऐसा था वीर…….. मर के भी वो सीखा गया और दिखा गया तस्वीर गाँधी जैसा धैर्य छीपा है, आजाद जैसी ताकत चाणक्य जैसी बुद्धि है, ना करना हमको आहात ना करना हमको आहात, नहीं दोहरायेंगे इतिहास भविष्य की छोडो, नही रहेगा तुम्हारा आज हम शांति के अग्रदूत है, हमसे ना टकराओ लड़ना है तो लड़ो  अशिक्षा  से, और गरीबी हटाओ  विश्व मंच पर कर्म द्वारा, कुछ तो नाम कर जाओ.. पाकिस्तान मैं पाक जैसा कुछ तो कर के दिखाओ                                                                            "

रणभूमि फिर सजी हुई है जंग की है तैयारी
माँ से लेकर आशीर्वाद चले है तिरंगा धारी

काली  सा श्रृंगार  देख शत्रु  मे हलचल  छाया
एक नहीं  सौ  से लड़ने का साहस  सबने दिखाया

एक-एक रण बाकुर भारी था शत्रु  के सेना पे……
जैसे मानो सिंह लड़ रहा गरज रहा दुश्मन पे.

एक हाथ बन्दूक लिए और दूसरे मे था झंडा…………..
गोली सीने से पार थी लेकिन झुका नही तिरंगा

मरते-मरते दिखा गया वो अपने साहस  की सीमा
शत्रु  मे आतंक कर गया दूभर कर गया जीना

युद्ध  हुआ  फिर  से तब पीछे पछताओगे…………..,
कश्मीर मे अपनी सेना  की  क्या क़ब्र बनवाओगे?

भूल गए हो क्या तुम, कारगिल की वो हार?
या फिर भूल गए, विक्रम बत्रा …की हुंकार

जिससे  दहली थी रणभूमि वो ऐसा था वीर……..
मर के भी वो सीखा गया और दिखा गया तस्वीर

गाँधी जैसा धैर्य छीपा है, आजाद जैसी ताकत
चाणक्य जैसी बुद्धि है, ना करना हमको आहात

ना करना हमको आहात, नहीं दोहरायेंगे इतिहास
भविष्य की छोडो, नही रहेगा तुम्हारा आज

हम शांति के अग्रदूत है, हमसे ना टकराओ
लड़ना है तो लड़ो  अशिक्षा  से, और गरीबी हटाओ 

विश्व मंच पर कर्म द्वारा, कुछ तो नाम कर जाओ..
पाकिस्तान मैं पाक जैसा कुछ तो कर के दिखाओ
                                                                           

 

86 Love

"खोप खाए इस जमाने में। रंग उड़ा देती है, छोटी चिटिया भी।"

खोप खाए इस जमाने में।
रंग उड़ा देती है, 
छोटी चिटिया भी।

#रंग
#विचार
#कविता
#कहानी
#शायरी
#कामुक
#कला
#बेहटखूसबूरत

79 Love