Evening Quotes
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"“स्त्री की उन्नति पर ही राष्ट्र की उन्नति निर्भर है।”"

“स्त्री की उन्नति पर ही राष्ट्र की उन्नति निर्भर है।”

 

173 Love
2 Share

""

"Kyu jeete ho zindgi ko itne sikve sikato ke sath,har pal khushi khusi jeeo isse har pal kisi ke sath,maan ke zindgi me gam bahut hai,mager ye ye bhi to soacho ke jeeten hai,khusiya usse to jee bhar kar jeeo har kisi ke sath,kya karo ge yrr inn sikho sikayato ka,jab kal sirf yahi soachte reha jao ge ke kyy nhi jeeya zindgi ko tab jee bhar ke jab kaam hi sahi mager khusiya to thi yrr."

Kyu jeete ho zindgi ko itne sikve sikato ke sath,har pal khushi khusi jeeo isse har pal kisi ke sath,maan ke zindgi me gam bahut hai,mager ye ye bhi to soacho ke jeeten hai,khusiya usse to jee bhar kar jeeo har kisi ke sath,kya karo ge yrr inn sikho sikayato ka,jab kal sirf yahi soachte reha jao ge ke kyy nhi jeeya zindgi ko tab jee bhar ke jab kaam hi sahi mager khusiya to thi yrr.

jeeten hai zindgi usse to Khushi khushi jeeo yrr

151 Love
1 Share

""

"जिनकी ऊंगली पकड़ कर चलना सीखा आज वो मुझसे हमेशा के लिए जुदा हो गए वो थे तो लगता था कि ये दुनिया अपनी है अब वो नही तो सब बेगाना सा लगता है.... Missing you Papa....."

जिनकी ऊंगली पकड़ कर चलना सीखा
आज वो मुझसे हमेशा के लिए जुदा हो गए
वो थे तो लगता था कि ये दुनिया अपनी है
अब वो नही तो सब बेगाना सा लगता है....

Missing you Papa.....

पापा
#missing
#पापा
#छोड़ गये
#दर्द
#pain
#दुख
#

134 Love
3 Share

""

"जो मेरे लिए अपने परिवार को छोड़ने की बात कर सकता है, वो कल को किसी ओर के लिए मुझे भी छोड़ देगा, तो इसमें कोनसी बड़ी बात है, जो इंसान मेरे लिए चांद तारे तोड़ने की बात कर सकता है, उसके लिए मेरा दिल तोडना तो बहुत छोटी सी बात है,"

जो मेरे लिए अपने परिवार को छोड़ने की बात कर सकता है,
वो कल को किसी ओर के लिए मुझे भी छोड़ देगा,
तो इसमें कोनसी बड़ी बात है,
जो इंसान मेरे लिए चांद तारे तोड़ने की बात कर सकता है,
उसके लिए मेरा दिल तोडना तो बहुत छोटी सी बात है,

#nojoto#hindinojoto#shayri#Poetry aman6.1 Deep Sandhu DANISH KHAN smita with a kind ❤️

132 Love

""

"Shaam se sundar uska roop hoga..... chandani se jyada chamakdar uski aankhe hongi.... uski nadaani aur shaitaani khilkhilati baarish main dhoop jaisi hai....... hogi sabse alag meri mehboob.. subah se pyaari uski muskaan hogi"

Shaam se sundar uska roop hoga.....
chandani se jyada chamakdar uski aankhe 
hongi....
uski nadaani aur shaitaani khilkhilati baarish main dhoop jaisi hai.......
hogi sabse alag meri mehboob..
subah se pyaari uski muskaan hogi

 

120 Love