Ocean beach Quotes
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"आंसू सस्ते नहीं मीनाक्षी के जो खरीद पाए कोई🤗 इतनी कमजोर नहीं मीनाक्षी जो तोड़ जाए कोई 🙏 प्यार बिकाऊ नहीं मीनाक्षी का जो तुझ पर लुटाए 😌 दीवानी बस मीनाक्षी खुद की है 😇 दीवानगी ❤️खुद पर दिखाएं 😊 -😘मीनाक्षी गोयल"

आंसू सस्ते नहीं  मीनाक्षी  के जो खरीद पाए कोई🤗
 इतनी कमजोर नहीं मीनाक्षी जो तोड़ जाए कोई 🙏 
प्यार बिकाऊ नहीं  मीनाक्षी का जो तुझ पर लुटाए 😌 
दीवानी बस मीनाक्षी खुद की है 😇 
दीवानगी ❤️खुद पर  दिखाएं 😊
                            -😘मीनाक्षी गोयल

#Quotes#Deewangi khud se #❤️🥰

502 Love
3 Share

"Log hai - unka kaam hi hai sochna or bolna!!! Nobody know you better than yourself So never ever judge yourself according to other's opinions so Go be spontaneous and push your limits and see where you lead yourself... Shruti Garg"

Log hai - unka kaam hi hai sochna or bolna!!!

Nobody know you better than yourself
So never ever judge yourself according to other's opinions so
Go be spontaneous and push your limits and see where you lead yourself...
Shruti Garg

Log hai - unka kaam hi hai sochna or bolna!!!
unko ignore kro aga bdo jo tmhe thk lgae voh kro
tmhri lyf h kse or ki Ni soo kse or k according mat chlo😊😇

163 Love

"रंगीन सपनों को, बुन कर वो आया मिला हाथ आंधी से, लड़कर वो आया सपने दिखा कर, किधर लड़खड़ाया ना मंजिल दिखी, ना दिखी कोई छाया चला चाल ऐसी, की मंजिल भी बोली किधर चल दिए, क्या करने था आया पथिक बोल बैठा, जरा सा डरा हूं सहारा हूं उनका, बेसहारा पड़ा हूं…. मेरी मां, तरक्की के खातिर है भूखी कई देवता को, मनाने में सुखी मंदिर-शिवाला के चक्कर लगाती कहीं पीर बाबा से ताबीज गढ़वाती आशा की सीढ़ी पर, मां भी खड़ी है जहां छोड़ आया, वही वो अड़ी है यही सोचकर मैं, जरा सा डरा हूं सहारा हूं उनका, बेसहारा पड़ा हूं……  ना सुध है बटोही को, रास्ता किधर है जहाँ से चला था, खड़ा भी उधर है घने कोहरे से, मैं लड़ने था आया अभी ढूंढता हूं, किधर से मैं आया क्या मां-बाप के जज्बातों पर खरा हूं..? या उनकी तपस्या का खोटा सिरा हूं…? यही सोच कर मैं जरा सा डरा हूं सहारा हूं उनका, बे सहारा पड़ा हूं….."

रंगीन सपनों को, बुन कर वो आया
मिला हाथ आंधी से, लड़कर वो आया
सपने दिखा कर, किधर लड़खड़ाया
ना मंजिल दिखी, ना दिखी कोई छाया
चला चाल ऐसी, की मंजिल भी बोली
किधर चल दिए, क्या करने था आया
पथिक बोल बैठा, जरा सा डरा हूं
सहारा हूं उनका, बेसहारा पड़ा हूं….

मेरी मां, तरक्की के खातिर है भूखी
कई देवता को, मनाने में सुखी
मंदिर-शिवाला के चक्कर लगाती
कहीं पीर बाबा से ताबीज गढ़वाती
आशा की सीढ़ी पर, मां भी खड़ी है
जहां छोड़ आया, वही वो अड़ी है
यही सोचकर मैं, जरा सा डरा हूं
सहारा हूं उनका, बेसहारा पड़ा हूं……

 ना सुध है बटोही को, रास्ता किधर है
जहाँ से चला था, खड़ा भी उधर है
घने कोहरे से, मैं लड़ने था आया
अभी ढूंढता हूं, किधर से मैं आया
क्या मां-बाप के जज्बातों पर खरा हूं..?
या उनकी तपस्या का खोटा सिरा हूं…?
यही सोच कर मैं जरा सा डरा हूं
सहारा हूं उनका, बे सहारा पड़ा हूं…..

 

102 Love

"नींद आई थी सपने में चंद शेखर आजाद  जी आये  थे| उन्होंने कहा क्या कर रहे हो बे हम सारे लोग 25 साल में ही देश के लिए इतना कुछ कर के शहीद हो गए और तुम सो रहे हो? मैंने कहा भैया मैंने भी अपना फर्ज निभाया| फिर उन्होंने कहा कैसे ? मैंने बोला सुबह-सुबह उठा नहा के एक स्कूल में ध्वजारोहण के लिए गया और जलेबी खाई देशभक्ति के तेज-तेज गाने  चलाये और अपने डीपी को तिरंगे से बदला और 1, 2 कवितायें लिखा| और क्या यही तो है देशभक्ति फिर जोर से आवाज आई कॉफी पी लो सर और आंख खुल गई और तब से यही सोच रहा था क्या यही देशभक्ति है.....? आप भी सोचिए.... मैं भी सोच रहा हूं......"

नींद आई थी सपने में चंद शेखर आजाद  जी आये  थे|
उन्होंने कहा क्या कर रहे हो बे 
हम सारे लोग 25 साल में ही देश के लिए इतना कुछ कर के शहीद हो गए और तुम सो रहे हो? 
मैंने कहा भैया मैंने भी अपना फर्ज निभाया|
फिर उन्होंने कहा कैसे ? 
मैंने बोला 
सुबह-सुबह उठा नहा के एक स्कूल में ध्वजारोहण के लिए गया 
और जलेबी खाई
देशभक्ति के तेज-तेज गाने  चलाये और अपने डीपी को तिरंगे से बदला और 1, 2 कवितायें लिखा|
और क्या यही तो है देशभक्ति 
फिर जोर से आवाज आई कॉफी पी लो सर 
और आंख खुल गई और तब से यही सोच रहा था क्या यही देशभक्ति है.....? 
आप भी सोचिए....
मैं भी सोच रहा हूं......

 

96 Love

"THE MYSTERY GIRL The time has come .. for feather to fly on the wings of the imagination Part of her mystery Is how she is calm In the storm and Anxious in the quiet Something was different Not her eyes Not her looks Aura tha she had Radiated a pleasant light Her innocence Her gentle mannerism Her melodious voice Had magic Don't blame me I was hypotised By her mere presence For it locked preference Yes she is dam mysterious girl She herself dont knw who she is She wants to say something Bt she is afraid She don't want to show to world Dats y she is amazing Her best part is She wants to make everyone happy But she don't want to make herself Her longs hairs Thick like dark clouds Her femine Beauty An eastern damsel His eyelashes bows Her eyes shining Smile divine😍😍 ‘"

THE MYSTERY GIRL
The time has come ..
for feather to fly 
on the wings of the imagination
Part of her mystery
Is how she is calm
In the storm and
Anxious in the quiet
Something was different
Not her eyes
Not her looks
Aura tha she had 
Radiated a pleasant light
Her innocence
Her gentle mannerism
Her melodious voice
Had magic
Don't blame me 
I was hypotised
By her mere presence
For it locked preference
Yes she is dam mysterious girl
She herself dont knw who she is
She wants to say something
Bt she is afraid
She don't want to show to world
Dats y she is amazing
Her best part is 
She wants to make everyone happy
But she don't want to make herself
Her longs hairs 
Thick like dark clouds
Her femine Beauty
An eastern damsel
His eyelashes bows
Her eyes shining
Smile divine😍😍
‘

#mysterygrl#part2soon#shamesukhan#NojotoHaldwani

96 Love