Vijeta quotes
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"मैं विजेता हूँ .. गिरती हूँ संभलती हूँ , टूटती हूँ बिखरती भी हूँ मगर हार नहीं मानती।"

मैं विजेता हूँ ..
गिरती हूँ संभलती हूँ ,
टूटती हूँ बिखरती भी हूँ 
मगर हार नहीं मानती।

#VIJETA

239 Love
3 Share

""

"❣पूरी दुनिया की दौलत हारकर भी जो मां बाप की पैरों की जन्नत पाता है, मेरी नजर में असली विजेता कहलाता है। जंग तो बहुत जीत जाते है लोग मां बाप का दिल जीतना नसीब से नसीब में आता है, ख़ुदा सबकी किस्मत कहां ऐसी बनता है। ❤💚❤💚❤💚❤ ❣ I don't want to win whole world I just want to be in Mom Dad's heart, That's my whole world. ❣"

❣पूरी दुनिया की दौलत हारकर भी जो
मां बाप की पैरों की जन्नत पाता है,
मेरी नजर में असली विजेता कहलाता है।

जंग तो बहुत जीत जाते है लोग
मां बाप का दिल जीतना नसीब से नसीब में आता  है,
ख़ुदा सबकी किस्मत कहां ऐसी बनता है।

❤💚❤💚❤💚❤

❣ I don't want to win whole world
I just want to be in Mom Dad's heart,
That's my whole world. ❣

#असली विजेता कौन होता है?
#nojoto हिंदी

#लव#लाइफ#Pain#feelings
#Emotions#thought
#Shayari#poem
❤💚❤💚❤💚❤
❣❣❣✍✍✍✍

187 Love
1 Share

""

"जो अपनों के लिए हार जाये वो कभी हार नहीं सकता। और जो अपनों से जीत जाये वो कभी जीत नहीं सकता॥"

जो अपनों के लिए हार जाये 
वो कभी हार नहीं सकता।
और जो अपनों से जीत जाये
 वो कभी जीत नहीं सकता॥

जो अपनों के लिए हर जाये वो कभी हार नहीं सकता।
और जो अपनों से जीत जाये वो कभी जीत नहीं सकता।
#VIJETA
#nojotohindi
#Love
#jeet
#Har
#War

143 Love
1 Share

""

"Asli vijeeta wahi hai jo haar pakki hone par bhi ....haar na maane"

Asli vijeeta wahi hai jo haar pakki hone par bhi ....haar na maane

#VIJETA

119 Love

""

"खुद दुःख के सागर में डूबे तब भी ,चेहरे पर कुछ सिकन न आए जरूरत पर झुक जाए पर ,गलत का प्रतिकार भी कर पाए रिश्तों के ताने बाने में फंस ,कभी गलत कदम न उठा जाए अपनो के साथ तो अपना हो ,पर गैर न किसी को बतलाए जो हो न सका इस जीवन में, उसे सोच कभी न घबराए जो पा लिया अब तक उसने, फिर अहंकार में न डूब जाए जितनी भी हो रोटी थाली में,बाँट बंधुओं में फिर खाए जो कभी हो गई मतभेद तो फिर,मिल बैठ उसे वो सुलझाए काम क्रोध मद लोभ दम्भ ... more in caption( कैप्शन)"

खुद दुःख के सागर में डूबे तब भी ,चेहरे पर कुछ सिकन न आए
जरूरत पर झुक जाए पर ,गलत का प्रतिकार भी कर पाए
रिश्तों के ताने बाने में फंस ,कभी गलत कदम न उठा जाए
अपनो के साथ तो अपना हो ,पर गैर न किसी को बतलाए

जो हो न सका इस जीवन में, उसे सोच कभी न घबराए
जो पा लिया अब तक उसने, फिर अहंकार में न डूब जाए
जितनी भी हो रोटी थाली में,बाँट बंधुओं में फिर खाए
जो कभी हो गई मतभेद तो फिर,मिल बैठ उसे वो सुलझाए

काम क्रोध मद लोभ दम्भ
...
more in caption( कैप्शन)

#असल_विजेता_कौन_होते_हैं?


खुद दुःख के सागर में डूबे तब भी ,चेहरे पर कुछ सिकन न आए
जरूरत पर झुक जाए पर ,गलत का प्रतिकार भी कर पाए
रिश्तों के ताने बाने में फंस ,कभी गलत कदम न उठा जाए
अपनो के साथ तो अपना हो ,पर गैर न किसी को बतलाए

112 Love
1 Share