Bonfire Quotes
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"teri janib ye kesi khabar aane lagi h. sase meri sadme me jane lagi h jabse suna h tabiyat nasaj h tumhari tab se yu gafil hui h ki, sase hame ab ruk - ruk ke aane lagi h."

teri janib ye kesi khabar aane lagi h.
sase meri sadme me jane lagi h

jabse suna h tabiyat nasaj h tumhari
tab se yu gafil hui h ki,
 sase hame ab ruk - ruk ke aane 
lagi h.

 

286 Love
4 Share

"एक ओर सूरज गुज़र गया अब रात कैसे कटेगी,,, यह तन्हाई लगता है मेरी जान लेकर हटेगी,,,"

एक ओर सूरज गुज़र गया अब रात कैसे कटेगी,,,
यह तन्हाई लगता है मेरी जान लेकर हटेगी,,,

 

207 Love

"वक़्त को ढुंढते देखा है नकाबों को हटते देखा है औरों की क्या बात करूं मैंने तो खुद को बदलते देखा है"

वक़्त को ढुंढते देखा है 
नकाबों को हटते देखा है 
औरों की क्या बात करूं 
मैंने तो खुद को बदलते देखा है

#TeamUjjwal

Ishu Priya ÄŘTIFIÇEŘ

193 Love
10 Share

"औरों की बात क्या करो .... मैंने यहां आइने में ख़ुद को बदलते देखा है ..।।"

औरों की बात क्या करो ....
मैंने यहां आइने में ख़ुद को बदलते देखा है ..।।

#aina #soulhapiness #changes #mk #Love #stilllife

189 Love
5 Share

"(नाकाम शहर) कुछ वक़्त आज मैं नाकामियों के नाम करता हूं, सिखाये जिंदगी में जो भी सबक उनके लिए सलाम करता हूं. उड़ता फिर रहा था जो मेरा ज़ेहन बेफिक्र होकर,उसको फ़िक्र का जाम पिलाने के लिए शुक्रिया करता हूं. समझता था जो सारी दुनिया अपनी,उस दुनिया का मतलबी रंग दिखाने का शुक्रिया करता हूं. गिनाते थे माँ बाप जो गलतियां मुझ में,आज खुद की उन ख़ामियों से रूबरू कराने का शुक्रिया करता हूं. फिरता था जो मोहब्वत का मज़ाक बनाये,आज तन्हाईयों में उस दर्द के एहसास का शुक्रिया करता हूं. मस्ती में जो वक़्त गवाया,पढ़ाई में न था दिल लगाया,आज वक़्त ने जो वक़्त पढ़ाया,इस सबक को याद करता हूं. करी बेवक़्त ज़िद नौकरियों का मज़ाक उड़ाया,आज दो वक्त पेट के लिए फिर ख़ुद को बिकता पाया. बनाये थे जो दोस्त सारथी,सब हुए स्वार्थी,अकेला खड़ा फिर खुद को अकेला ही पाया. मंज़िल ढूंढता रहा,वीरानों में बिखरता रहा,एक दिन सामने कुछ लिखा पाया (तेरा तेरा कुछ नहीं जो कुछ है मेरा) मन में फिर ख़याल आया ईबादत से दिल लगाया, ख़ुद में एक फ़क़ीर जगाया. ईबादत मेहरबान हुई इस फ़क़ीर की क़लम फिर जवान हुई,लिखते लिखते अमन कुछ ऐसा खोया जो आंखों से ना बहा कभी आज मेरे लफ़्ज़ों ने वो अश्क बहाया।।"

(नाकाम शहर)
कुछ वक़्त आज मैं नाकामियों के नाम करता हूं, सिखाये जिंदगी में जो भी सबक उनके लिए सलाम करता हूं.
उड़ता फिर रहा था जो मेरा ज़ेहन बेफिक्र होकर,उसको फ़िक्र का जाम पिलाने के लिए शुक्रिया करता हूं.
समझता था जो सारी दुनिया अपनी,उस दुनिया का मतलबी रंग दिखाने का शुक्रिया करता हूं.
गिनाते थे माँ बाप जो गलतियां मुझ में,आज खुद की उन ख़ामियों से रूबरू कराने का शुक्रिया करता हूं.
फिरता था जो मोहब्वत का मज़ाक बनाये,आज तन्हाईयों में उस दर्द के एहसास का शुक्रिया करता हूं.
मस्ती में जो वक़्त गवाया,पढ़ाई में न था दिल लगाया,आज वक़्त ने जो वक़्त पढ़ाया,इस सबक को याद करता हूं.
करी बेवक़्त ज़िद नौकरियों का मज़ाक उड़ाया,आज दो वक्त पेट के लिए फिर ख़ुद को बिकता पाया.
बनाये थे जो दोस्त सारथी,सब हुए स्वार्थी,अकेला खड़ा फिर खुद को अकेला ही पाया.
मंज़िल ढूंढता रहा,वीरानों में बिखरता रहा,एक दिन सामने कुछ लिखा पाया (तेरा तेरा कुछ नहीं जो कुछ है मेरा) मन में फिर ख़याल आया ईबादत से दिल लगाया, ख़ुद में एक फ़क़ीर जगाया.
ईबादत मेहरबान हुई इस फ़क़ीर की क़लम फिर जवान हुई,लिखते लिखते अमन कुछ ऐसा खोया जो आंखों से ना बहा कभी आज मेरे लफ़्ज़ों ने वो अश्क बहाया।।

#MeraShehar Follow more such stories on @Nojotoapp
#writersofinstagram #writeraofindia #Shayaris #Poetry #Quote #wordporn #qotd #igwriters #Nojoto #nojotoapp #wordgasm #wordporn #indianwriters #poetsofindia #Stories #storytelling #Quoteoftheday #writersofindia #Poetrycommunity #igpoets #wordsofwisdom #Love #Thoughts #igwriterclub @Bhupinder Kaur @Satyaprem Upadhyay @Internet Jockey #SUMAN# @varsha swaroop @🧚‍♀️Ruchika🧚‍♀️

164 Love
4 Share