अख़बार पढ़ना छोड़ दिया मैंने,
ग़ुलामी के कसीदें पढ़ना छ
  • Latest
  • Video

""

"अख़बार पढ़ना छोड़ दिया मैंने, ग़ुलामी के कसीदें पढ़ना छोड़ दिया मैंने। अब ग़ैरत आ गयी मेरी आँखों में भी, अब बेग़ैरती पढ़ना छोड़ दिया मैंने। यहाँ लूटी हुई ईज़्ज़त को दिलचस्प तरीक़े से परोसा जाता है, हैवानों को भी अख़बार के पहले पन्ने पर बहादुर बतलाया जाता है। बेगुनाहो को गुनाहगार बताया जाता है, ज़ालिम और जाबिर को मसीहा बताया जाता है। समाज के बीच दीवार खड़ी करने वाली खबरों को पढ़ना छोड़ दिया मैंने, दीमक की तरह दिमाग़ को खोखला कर देने वाली चीज़ों को देखना छोड़ दिया मैंने। पहले अखबारों में शेरो-शायरी की बातें होती थी, कुछ हो न हो कम से कम सच्ची बातें तोह होती थी। नफ़रतों की नाव पर चढ़ना छोड़ दिया मैंने, झूठ और नफ़रतों से भरा अखबार पढ़ना छोड़ दिया मैंने, धर्म और जात की नफ़रतों के नाम पर फैलाने वाले खबरों को क़ब्र में डाल दो, और आप भी इन बेकार खबरों को पढ़ने की आदत छोड़ दो।"

अख़बार पढ़ना छोड़ दिया मैंने,
ग़ुलामी के कसीदें पढ़ना छोड़ दिया मैंने।
अब ग़ैरत आ गयी मेरी आँखों में भी,
अब बेग़ैरती पढ़ना छोड़ दिया मैंने।
यहाँ लूटी हुई ईज़्ज़त को दिलचस्प तरीक़े से परोसा जाता है,
हैवानों को भी अख़बार के पहले पन्ने पर बहादुर बतलाया जाता है।
बेगुनाहो को गुनाहगार बताया जाता है,
ज़ालिम और जाबिर को मसीहा बताया जाता है।
समाज के बीच दीवार खड़ी करने वाली खबरों को पढ़ना छोड़ दिया मैंने,
दीमक की तरह दिमाग़ को खोखला कर देने वाली चीज़ों को देखना छोड़ दिया मैंने।
पहले अखबारों में शेरो-शायरी की बातें होती थी,
कुछ हो न हो कम से कम सच्ची बातें तोह होती थी।
नफ़रतों की नाव पर चढ़ना छोड़ दिया मैंने,
झूठ और नफ़रतों से भरा अखबार पढ़ना छोड़ दिया मैंने,
धर्म और जात की नफ़रतों के नाम पर फैलाने वाले खबरों को क़ब्र में डाल दो,
और आप भी इन बेकार खबरों को पढ़ने की आदत छोड़ दो।

अख़बार पढ़ना छोड़ दिया मैंने।
Don't waste your time on fake news...
झूठी खबरों पे अपना कीमती वक़्त न बर्बाद करें।
#nojoto
#nojotohindi #nojotourdu #akhbaar #fakenews

7 Love