Holi messages in Hindi
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"रंग हवा के संग रंगों ने पा लिया है हवाओं का संग। आजा बिखेर दूँ मैं तुझमें रंग। हवाओं ने पहन रखी है रंगीन ओढ़नी। आजा तुझे पहना दूँ चाँद की चाँदनी। एक हवा के झोखे ने मेरे कानों में, धीरे से फुस फुसाया है। महसूस करूँ उसे वो किसी की, मुसकान लेकर आया है। नदियों में लहरें झूम उठी हैं, इन हवाओं के सहारे। किनारे आकर जैसे कह रही हों, कोई पास आ रहा है तुम्हारे। बारिश की बूँदें मुझे कुछ, इस कदर भिगा रही हैं। जैसे मधुमक्खियाँ अपने छत्ते पर, फूलों का रस सजा रही हैं। पहुंच चुका हूँ मैं मोहब्बत की, इतनी गहराइयों में। जब सुनाई पड़ रही हो तेरे लफ्जों की धुन, तब क्या मजा शहनाइयों में। #NojotoQuote"

रंग हवा के संग  
 
रंगों ने पा लिया है हवाओं का संग।
 आजा बिखेर दूँ मैं तुझमें रंग।
हवाओं ने पहन रखी है रंगीन ओढ़नी।
आजा तुझे पहना दूँ चाँद की चाँदनी।
एक हवा के झोखे ने मेरे कानों में,
धीरे से फुस फुसाया है।
 महसूस करूँ उसे वो किसी की,
मुसकान लेकर आया है।
नदियों में लहरें झूम उठी हैं,
इन हवाओं के सहारे।
 किनारे आकर जैसे कह रही हों,
कोई पास आ रहा है तुम्हारे।
बारिश की बूँदें मुझे कुछ,
इस कदर भिगा रही हैं।
 जैसे मधुमक्खियाँ अपने छत्ते पर,
फूलों का रस सजा रही हैं।
 पहुंच चुका हूँ मैं मोहब्बत की,
इतनी गहराइयों में।
जब सुनाई पड़ रही हो तेरे लफ्जों की धुन,
तब क्या मजा शहनाइयों में। #NojotoQuote

#nojotohindi #Shayari #Love #Holi

297 Love

""

"ऐ ज़िन्दगी..... नही रंगना हमे तुमको इन फिजूल की रंगों से तुम तो मेरे जीवन की रंगों में रंग गई हो, जो कभी भी छूटने वाला नही है, जो हमेशा इन फिजाओ में खुश्बुओं के साथ फैली रहती है, जिसमे तुम्हारी खूबसूरती कभी भी धुमिल नही होती। #NojotoQuote"

ऐ ज़िन्दगी.....
नही रंगना हमे तुमको इन फिजूल की रंगों से
तुम तो मेरे जीवन की रंगों में रंग गई हो,
जो कभी भी छूटने वाला नही है,
जो हमेशा इन फिजाओ में खुश्बुओं के साथ फैली रहती है, जिसमे 
तुम्हारी खूबसूरती कभी भी धुमिल 
नही होती।

 #NojotoQuote

ऐ ज़िन्दगी.....
#Nojoto#yade#Pyar#intjar#Quotes#Amit#Kumar#Maurya

177 Love
2 Share

""

"कितने दिनों से मुझे कोई हिचकी नही आई लगता है कभी किसी को मेरी याद नही आई। इल्तेजा की हद ही हो गयी है अब तो,खड़ी थी दरवाजे पे आज भी कोई चिट्ठी नही आई। खुली आँखों मे आंसू रहते या ख्बाब हमारे हमने आंख लगाई बहुत मगर नींद नही आई। अपने ही नाखूनों से खुद को नोचने का दिल है धोखे खा खा कर भी मैं इश्क़ से बाज़ नही आई।"

कितने  दिनों  से मुझे  कोई हिचकी  नही  आई
लगता है कभी किसी  को  मेरी  याद नही आई।

इल्तेजा  की  हद  ही  हो  गयी  है अब  तो,खड़ी
थी  दरवाजे पे आज भी कोई  चिट्ठी  नही  आई।

खुली  आँखों  मे  आंसू  रहते  या  ख्बाब  हमारे
हमने आंख  लगाई बहुत मगर  नींद  नही  आई।

अपने ही  नाखूनों से खुद को नोचने का  दिल है
धोखे खा खा कर भी मैं इश्क़ से बाज़ नही आई।

 

158 Love
1 Share

""

"मानवता की अमिट मनुज धरा पर, सर्वधर्म, सर्वसंस्कृति, समभाव मनाये जाते हैं| हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई के कानन में, बस प्रेम-मिलन के पर्व मनाये जाते हैं| ✍️✍️✍️डॉ गरिमा त्यागी"

मानवता की अमिट मनुज धरा पर, 
सर्वधर्म, सर्वसंस्कृति, समभाव मनाये जाते हैं|
हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई के कानन में,
बस प्रेम-मिलन के पर्व मनाये जाते हैं| 

✍️✍️✍️डॉ गरिमा त्यागी

 

135 Love
6 Share

""

"आपको हमारे तरफ से होली की ढेर सारी सुभकामनाये आप हमेसा अपनो के साथ खुश रहिये । मुस्कुराते रहिये, #NojotoQuote"

आपको हमारे तरफ से होली की ढेर सारी 
सुभकामनाये
आप हमेसा अपनो के साथ खुश रहिये ।
मुस्कुराते रहिये, 
          #NojotoQuote

ऐ ज़िन्दगी.....
#Nojoto#Love#ak

118 Love
1 Share