खुशियो की चाह में कितना दूर निकल आये हैं 
थोड़ा तु
  • Latest Stories

"खुशियो की चाह में कितना दूर निकल आये हैं थोड़ा तुम चले हो तो थोड़ा हम भी चलकर आये हैं इन सारी खुशियो को पाने की जिद जो हमने ठानी हैं वो तो पूरी होगी क्योंकि किस्मत से जीतने की अब हमारी बारी हैं रास्ता कठिन हैं पर मंजिल बेहद खुबसुरत होगी पर रास्तो पर चलकर ही तो हमें मंजिल खुबसुरत बनानी हैं कुछ भी ना कहो ना सोचो बस अब चलने की बारी हैं क्योंकि अब हमारी जिद पूरी होगी अब हमने ये ठानी हैं 👍😊 #NojotoQuote"

खुशियो की चाह में कितना दूर निकल आये हैं 
थोड़ा तुम चले हो तो थोड़ा हम भी चलकर आये हैं 
इन सारी खुशियो को पाने की जिद जो हमने ठानी हैं 
वो तो पूरी होगी क्योंकि किस्मत से जीतने की 
अब हमारी बारी हैं 
रास्ता कठिन हैं पर मंजिल बेहद खुबसुरत होगी 
पर रास्तो पर चलकर ही तो हमें मंजिल खुबसुरत बनानी हैं 
कुछ भी ना कहो ना सोचो बस अब चलने की बारी हैं 
क्योंकि अब हमारी जिद पूरी होगी अब हमने ये ठानी हैं 
👍😊
 #NojotoQuote

 

23 Love

"खुशियो की चाह में कितना दूर निकल आये हैं थोड़ा तुम चले हो तो थोड़ा हम भी चलकर आये हैं इन सारी खुशियो को पाने की जिद जो हमने ठानी हैं वो तो पूरी होगी क्योंकि किस्मत से जीतने की अब हमारी बारी हैं रास्ता कठिन हैं पर मंजिल बेहद खुबसुरत होगी पर रास्तो पर चलकर ही तो हमें मंजिल खुबसुरत बनानी हैं कुछ भी ना कहो ना सोचो बस अब चलने की बारी हैं क्योंकि अब हमारी जिद पूरी होगी अब हमने ये ठानी हैं 👍😊 #NojotoQuote"

खुशियो की चाह में कितना दूर निकल आये हैं 
थोड़ा तुम चले हो तो थोड़ा हम भी चलकर आये हैं 
इन सारी खुशियो को पाने की जिद जो हमने ठानी हैं 
वो तो पूरी होगी क्योंकि किस्मत से जीतने की 
अब हमारी बारी हैं 
रास्ता कठिन हैं पर मंजिल बेहद खुबसुरत होगी 
पर रास्तो पर चलकर ही तो हमें मंजिल खुबसुरत बनानी हैं 
कुछ भी ना कहो ना सोचो बस अब चलने की बारी हैं 
क्योंकि अब हमारी जिद पूरी होगी अब हमने ये ठानी हैं 
👍😊
 #NojotoQuote

 

18 Love