thought
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"na ashiq hu ,na premi hu ,na hu m diwana ... dil ke lafjjo ko likhata kyonki dil h shayarana.... #NojotoQuote"

na ashiq hu ,na premi hu ,na hu m diwana ...
dil ke lafjjo ko likhata kyonki dil h shayarana.... #NojotoQuote

#nojotoLove #nojotohindi #Love #dairyshayari

157 Love
4 Share

"Kl tk mai tumhara khaab thi, Aj tum meri haqiqat ho... 💕 @avs"

Kl tk  mai tumhara khaab thi, Aj tum meri haqiqat ho... 💕  
@avs

#my_first_shayari
#nojotohindi #nojotoenglish

133 Love
1 Share

"तू ज़हन से ज़रा निकले तो दो पल, तन्हा बितालूँ? बड़ा सुकून मिलता है बैठकर अकेले, तन्हा रहलूँ? सबसे अक्सर कह नहीं पाता मन की बात कभी वह बातें मेरी उलझन हैं,इजाज़त हो तो सुलझालूँ?"

तू ज़हन से ज़रा निकले तो दो पल, तन्हा बितालूँ?
बड़ा सुकून मिलता है बैठकर अकेले, तन्हा रहलूँ?
सबसे अक्सर कह नहीं पाता मन की बात कभी 
वह बातें मेरी उलझन हैं,इजाज़त हो तो सुलझालूँ?

 

106 Love
1 Share

"किसी के दर्द को महसूस करके उसमे खो जाना बुरा क्या है दिलो में ख्वाब खुशियों के संजो जाना मुझे अक्सर कहा करती है ये दुनिए सुनो 'अभी' नही अच्छा तेरा इतना भी अच्छा यूँ ही हो जाना। -@abhisom"

किसी के दर्द को महसूस
 करके उसमे खो जाना

बुरा क्या है दिलो में ख्वाब
खुशियों के संजो जाना

मुझे अक्सर कहा करती है 
ये दुनिए सुनो 'अभी'

नही अच्छा तेरा इतना भी
अच्छा यूँ ही हो जाना।
         -@abhisom

#nojoto#nojotohindi#abhisom#khwaab#accha#Love#2liner

104 Love
6 Share

"हमेशा देर कर देता हूँ मैं हर काम करने में ज़रूरी बात कहनी हो कोई वा'दा निभाना हो उसे आवाज़ देनी हो उसे वापस बुलाना हो हमेशा देर कर देता हूँ मैं मदद करनी हो उस की यार की ढारस बंधाना हो बहुत देरीना रस्तों पर किसी से मिलने जाना हो हमेशा देर कर देता हूँ मैं बदलते मौसमों की सैर में दिल को लगाना हो किसी को याद रखना हो किसी को भूल जाना हो हमेशा देर कर देता हूँ मैं किसी को मौत से पहले किसी ग़म से बचाना हो हक़ीक़त और थी कुछ उस को जा के ये बताना हो हमेशा देर कर देता हूँ मैं हर काम करने में..... मुनीर नियाज़ी"

हमेशा देर कर देता हूँ मैं हर काम करने में 
ज़रूरी बात कहनी हो कोई वा'दा निभाना हो 
उसे आवाज़ देनी हो उसे वापस बुलाना हो 
हमेशा देर कर देता हूँ मैं 

मदद करनी हो उस की यार की ढारस बंधाना हो 
बहुत देरीना रस्तों पर किसी से मिलने जाना हो 
हमेशा देर कर देता हूँ मैं 

बदलते मौसमों की सैर में दिल को लगाना हो 
किसी को याद रखना हो किसी को भूल जाना हो 
हमेशा देर कर देता हूँ मैं 

किसी को मौत से पहले किसी ग़म से बचाना हो 
हक़ीक़त और थी कुछ उस को जा के ये बताना हो 
हमेशा देर कर देता हूँ मैं हर काम करने में..... 

मुनीर नियाज़ी

मेरी पसंदीदा शायरी
@Akshita Jangid(poetess) @Astha Singh

103 Love
8 Share