Delhi Air Pollution Quotes
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"#DelhiPollution धुआं धुआं हो रही है ये दुनिया ज़िन्दगी राख बनते देर नहीं लगेगी"

#DelhiPollution धुआं धुआं हो रही है ये दुनिया

ज़िन्दगी राख बनते देर नहीं लगेगी

#Delhipollution #Delhiairemergency #Pollution #trend #Delhi #Life #smoking #smoke #nojoto #nojotohindi #nojotoenglish #nojotoapp #nojotopoetry #nojotosangam #Kalamse #writersofinstagram #Love #pyaar

117 Love

"इस शहर को यह हुआ क्या है, यह धुंध कैसी यह धुंआ क्या है ? पराली जली है कि दिल जल उठे धरती के बेटों यह बददुआ क्या है ? सांस चलती नही जाँ जाती नही दिल में यह मर्ज़ सा हुआ क्या है ? पढ़ा था फसलें तबाह हो गयी हैं लाशों के जलनें सा यह धुंआ क्या है ? सुनते ही नहीं हो कहाँ हो किसानों, सियासत की तरह तुम्हे हुआ क्या है ? ~ देवरत्न"

इस शहर को यह हुआ क्या है,
यह धुंध कैसी यह धुंआ क्या है ?
पराली जली है कि दिल जल उठे
धरती के बेटों यह बददुआ क्या है ?
सांस चलती नही जाँ जाती नही
दिल में यह मर्ज़ सा हुआ क्या है ?
पढ़ा था फसलें तबाह हो गयी हैं
लाशों के जलनें सा यह धुंआ क्या है ?
सुनते ही नहीं हो कहाँ हो किसानों,
सियासत की तरह तुम्हे हुआ क्या है ?
 ~ देवरत्न

#DelhiPollution #parali #farmer #ArvindKejriwal #NarendraModi #devRatna #apeel #Delhi
#किसान #पराली #प्रदूषण #सुनो #अपील #देवरत्न

100 Love
2 Share

"#DelhiPollution दिल्ली हमारी राजधानी है लेकिन सबसे ज्यादा pollution वहीं पर है वहां तो दिन में भी अंधेरा छाया हुआ रहता है विषैले धुए का सरोवर होता है वहां पर क्या यह वही दिल्ली है जिसे हमने अपनी राजधानी चुनी थी इसको पोलूशन मुक्त राज्य बनाना होगा।"

#DelhiPollution दिल्ली हमारी राजधानी है लेकिन सबसे ज्यादा pollution वहीं पर है
 वहां तो दिन में भी अंधेरा छाया हुआ रहता है विषैले धुए का सरोवर होता है वहां पर 
क्या यह वही दिल्ली है जिसे हमने अपनी राजधानी चुनी थी इसको पोलूशन मुक्त राज्य बनाना होगा।

 

94 Love

"#DelhiPollution रोता- सा ये शहर है देखो,  फटे हुए कपड़ों से रिश्ते, हर मन में दीवार है। कंधे सारे झुके झुके हैं,  लँगड़ाता हर पांव है।  न पेडो की छांव है।  सूख गया मन का हर कोना, धूप भरी हर छांव है।  हरियाली नही कही,,नदी- झीलें सूखी हैं।  मन की बातें रूखी हैं। "

#DelhiPollution रोता- सा ये शहर है देखो, 

फटे हुए कपड़ों से रिश्ते,
हर मन में दीवार है।
कंधे सारे झुके झुके हैं, 
लँगड़ाता हर पांव है। 

न पेडो की छांव है। 
सूख गया मन का हर कोना,
धूप भरी हर छांव है। 
हरियाली नही कही,,नदी- झीलें सूखी हैं। 
मन की बातें रूखी हैं। 

#delhipollution

88 Love

"#DelhiPollution मानो ऐसे दिल्ली नहीं मेरा दिल जल रहा है खामोश है हर कोई पूरा शहर धुए में बदल रहा है"

#DelhiPollution मानो ऐसे दिल्ली नहीं
 मेरा दिल जल रहा है
 खामोश है हर कोई 
पूरा शहर धुए में बदल रहा है

#delhipollution

82 Love