Religion
  • Popular
  • Latest
  • Video

"सबकी अपनी अपनी सोच है यहाँ यह उगते चांद को डलती हुई शाम कह देंगे,,, सारा दिन फुरसत में बिता ते है ली हुई उबासीओ को यह किया कोई काम कह देंगे,, क्या बताए आलम क्या है अब, यह सर पर ऑडी सफ़ैद टोपी को भी केसरी दस्तार कह देंगे,, क्यों प्यादे बन रहे हो इस राजनीति के यह मस्जिद छोड़ मंदिर को भी ईंटो की मीनार कह देंगे,, दिन आने दो इनके चुनावो में मंदिर के फैसले को यह दिलाई इनके दुआरा कोई खैरात कह देंगे,,"

सबकी अपनी अपनी सोच है यहाँ
यह उगते चांद को डलती हुई शाम कह देंगे,,,

सारा दिन फुरसत में बिता ते है 
ली हुई उबासीओ को यह किया कोई काम कह देंगे,,

क्या बताए आलम क्या है अब, यह सर 
पर ऑडी सफ़ैद टोपी को भी केसरी दस्तार कह देंगे,,

क्यों प्यादे बन रहे हो इस राजनीति के
यह मस्जिद छोड़ मंदिर को भी ईंटो की मीनार कह देंगे,,

दिन आने दो इनके चुनावो में मंदिर के 
फैसले को यह दिलाई इनके दुआरा कोई खैरात कह देंगे,,

hate these kinds of politics,, यह चाहते तो उस मामले को neutral छोड़ देते,, वहां कोई सार्वजनिक स्थान बना सकते थे ,, यह मेरी सोच है आपका क्या कहना है इस बारे मे?

366 Love
2 Share

"जाने ये इंसान किस ओर जा रहा है जाने क्यों बांट लिया इंसान ने खुद को कभी धर्म के नाम पर तो कभी मज़हब के नाम पर खुद ही इस बवंडर में फंसता जा रहा है जाने ये इंसान किस ओर जा रहा है क्यो आज लोगों में इंसानियत मर गई क्यो आज इंसानियत से ज्यादा लोग अपने जातिवाद और रूढ़िवाद के विवादो में उलझता जा रहा है पूरी दुनिया मे एक इंसानियत का रिश्ता ही सर्वप्रथम और सर्वोत्तम बताया गया है मगर आज का दौर इतना बदल गया है कि लोग अपने अहंकार रूपी स्वभाव को तवज्जो देने लगा है ईश्वर ने तो धरती पर इंसान ही बनाया था और धर्म इंसानियत। मगर आज हर जगह वाद विवाद बढ़ता जा रहा है हो चाहे वो राम-मंदिर या मस्ज़िद इंसान अपना ही अस्तित्व खत्म करता जा रहा है इंसान अपने ही विनाश की ओर बढ़ता जा रहा है।"

जाने ये इंसान किस ओर जा रहा है
जाने क्यों बांट लिया इंसान ने खुद को
कभी धर्म के नाम पर तो कभी मज़हब के नाम पर
खुद ही इस बवंडर में फंसता जा रहा है
जाने ये इंसान किस ओर जा रहा है
क्यो आज लोगों में इंसानियत मर गई
क्यो आज इंसानियत से ज्यादा लोग
अपने जातिवाद और रूढ़िवाद
के विवादो  में उलझता जा रहा है
पूरी दुनिया मे एक इंसानियत का रिश्ता
ही सर्वप्रथम और सर्वोत्तम बताया गया है
मगर आज का दौर इतना बदल गया है कि
लोग अपने अहंकार रूपी स्वभाव को तवज्जो देने लगा है
ईश्वर ने तो धरती पर इंसान ही बनाया था
और धर्म इंसानियत।
मगर आज हर जगह वाद विवाद बढ़ता जा रहा है
हो चाहे वो राम-मंदिर या मस्ज़िद
इंसान अपना ही अस्तित्व खत्म करता जा रहा है
इंसान अपने ही  विनाश  की ओर बढ़ता जा रहा है।

#nojotohindi #nojotopoem #nojotoquotes #nojotolines #धर्म #मज़हब #बटवारा #ज़िन्दगी #इंसानियत
#विनाश #पतन #अग्रसर #भूलकर #खुदा
#sushmathakur

215 Love

"~~~{{{ देशप्रेम -मुक्तक }}}~~~ तुम एकता का दीप जलाकर तो देखते , तुम बाजुओं में तिरंगा उठाकर तो देखते ! संग-संग चलता यह सम्पूर्ण देश तुम्हारे.., नफ़रत मिटाने का डग बढ़ाकर तो देखते !१! अब एकता का गीत हम नवजवान लिखेंगे , सरहद के नाम जिंदगी हम तमाम लिखेंगे ! हमसे जो पूछेंगे हमारे मजहब का ठिकाना , मजहब के नाम पर हम हिंदुस्तान लिखेंगे !२!- एक वीर सैनिक हमको इतना सिखा गया , देश समृद्धि का वो हमको बातें बता गया ! वो बोला द्वार पर खड़ा पहरा देता रहेगा... हमे घर संभालने का वो ज़िम्मा थमा गया !३! आज अपने दिल का सच्चा बयान कहते है , अपने दिल को गीता,मन को कुरान कहते है ! जहाँ सब प्रेम व सौहार्द से रहते है मिलकर , उसी को दोस्त आज हम हिंदुस्तान कहते है !४! ~{{{ कवि राहुल पाल }}}~"

~~~{{{ देशप्रेम -मुक्तक }}}~~~
तुम एकता का दीप जलाकर तो देखते ,
तुम बाजुओं में तिरंगा उठाकर तो देखते !
संग-संग चलता यह सम्पूर्ण देश तुम्हारे..,
      नफ़रत मिटाने का डग बढ़ाकर तो देखते !१!
   
  अब एकता का गीत हम नवजवान लिखेंगे ,
   सरहद के नाम जिंदगी हम तमाम लिखेंगे  ! 
   हमसे जो पूछेंगे हमारे मजहब का ठिकाना ,
      मजहब के नाम पर हम हिंदुस्तान लिखेंगे !२!-

  एक वीर सैनिक हमको इतना सिखा गया ,
   देश समृद्धि का वो हमको बातें बता गया ! 
  वो बोला द्वार पर खड़ा पहरा देता रहेगा...
      हमे घर संभालने का वो ज़िम्मा थमा गया !३!

   आज अपने दिल का सच्चा बयान कहते है ,
    अपने दिल को गीता,मन को कुरान कहते है !
   जहाँ सब प्रेम व सौहार्द से रहते है मिलकर ,
      उसी को दोस्त आज हम हिंदुस्तान कहते है !४!
   
~{{{ कवि राहुल पाल }}}~

#Religion
तुम एकता का दीप जलाकर तो देखते ,
तुम बाजुओं में तिरंगा उठाकर तो देखते !
संग-संग चलता यह सम्पूर्ण देश तुम्हारे..,
नफ़रत मिटाने का डग बढ़ाकर तो देखते !१!

अब एकता का गीत हम नवजवान लिखेंगे ,
सरहद के नाम जिंदगी हम तमाम लिखेंगे !

152 Love
2 Share

"Court ka Aadesh Wa Ayodhya ka Faisla kuch bhi ho Dotson bas Itna yaad rakhna ,Sehar apna Hai Log apne hain,Desh apna he Mandir Masjid ke jhagde me Insaaniyat nehi marni chaiye Be United Maintain Peace "

Court ka Aadesh Wa Ayodhya ka
Faisla kuch bhi ho Dotson 
bas Itna yaad rakhna ,Sehar apna Hai
Log apne hain,Desh apna he
Mandir Masjid ke jhagde me
Insaaniyat nehi marni chaiye 

Be United Maintain Peace

#Ayodhya #Lipsitalips #sugarlips #Lips

120 Love

"जब राम रहीम एक तो क्यों करते जात पात के नाम पर भारत के दिल में छेद"

जब राम रहीम एक 
 तो क्यों करते  
जात पात के नाम पर 
भारत के दिल में छेद

#Religion

97 Love
×

More Like This