Morning
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"दर्द सा होता है कभी कभी मैंने जो अल्फ़ाज़ टूटे दिल के टुकड़ो से जोड़े है लोग इन्हें शायरी क्यों कह देते है,,, कोई नही समझता आलम ए दिल मेरे आँसुओ की बरसात को नजाने क्यों यह लोग बदला कोई मौसम कह देते है,,"

दर्द सा होता है कभी कभी मैंने जो 
अल्फ़ाज़ टूटे दिल के टुकड़ो से जोड़े है
लोग इन्हें शायरी क्यों कह देते है,,,

कोई नही समझता आलम ए दिल
मेरे आँसुओ की बरसात को नजाने क्यों
यह लोग बदला कोई मौसम कह देते है,,

@Deepak Chaudhary... @aman6.1 @Neetu_$harmA❤POete$$✒ @Suman Banshiwal @smita Singh( ishu) @indira

313 Love

"मेरे ख़्वाबों का बिस्तर , तेरी यादों की गहराई। अफ़सोस के फिर भी मिली करवटें, सारी रात नींद ना आई। ___Satyprabha💕 __My Life ✍"

मेरे ख़्वाबों का बिस्तर ,
तेरी यादों की गहराई।
अफ़सोस के फिर भी मिली करवटें,
सारी रात नींद ना आई।

___Satyprabha💕
  __My Life ✍

#यादें
#Satya Prakash Upadhyay

192 Love
1 Share

"मधुर प्रतीक्षा ही जब इतनी, प्रिय, तुम आते, तब क्या होता। - हरिवंश राय बच्चन"

मधुर प्रतीक्षा ही जब इतनी,
प्रिय, तुम आते, तब क्या होता।
- हरिवंश राय बच्चन

Birth Anniversary Of Harivansh Rai Bachchan Ji :)

171 Love
1 Share

"बगावत कर रहा है, जंग पर आमादा है । दिल शहंशाह है, जहन तो बस प्यादा है । azeem khan"

बगावत कर रहा है, जंग पर आमादा है ।

दिल शहंशाह है, जहन तो बस प्यादा है ।

azeem khan

# दिल शहंशाह #

140 Love
2 Share

"सो जाऊं अब सुकून से खुद में ही उलझ कर रह जाना ठीक नहीं लगता"

सो जाऊं अब सुकून से
खुद में ही उलझ कर रह जाना ठीक नहीं लगता

#gautamkumar #nojoto

138 Love