Beauty
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"बेवफा आंसू भी उसका साथ निभाते हैं,,रहते हैं मेरी आँखों में बह उसकी याद में जाते है. ताउम्र की बरसात है ये यादों का सावन,,जब चाहे उसकी याद आंखों से बरसाते है।"

बेवफा आंसू भी उसका साथ निभाते हैं,,रहते हैं मेरी आँखों में बह उसकी याद में जाते है.

ताउम्र की बरसात है ये यादों का सावन,,जब चाहे उसकी याद आंखों से बरसाते है।

आंसू#✍️6.1amam💥💥

#hindishayari#punjabishayari#urdushayari#nojotonews#nojotohindi
@Ruchika @Nisha khan @Nisha Ritesh only @kaur B 😊😊 @varsha @Aa$ի!ii Ra¥

204 Love
2 Share

"दिल्लगी की बात ना करो,,वो नज़रें चुराती है,,मगर उसे देखे बिना मेरी आँखों का सफर नही चलता. दिल पे लिखवा रखा है पक्का नाम उसका,,उसे है कि इजहार मेरा हरपल कच्चा है लगता. मेरी चाय को युही उसने किया है बदनाम,,मुझे तो मीठी शक्कर में भी उसके होंठो का स्वाद है लगता. दिसंबर सी सर्द हो चुकी हैं मेरी सांसे,,उसको सीने से लगाये बिना अब मेरा दिल उबाल नही भरता. मसरूफ सी ज़िन्दगी है मेरी,,मिली है जबसे उस से नज़र मुझे तो हर दिन अब रविवार सा लगता. क़लम तो बड़ी मशहूर है उसकी,,खुशनसीब होते है वो पन्ने जिनपे उसका हाथ है चलता. नाचीज़ सी हस्ती है मेरी,,सुना है वो बड़े लोग है,,वाहवाही के बिना उनका पेट नही भरता,,उनका पेट नही भरता।"

दिल्लगी की बात ना करो,,वो नज़रें चुराती है,,मगर उसे देखे बिना मेरी आँखों का सफर नही चलता.

दिल पे लिखवा रखा है पक्का नाम उसका,,उसे है कि इजहार मेरा हरपल कच्चा है लगता.

मेरी चाय को युही उसने किया है बदनाम,,मुझे तो मीठी शक्कर में भी उसके होंठो का स्वाद है लगता.

दिसंबर सी सर्द हो चुकी हैं मेरी सांसे,,उसको सीने से लगाये बिना अब मेरा दिल उबाल नही भरता.

मसरूफ सी ज़िन्दगी है मेरी,,मिली है जबसे उस से नज़र मुझे तो हर दिन अब रविवार सा लगता.

क़लम तो बड़ी मशहूर है उसकी,,खुशनसीब होते है वो पन्ने जिनपे उसका हाथ है चलता.

नाचीज़ सी हस्ती है मेरी,,सुना है वो बड़े लोग है,,वाहवाही के बिना उनका पेट नही भरता,,उनका पेट नही भरता।

#december खुशनसीब होते है वो✍️पन्ने जिन पे उसका हाथ है चलता✍️6.1aman

Follow more such stories on @Nojotoapp
#writersofinstagram #writeraofindia #shayaris #Poetry #Quote #wordporn #qotd #igwriters #nojotonews
Ruchika varsha Nisha khan kaur B 😊😊 suman# Aa$ի!ii Ra¥

199 Love
7 Share

"Baat sirf Respect, ki hoti hai... Warna jo sun sakta hai, Wo suna bhi sakta hai.."

Baat sirf Respect,
ki hoti hai...

Warna jo sun sakta hai,
Wo suna bhi sakta hai..

#RESPECT #Love

190 Love
2 Share

"🍃सूखे पत्तों सी हो गई है जिंदगी, साख से टूट टूट कर बिखर रहें हैं पता नहीं। मुरझा गई मुस्कुराहटें, बदल रहा है मौसम फ़िर भी हैरानगी के तूफान अभी तक थमा नहीं।🍃 🍃उड़ते झड़ते टूटते पता नहीं कहां जा रहे हैं, राहों का नहीं पता,मंजिल भी पता नहीं। क्यों है ये सब्र, क्यों है ये भरम पता नहीं ईश्वर भी हंसता होगा मुझपर, मै हार कर बैठ नहीं सकती हूं,क्या करूं ए रब मैं हूं इंसान तेरी तरह मै ख़ुदा तो नही ।🍃 __Satyprabha💕 __My Life ✍"

🍃सूखे पत्तों सी हो गई है जिंदगी,
साख से टूट टूट कर बिखर रहें हैं पता नहीं।

मुरझा गई मुस्कुराहटें, बदल रहा है मौसम
फ़िर भी हैरानगी के तूफान अभी तक थमा नहीं।🍃

🍃उड़ते झड़ते टूटते पता नहीं कहां जा रहे हैं,
राहों का  नहीं पता,मंजिल भी पता नहीं।

क्यों है ये सब्र, क्यों है ये भरम पता नहीं
ईश्वर भी हंसता होगा मुझपर,
मै हार कर बैठ नहीं सकती हूं,क्या करूं ए रब
मैं हूं इंसान तेरी तरह मै ख़ुदा तो नही ।🍃

__Satyprabha💕
               __My Life ✍

#लाइफ#Pain#Shatari#poem#Motivation
🍃सूखे पत्तों सी हो गई है जिंदगी,
साख से टूट टूट कर बिखर रहें हैं पता नहीं।

मुरझा गई मुस्कुराहटें, बदल रहा है मौसम
फ़िर भी हैरानगी के तूफान अभी तक थमा नहीं।🍃

🍃उड़ते झड़ते टूटते पता नहीं कहां जा रहे हैं,

178 Love

"छल प्रपंच से परे सुख सौम्य रूपी जीवन वृक्ष के रोपण के लिये बहुत जरूरी हो जाता है भावनाओं में सरलता उदारता और नम्रता रूपी नमी का होना ।"

छल प्रपंच से परे
सुख सौम्य रूपी
जीवन वृक्ष के रोपण के लिये
बहुत जरूरी हो जाता है 
भावनाओं में सरलता
उदारता और नम्रता रूपी 
नमी का होना ।

 

160 Love