Sad
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"अलविदा इश्क़ में कभी मुकम्मल ‘अलविदा’ नहीं होता है... कुछ न कुछ कहीं न कहीं, बाकी रह ही जाता है... ✍My_Words"

अलविदा इश्क़ में कभी मुकम्मल ‘अलविदा’ नहीं होता है...

कुछ न कुछ कहीं न कहीं, बाकी रह ही जाता है...



✍My_Words

मुक्कमल नहीं होता ...😊 #Emotions #Feelings #WOD #alvida #शायरी #मोहब्बत #इश्क़ #Nojoto #nojotohindi #nojotonews #nojotoapp #Quotes #poem #Stories #Shayari #Music #Poetry #CTL #pod #WOD #QandA #Love #ishq #mohabbat #Pyar #foryou #post #words #2words #Memories #alone #SAD #Happy #Pain #Joyful #Feel #Feelings #Real #Reality #Trust #true #Faith
@aman6.1 @pooja negi# @suman# @Nisha Dhiman @Sheetal Pandya

349 Love
1 Share

""

"अलविदा कुछ इस कदर सांसे भी जुड़ गई है तुमसे तुमने अलविदा कहा तो जी नहीं पाउँगा"

अलविदा कुछ इस कदर सांसे भी जुड़ गई है तुमसे

 तुमने अलविदा कहा तो जी नहीं पाउँगा

 

176 Love
3 Share

""

"अलविदा जीते रहे हम उनकी एक मुलाक़ात की आश लेकर,ताउम्र तनहाईयों में भी उम्मीद का दिया जलाएं रखा, करते रहे वो सितम दर सितम, शायद उन्होंने कभी हमें अपने लायक ना समझा। निभाया रिश्तों को हमने जब तक उनमें आखिरी जान थी, जब लगा अब ये हमारी ही जान पर बन आए तो हमनें भी उन्हें अलविदा कहना ही मुनासिब समझा। आज फ़िर वो क्यों कहते हैं , उन्हें हमारा इंतेज़ार है कल तो थी नफ़रत बेहिसाब फ़िर क्यों आज हमसे प्यार है। तब तो हमारी मोहब्बत भी लगती थी उन्हें बेवफाई, तो आज हमारी बेवफाई पर भी क्यों नजर आती उन्हें प्यार भरी इंकार है। ___Satyprabha💕 __My Life ✍"

अलविदा जीते रहे हम उनकी एक मुलाक़ात की आश लेकर,ताउम्र
तनहाईयों में भी उम्मीद का दिया जलाएं रखा,
करते रहे वो सितम दर सितम, शायद उन्होंने कभी
हमें अपने लायक ना समझा।

निभाया रिश्तों को हमने जब तक उनमें आखिरी जान थी,
जब लगा अब ये हमारी ही जान पर बन आए तो हमनें
भी उन्हें  अलविदा कहना ही मुनासिब समझा।

आज फ़िर वो क्यों कहते हैं , उन्हें हमारा इंतेज़ार है
कल तो थी नफ़रत बेहिसाब फ़िर क्यों आज हमसे प्यार है।
तब तो हमारी मोहब्बत भी लगती थी उन्हें बेवफाई,
तो आज हमारी बेवफाई पर भी क्यों नजर आती उन्हें प्यार 
भरी इंकार  है।

___Satyprabha💕
                   __My Life ✍

#अलविदा
✍✍✍

157 Love

""

"अलविदा Aaj kyu na alwida kr De in dhadkno ko.. jisne tere na hone pr bhi dhadkna nhi chhoda....."

अलविदा Aaj kyu na alwida kr De in dhadkno ko..
jisne tere na hone pr bhi dhadkna nhi chhoda.....

#Alwida

148 Love

""

"अलविदा ★★{{ सैनिक के अंतिम शब्द }}★★ अपने तन पर तिरंगा लपेटे हुए , सारे सपने पलको में समेटे हुए । अलविदा तुझको ए जाने वतन... हम चले तुझे सबकुछ लुटाते हुए ।१। नया कारवां तुझको सजाना पड़ेगा , प्रेम का वृक्ष तुझको लगाना पड़ेगा । हो मंजिलो पर कांटे फिर भी मग़र. अपना डगर तुझको बनाना पड़ेगा ।२। जीत का जश्न दिल से मनाना सभी , मौत पर मेरे न आंसू बहाना कभी । है शहादत भी इबादत की चाँदनी.. माँ है ये धरा न भूल जाना कभी ।३। कवि राहुल पाल"

अलविदा  ★★{{ सैनिक के अंतिम शब्द }}★★
अपने तन पर तिरंगा लपेटे हुए ,
सारे सपने पलको में समेटे हुए ।
अलविदा तुझको ए जाने वतन...
     हम चले तुझे सबकुछ लुटाते हुए ।१। 
 नया कारवां तुझको सजाना पड़ेगा ,
 प्रेम का वृक्ष तुझको लगाना पड़ेगा ।
हो मंजिलो पर कांटे फिर भी मग़र.
   अपना डगर तुझको बनाना पड़ेगा ।२।
 जीत का जश्न दिल से मनाना सभी ,
मौत पर मेरे न आंसू बहाना कभी ।
है शहादत भी इबादत की चाँदनी..
  माँ है ये धरा न भूल जाना कभी ।३।
कवि राहुल पाल

#alvida
★★{{ सैनिक के अंतिम शब्द }}★★
अपने तन पर तिरंगा लपेटे हुए ,
सारे सपने पलको में समेटे हुए ।
अलविदा तुझको ए जाने वतन...
हम चले तुझे सबकुछ लुटाते हुए ।१।
नया कारवां तुझको सजाना पड़ेगा ,
प्रेम का वृक्ष तुझको लगाना पड़ेगा ।

147 Love