it's a poem of love,one sided love,cheat... means mixture of feeli...

it's a poem of love,one sided love,cheat...
means mixture of feelings...
ye kavita maine apne colg ki ek ladki ko dekhkar likha hu..
jo ki mere colg ki girls common room me dikhi thi..
ye girls common room ek khali chhota sa hall type ka room hai..
so padhiye aur btayiyega ki kaisi likhi hai ye kavita...kavita caption me hai...
😊😊

it's a poem of love,one sided love,cheat... means mixture of feelings... ye kavita maine apne colg ki ek ladki ko dekhkar likha hu.. jo ki mere colg ki girls common room me dikhi thi.. ye girls common room ek khali chhota sa hall type ka room hai.. so padhiye aur btayiyega ki kaisi likhi hai ye kavita...kavita caption me hai... 😊😊

वो लड़की girls common room ki,
सपनों में आती है अब,नींदें मेरी चुराती है।
शर्माती है,दुपट्टे से अपना वो चेहरा छिपाती है,
नज़रों से क्या कहे ,क्या सितम वो ढाहती है,
बस ज़िंदा तो रहता हूं, जां लेकर वो जाती है।
वो लड़की girls common room ki....
उसके चेहरे की हंसी,मेरी सांसे रुकी,
मेरी धड़कनों को तेज कर जाती है।
कभी गुजरती है वो जो पास से मेरे,
मेरी नज़रे वहीं थम जाती है।
कैसे बताऊं उसे दिल की ये बातें,
सामने कत्ल ज़ुबां की हो जाती है।
वो लड़की girls common room ki...
सपनों में आती है अब,नींदें मेरी चुराती है।
कुछ न भाता मुझे, अब तो उसके बिना,
उससे दूरी सही नहीं जाती है।
उसका भोलापन,उसकी सादगी प्यारी ,
मुझे उसका दीवाना बनाती है।
बातें करने का मन तो बहुत है मगर,
सामने धड़कने मेरी बढ़ जाती है।
वो लड़की girls common room ki..
जब भी सामने मेरे आ जाती है..।
जब भी रूठे मुझे,कुछ न अच्छा लगे,
अपने साथ मुझे भी रुलाती है।
उसकी हंसी की खातिर,मै कुछ भी करू,
चाहे जा मेरी क्यों न जाती है।
मुझे परवाह नहीं, अब दुनिया की कोई,
मेरी दुनिया वहीं बन जाती है।
वो लड़की girls common room ki..
कभी मुझसे जो हाथ मिलाती है...
छोङू न हाथ,मरते दम तक दू साथ,
पर अफसोस,कई जख्म कुरेद कर जाती है।
संभालता हूं खुद को,हट जाता हूं पीछे,
कुछ यादें जीने नहीं देती है।
डर लगता है अब तो प्यार से मुझे,
उसे देख ये गलती हो जाती है।
उसकी बाते अब मै कैसे कहूं,
मेरी जख्मों पर मरहम लगाती है।
वो लड़की girls common room ki..
मेरे दिल को बहुत लुभाती है।
शर्माती है, दुपट्टे से अपना वो , हाय!!चेहरा छिपाती है,
नज़रों से क्या कहे ,क्या सितम वो ढाहती है,
वो लड़की girls common room ki..
सपनों में मेरे अब आती है,नींदें मेरी चुराती है...2।
- आर्यावर्त वेद प्रकाश।






Vinay Prakash Shastri Akshita Jangid(poetess) Esha Joshi Haimi Kumari Harishita Singh

People who shared love close

More like this