आओ हम और तुम मोहब्बत कर लेते है तुम कर लो निकाह क़बूल और हम मांग भर...

आओ हम और तुम मोहब्बत कर लेते है
तुम कर लो निकाह क़बूल और हम मांग भर देते है
क्या होगा इंतकाम सब को कह देते है
मैं केशरिया बाना और तुम हरी पोशाक पहन लेते है
आओ हम और तुम एक साथ,
सफेद कफ़न में सो जाते है।
       अरे! मज़हब के रखवाले जाने क्या कहेगें
       तुम्हें फ़तवा और हमें भगवा देंगे
       आओ फिर भी हम और तुम मोहब्बत कर लेते है
       जाने हम और तुम किस-किस बात से डर लेते है।
तमाम हदें आज पार कर लेते हैं
खानदान भी सारा खिलाफ़ कर लेते है
आओ बाप की पगड़ी आज उछाल देते है
बन पियादे आज तिरछी चाल लेते है
आओ हम और तुम मोहब्बत कर लेते है
सारे क़ायनात में एक ही काला रंग कर देते है।
मैं मंत्र और तुम आयतें याद कर लेना
मैं तेहरवीं पर सब्जी-पूड़ी 
और तुम चालीसवें दिन खीर बना देना
अरे! मुफ़्त की रेवड़ियों पर कहीं राजनेताओं का मेला ना लग जाये
ऐसा करना कि तुम घर के बाहर 'नोटो' लिख देना
क्या पता कोई फूल पकड़ा के हाथ मिला जाये
बिन पूछें ही कोई अपनी मजार पर झाड़ू लगा आये।
आओ फिर भी हम और तुम मोहब्बत कर लेते है।

आओ हम और तुम मोहब्बत कर लेते है तुम कर लो निकाह क़बूल और हम मांग भर देते है क्या होगा इंतकाम सब को कह देते है मैं केशरिया बाना और तुम हरी पोशाक पहन लेते है आओ हम और तुम एक साथ, सफेद कफ़न में सो जाते है। अरे! मज़हब के रखवाले जाने क्या कहेगें तुम्हें फ़तवा और हमें भगवा देंगे आओ फिर भी हम और तुम मोहब्बत कर लेते है जाने हम और तुम किस-किस बात से डर लेते है। तमाम हदें आज पार कर लेते हैं खानदान भी सारा खिलाफ़ कर लेते है आओ बाप की पगड़ी आज उछाल देते है बन पियादे आज तिरछी चाल लेते है आओ हम और तुम मोहब्बत कर लेते है सारे क़ायनात में एक ही काला रंग कर देते है। मैं मंत्र और तुम आयतें याद कर लेना मैं तेहरवीं पर सब्जी-पूड़ी और तुम चालीसवें दिन खीर बना देना अरे! मुफ़्त की रेवड़ियों पर कहीं राजनेताओं का मेला ना लग जाये ऐसा करना कि तुम घर के बाहर 'नोटो' लिख देना क्या पता कोई फूल पकड़ा के हाथ मिला जाये बिन पूछें ही कोई अपनी मजार पर झाड़ू लगा आये। आओ फिर भी हम और तुम मोहब्बत कर लेते है।

#nojoto #hindi #lovequote #poetry

People who shared love close

More like this