कहीं अग्नि कहीं अथाह अंधकार औऱ कहीं मैं फ़फ़कते धुएँ

"कहीं अग्नि कहीं अथाह अंधकार औऱ कहीं मैं फ़फ़कते धुएँ सा...✍🏼"

कहीं अग्नि कहीं अथाह अंधकार औऱ कहीं मैं फ़फ़कते धुएँ सा...✍🏼

कहीं अग्नि कहीं अथाह अंधकार औऱ कहीं मैं फ़फ़कते धुएँ सा...✍🏼

#हम_धुआँ_धुँआ

People who shared love close

More like this