kanchan Yadav

kanchan Yadav

जहां ना पहुंचे रवि वहा पहुंचे कवि YOUTUBE CHANNEL: POEMS FROM HEART

  • Latest
  • Popular
  • Video
#विचार  चला चल मुसाफिर यूं अकेला 
दुनिया में हैं बड़ा गड़बडझोला
विश्वास करे ना विश्वास का कोई मौला तोला
अपना काम निकले ना मैं तेरा ना तू मेरा
चला चल मुसाफिर यूं अकेला********

©kanchan Yadav

#Life

69 View

#कविता #लालसा  खुद की परछाई से अब डर लगता है
कब साथ छोड़ दे कहां पता चलता है

सांसों की डोर भी कमजोर पड़ी
मन है कि जीने को और करता है
खुद की परछाई से अब डर लगता है
 कब साथ छोड़ दे कहां पता चल
 
लालसा आशा से जी कहां भरता है
जितना भी मिले जीवन में कम लगता है
खुद की परछाई से अब डर लगता है
 कब साथ छोड़ दे कहां पता चलता है

©kanchan Yadav
#विचार #Dosti

#Dosti

348 View

#विचार #ligeexperience  " जब मन ज्यादा उछलने लगे
अहम का वहम बढ़ने लगे

स्वयं को बड़ा दूसरे छोटे लगे
संस्कार तमीज के लहजे घटने लगे

अहंकार सर चढ़ने लगे
स्वयं का दिखावा सजने लगे

हीरे मोती सोना चांदी अपने लगे
अपने जब चुभने लगे 

एक रात शमशान जाकर गुजारे
स्वयं हकीकत समझने लगे

ज्यादा उछलने लगे********!"

©kanchan Yadav
#शायरी  " इजहारे ए मोहब्बत से डर नहीं लगता
 डर तो मोहब्बत होने का है
मासूम सी जिंदगी को तूफान के बवंडर में खोने का है
शांत दिलो-दिमाग के संतुलन का उथल पुथल होने का है
इजहार ए मोहब्बत से डर नहीं लगता 
डर तो मोहब्बत होने का है ।।"

©kanchan Yadav

" इजहारे ए मोहब्बत से डर नहीं लगता डर तो मोहब्बत होने का है मासूम सी जिंदगी को तूफान के बवंडर में खोने का है शांत दिलो-दिमाग के संतुलन का उथल पुथल होने का है इजहार ए मोहब्बत से डर नहीं लगता डर तो मोहब्बत होने का है ।।" ©kanchan Yadav

120 View

#विचार  जिंदगी  का रेला चले किस्मत का खेला
कभी साथ तो कभी इंसान रहे अकेला

मजबूरियों ने तो कभी  परेशानियों ने धकेला
कहीं सच्चाई का आईना तो कहीं बेइमानियो को झेला

जिंदगी  का रेला चले किस्मत का खेला

गुजर बसर तन्हाइयों में तो कभी चमचमआहट मेला
सुख शांति का माहौल तो पल अगले झमेला

जिंदगी का रेला चले किस्मत का खेला ।।

©kanchan Yadav

#Life

40 View

Trending Topic