Kiran malav

Kiran malav Lives in Kota, Rajasthan, India

🌈🌈a small boat on the ocean🌊🛶...... insta I'd @onethird_sunshine

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"सवाल तो है ये उसका एकदम सच क्यों है उसका गहराई से जिक्र मेरे पन्नों पर ? कल समय था और साथ थी उसकी वो डायरी समय आज भी है अब मैंने पंक्तियां बना दी उसने सुझाव दिया  मैंने जिंदगी सरल कर ली नज़रिया बदला और थोड़ा खुशियों की खोज का जरिया मुस्कुराहट आई पार कर लिया हर दरिया उम्मीद है मैंने शायद उसके सवाल को सही हल किया....."

सवाल तो है ये 
उसका एकदम सच
क्यों है उसका गहराई से जिक्र
मेरे पन्नों पर ?
कल समय था और साथ थी 
उसकी वो डायरी
समय आज भी है 
अब मैंने पंक्तियां बना दी
उसने सुझाव दिया 
मैंने जिंदगी सरल कर ली
नज़रिया बदला और 
थोड़ा खुशियों की खोज का जरिया
मुस्कुराहट आई 
पार कर लिया हर दरिया
 उम्मीद है मैंने शायद
उसके सवाल को सही हल किया.....

📮📧♾📅📚

260 Love
1 Share

"फर्क पड़ रहा है ..... कुछ तो असामान्य गति से बदल रहा है पर तुम हकीकत हो कोई ख्वाब नहीं जाते हैं जिधर सब मैं उधर आखिर क्यों नहीं ? हर बार तेरी महफिल मैं कुछ सुकून तो मिलता फिर भी मैं अपने ही उलझी हुई राहों का तमाशा बस तुझे गुनगुनाना चाहती हूं एक पसंदीदा संगीत बनाना चाहती हूं छा रहा है सारी बस्ती में घनघोर अंधेरा रोशनी हो भी तो मगर कैसे ? घर जलाना नहीं मैं तो बस बुझाना चाहती हूं......"

फर्क पड़ रहा है ..... 
कुछ तो असामान्य गति से बदल रहा है 
पर तुम हकीकत हो कोई ख्वाब नहीं 
जाते हैं जिधर सब मैं उधर आखिर क्यों नहीं ?
हर बार तेरी महफिल मैं कुछ सुकून तो मिलता
फिर भी मैं अपने ही उलझी हुई राहों का तमाशा
बस तुझे गुनगुनाना चाहती हूं
एक पसंदीदा संगीत बनाना चाहती हूं
छा रहा है सारी बस्ती में घनघोर अंधेरा 
 रोशनी हो भी तो मगर कैसे  ?
घर जलाना नहीं मैं तो बस बुझाना चाहती हूं......

⚕⚕🔙⚜️🔕

238 Love

"मैं और मेरा कल कुछ दबे-छुपे से पल वक्त , सोच , और जज्बात रख दिए अब संभाल बारिशें , तारे ,और वो चांद मैं और मेरा आज......."

मैं और मेरा कल
कुछ दबे-छुपे से पल
वक्त , सोच , और जज्बात
रख दिए अब संभाल 
बारिशें , तारे ,और वो चांद
मैं और मेरा आज.......

✴️🏁📠📦......

220 Love

"Sbdo pr nhi baat ki ghrai me  jaeiye Me hu khamosh jha , mujko vha se suniye ,smjaiye ,btaiye , jtaiye kl raat Chand vha tkha hua sa tha pura prr mujhe to amavsya se bhi nhi he gilha Andere se nhi ,Chand ki rosni ko khone se drta he mn tujhe bhand nhi rhi , bss nakaam kosis he meri Uske spno me aaker usi ke liye likh rhi hu Baat Kya ye kha kuch km he ......"

Sbdo pr nhi baat ki ghrai me  jaeiye 
Me hu khamosh jha , mujko vha se suniye ,smjaiye ,btaiye , jtaiye
kl raat  Chand vha  tkha hua sa tha pura 
prr mujhe to amavsya se bhi nhi he gilha
Andere se nhi ,Chand ki rosni ko khone se drta he mn  
tujhe  bhand nhi rhi ,  bss nakaam kosis he meri
Uske spno me aaker usi ke liye likh rhi hu 
Baat Kya ye kha kuch km he ......

🙈🍃🌈👍

217 Love

"हम आसमान पे जाकर जमीन ढूंढते रहे मिले जो तुम तो वक्त हमारे बदल गए ये चांदनी यह चांद-सितारे बदल गए जब से आ गई बहार गुलिस्ता में रोनक आई चमन के नजारे बदल गए भटक रही थी कश्ती तुम किनारे बन गए जब फर्क समझा तो जिंदगी के सहारे बदल गए......."

हम आसमान पे जाकर जमीन ढूंढते रहे 
मिले जो तुम तो वक्त हमारे बदल गए 
ये चांदनी यह चांद-सितारे बदल गए
जब से आ गई बहार गुलिस्ता में 
रोनक आई चमन के नजारे बदल गए
भटक रही थी कश्ती तुम किनारे बन गए
 जब फर्क समझा तो जिंदगी के सहारे बदल गए.......

😺☄️🌠🐼🐬.....

199 Love