Radhika Rathore

Radhika Rathore Lives in Haldwani, Uttarakhand, India

वस्ल की रात लिखती,हिज़्र का इज़हार लिखती हूँ। लिखी मैंने मोहब्बत है,हाँ मैं तो प्यार लिखती हूँ। कलम नन्ही हूँ तो हल्के में मत लेना मुझे क्योंकि... कृष्ण की💌राधिका💌हूँ मैं तो बस श्रृंगार लिखती हूँ।। ✍️राधा_राठौर♂...

www.instagram.com/radhikarathore22

  • Latest
  • Popular
  • Repost
  • Video

""

"ख्वाब में तेरा आना-जाना लगा हुआ है। हमको तो एक मर्ज़ पुराना लगा हुआ है। सोच वो लड़की क्यों तेरे पीछे लगी हुई है... जिसके पीछे सारा ज़माना लगा हुआ है।। ✍️राधा_राठौर♂"

ख्वाब में तेरा आना-जाना लगा हुआ है।
हमको तो एक मर्ज़ पुराना लगा हुआ है।
सोच वो लड़की क्यों तेरे पीछे लगी हुई है...
जिसके पीछे सारा ज़माना लगा हुआ है।।
✍️राधा_राठौर♂

ख्वाब में तेरा आना-जाना लगा हुआ है।
हमको तो एक मर्ज़ पुराना लगा हुआ है।
सोच वो लड़की क्यों तेरे पीछे लगी हुई है...
जिसके पीछे सारा ज़माना लगा हुआ है।।
✍️राधा_राठौर♂
#shayri #Nojoto #Poetry #Love

84 Love

jhuthi hi shi muskan honi chahiye ...🥰.... #NojotoOpenMIC #Nojoto #nojotoshayri #Taameer #shayri #kavita

73 Love
1.0K Views

""

"सोच कयी उठ रहीं हैं ,सोच कर हैरान हूँ मैं। देश में ही देश के लिए गद्दारी देख परेशान हूँ मैं। अपने परिवार के ही सदस्य जहाँ रच रहें हो षडयंत्रों के घेरे.... हाँ ऐसा ही एक #अधूरा हिन्दुस्तान# हूँ मैं।। ✍️राधा_राठौर♂"

सोच कयी उठ रहीं हैं ,सोच कर हैरान हूँ मैं।
देश में ही देश के लिए गद्दारी देख परेशान हूँ मैं।
अपने परिवार के ही सदस्य जहाँ रच रहें हो षडयंत्रों के घेरे....
हाँ ऐसा ही एक #अधूरा हिन्दुस्तान# हूँ मैं।।
✍️राधा_राठौर♂

सोच कयी उठ रहीं हैं ,सोच कर हैरान हूँ मैं।
देश में ही देश के लिए गद्दारी देख परेशान हूँ मैं।
अपने परिवार के ही सदस्य जहाँ रच रहें हो षडयंत्रों के घेरे....
हाँ ऐसा ही एक
#अधूरा_हिन्दुस्तान# हूँ मैं।।
✍️राधा_राठौर♂ #radhika_rathore♂

108 Love

""

"डालों से जब-जब पत्ते झड़ जाते हैं। घटती है तब नींद,..ख्वाब बढ़ जाते हैं। वो दिन भर बस हमसे लड़ता रहता है... जिसकी ख़ातिर हम सब से लड़ जाते हैं।। ✍️राधा_राठौर♂"

डालों  से  जब-जब  पत्ते झड़ जाते हैं।
घटती है तब नींद,..ख्वाब बढ़ जाते हैं।
वो दिन भर बस हमसे लड़ता रहता है...
जिसकी ख़ातिर हम सब से लड़ जाते हैं।।
✍️राधा_राठौर♂

डालों से जब-जब पत्ते झड़ जाते हैं।
घटती है तब नींद,..ख्वाब बढ़ जाते हैं।
वो दिन भर बस हमसे लड़ता रहता है...
जिसकी ख़ातिर हम सब से लड़ जाते हैं।।
✍️राधा_राठौर♂

#Stories #quoteoftheday #quotestagram #wordsofwisdom #inspirationalquotes #Thoughts #Poetry #nojoto #Love

84 Love
1 Share

""

"बे- रंग मौसम भी पसंद आयेगा। तेरा दिया गम भी पसंद आयेगा। चाह ज़्यादा की कभी की ही नहीं इश्क़ तेरा कम भी पसंद आयेगा।| ✍️राधा_राठौर♂"

बे- रंग मौसम भी पसंद आयेगा।
तेरा दिया गम भी पसंद आयेगा।
चाह ज़्यादा की कभी की ही नहीं
इश्क़ तेरा कम भी पसंद आयेगा।|
✍️राधा_राठौर♂

बे- रंग मौसम भी पसंद आयेगा।
तेरा दिया गम भी पसंद आयेगा।
चाह ज़्यादा की कभी की ही नहीं
इश्क़ तेरा कम भी पसंद आयेगा।
✍️राधा_राठौर♂

82 Love