vivek hardaha

vivek hardaha Lives in Korba, Chhattisgarh, India

Writes just for fun and calm my feelings Through my pen....... 🏔️🏕️lived In Bilaspur (C.G.)🏘️ 🏞️From Korba 🏣 🎇🎉wish me on june 1⃣1⃣🍻🍰 ️🔧🔨 tragedy....Engineer hu Woh bhi Mechanical 🛠️🚿 Leave me msg with/without identity hardaha91.sarahah.com Tag me on #hardaha Whatsapp : 9038044808

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"फ़िर ख्वाहिशों ने आज उड़ान पकड़ी है, तेरी मौजूदगी मानो सालों मुझे जकड़ी है..... बेवजह सोचता था मैं तुझे खुद से पहले, अब तन्हाई में जाकर ये बात समझ आयी है...."

फ़िर ख्वाहिशों ने आज उड़ान पकड़ी है,
तेरी मौजूदगी मानो सालों मुझे जकड़ी है.....
बेवजह सोचता था मैं तुझे खुद से पहले,
अब तन्हाई में जाकर ये बात समझ आयी है....

#nojoto #nojotohindi #Hindi #Hindipoetry #Poetry #Quotes #myquote #Love #hardaha #apnabilaspur #157

98 Love
6 Share

"#DearZindagi मत कर कोशिश ज़िन्दगी को समझने में, उसी में उलझता चला जायेगा, ज़िन्दगी की गहराई में जो तू डूबेगा, उसी में खो के रह जायेगा।"

#DearZindagi मत कर कोशिश ज़िन्दगी को समझने में,
उसी में उलझता चला जायेगा,
ज़िन्दगी की गहराई में जो तू डूबेगा,
उसी में खो के रह जायेगा।

#DearZindagi #nojoto #nojotohindi #Hindi #Hindipoetry #Poetry #Quotes #myquote #Love #hardaha #apnabilaspur #177

65 Love
4 Share

"तुम यादों में हो या आज में, नींदो मे हो या हक़ीक़त में......... कलम की बातें हैं पढ़ना जरूर, ज़िंदगी का राज़ छुपा हैं, मेरी आँखों में....... "

तुम यादों में हो या आज में,
नींदो मे हो या हक़ीक़त में.........

कलम की बातें हैं पढ़ना जरूर,
ज़िंदगी का राज़ छुपा हैं, मेरी आँखों में.......

#Nojoto #Nojotohindi #Hindi #Hindipoetry #Poetry #Quotes #myquote #Love #hardaha #apnabilaspur #48

59 Love

"तेरी यादों को सिरहाना समझ लेता हूँ, सपनों में तेरे दीदार के लिये..."

तेरी यादों को सिरहाना समझ लेता हूँ,
सपनों में तेरे दीदार के लिये...

#nojoto #nojotohindi #Hindi #Hindipoetry #Poetry #Quotes #myquote #Love #hardaha #apnabilaspur #163

51 Love

"मज़हब के नाम पे राम को रहीम से लड़ा रहे थे, झूठे वादे करके गरीब को और गरीब बना रहे थे, सत्ता के लोभी घर में बैठे आराम से मुस्कुरा रहे थे, संवेदनाओं के बीच सारा देश जला रहे थे।।"

मज़हब के नाम पे राम को रहीम से लड़ा रहे थे,
झूठे वादे करके गरीब को और गरीब बना रहे थे,
सत्ता के लोभी घर में बैठे आराम से मुस्कुरा रहे थे,
संवेदनाओं के बीच सारा देश जला रहे थे।।

#hamariadhurikahani #CTL #MeriKahani #nojoto #nojotohindi #Hindi #Hindipoetry #Poetry #Quotes #myquote #Love #hardaha #apnabilaspur #172

48 Love
2 Share