Subhash Regar

Subhash Regar Lives in Udaipur, Rajasthan, India

Abhi kuch Nahi hu

  • Latest
  • Popular
  • Repost
  • Video

""

"खुद सा मिला था मे कल और आज मे मतलबी हो गया ।। ©Subhash Regar"

खुद सा मिला था मे कल
और आज मे मतलबी हो गया ।।

©Subhash Regar

#standAlone

24 Love

""

"एकांत मे रहता हूँ, अपने मे रहता हूँ।। बाहरी दुनिया कैसी है, ये मै जानता हूँ ।। मुस्कुराता नही बस, लेकिन मे दुसरो की खुशी के लिये जीता हूँ ।। बिना जाने ठुकराया हुआ शख्स हूँ ।। लायक बन नीचा दिखाऊ ऐसा नही हूँ ।। लेकिन लायक बनना जरूरी समझता हूँ ।। ©Subhash Regar"

एकांत मे रहता हूँ, अपने मे रहता हूँ।।      
बाहरी दुनिया कैसी है, ये मै जानता हूँ ।। 
मुस्कुराता नही बस, 
लेकिन मे दुसरो की खुशी के लिये जीता हूँ ।। 
बिना जाने ठुकराया हुआ शख्स हूँ ।। 
 लायक बन नीचा दिखाऊ ऐसा नही हूँ ।। 
लेकिन लायक बनना जरूरी समझता हूँ ।।

©Subhash Regar

#Morning

25 Love

""

"मायुस सा रहने लगा था, नजरे उठा कर लोगों को देखा तो पता चला मायुस अकेला नही हूँ , फिर मै मुस्कुराया और मे अलग हो गया Yahi Life Hai Compitision Har Jagah Hai, Depend Aap Per Karta Hai Aap Kya Choice Karta Hai ©Subhash Regar"

मायुस सा रहने लगा था,
 नजरे उठा कर लोगों को देखा 
तो पता चला मायुस अकेला नही हूँ , 
फिर मै मुस्कुराया 
और मे अलग हो गया



Yahi Life Hai Compitision Har Jagah Hai,
 Depend Aap Per Karta Hai Aap Kya Choice Karta Hai

©Subhash Regar

#Morning

23 Love

""

"चुटकी मे तमन्नाऐं राख कर देती है मजबुरीयाँ ©Subhash Regar"

चुटकी मे तमन्नाऐं राख कर देती है
मजबुरीयाँ

©Subhash Regar

#feellove

26 Love

""

"मुमताज को मोहब्बत की तवज्जु भी मौत के बाद मिली कब्र को दिवारो से कैद कर ताजमहल बनाया और कहा मोहब्बत की इमारत है ताजमहल जरा मेरी बात पर ध्यान दिजियेगा शाहजहाँ को मोहब्बत होती, मुमताज के जीते जी ताजमहल बनाता रोज हरम मे जा कर नये नये जिस्मो के साथ हवस नही बुझाता ©Subhash Regar"

मुमताज को मोहब्बत की तवज्जु भी मौत के बाद मिली
कब्र को दिवारो से कैद कर ताजमहल बनाया 
और कहा मोहब्बत की इमारत है ताजमहल

जरा मेरी बात पर ध्यान दिजियेगा
शाहजहाँ को मोहब्बत होती, 
मुमताज के जीते जी ताजमहल बनाता
रोज हरम मे जा कर नये नये 
जिस्मो के साथ हवस नही बुझाता

©Subhash Regar

#lovetaj

21 Love