Achal Sharma

Achal Sharma Lives in Kanpur, Uttar Pradesh, India

I share my Life on Nojoto & I write

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"क़ुर्बतें हद से गुज़र जाएँ तो ग़म मिलते हैं हम इसी वास्ते हर शख़्स से कम मिलते हैं"

क़ुर्बतें हद से गुज़र जाएँ तो ग़म मिलते हैं
हम इसी वास्ते हर शख़्स से कम मिलते हैं

#Nojoto

740 Love
40 Share

"Happy Dussehra दशहरा: अत्याचार पर सदाचार की विजय क्रोध पर दया, क्षमा की विजय अज्ञान पर ज्ञान की विजय रावण पर श्रीराम की विजय के प्रतीक पावन पर्व Happy Dussehra"

Happy Dussehra  दशहरा: अत्याचार पर सदाचार की विजय क्रोध पर दया, क्षमा की विजय अज्ञान पर ज्ञान की विजय रावण पर श्रीराम की विजय के प्रतीक पावन पर्व Happy Dussehra

Happy Dussehra
दशहरा: अत्याचार पर सदाचार की विजय क्रोध पर दया, क्षमा की विजय अज्ञान पर ज्ञान की विजय रावण पर श्रीराम की विजय के प्रतीक पावन पर्व Happy dussehra

439 Love
1 Share

"रिश्ते कभी भी सबसे जीतकर नहीं निभाए जा सकते. रिश्तों की खुशहाली के लिए झुकना होता है, सहना होता है, दूसरों को जिताना होता है और स्वयं हारना होता है. सच्चे रिश्ते ही वास्तविक पूँजी है।"

रिश्ते कभी भी सबसे जीतकर नहीं निभाए जा सकते. रिश्तों की खुशहाली के लिए झुकना होता है, सहना होता है, दूसरों को जिताना होता है और स्वयं हारना होता है. सच्चे रिश्ते ही वास्तविक पूँजी है।

रिश्ते कभी भी सबसे जीतकर नहीं निभाए जा सकते. रिश्तों की खुशहाली के लिए झुकना होता है, सहना होता है, दूसरों को जिताना होता है और स्वयं हारना होता है. सच्चे रिश्ते ही वास्तविक पूँजी है।

416 Love
1 Share

"रिश्ते कभी जिंदगी के साथ साथ नहीं चलते, रिश्ते एक बार बनते हैं, फिर जिंदगी रिश्तों के साथ साथ चलती है।"

रिश्ते कभी जिंदगी के साथ साथ नहीं चलते,
रिश्ते एक बार बनते हैं, फिर जिंदगी रिश्तों के साथ साथ चलती है।

रिश्ते कभी जिंदगी के साथ साथ नहीं चलते,
रिश्ते एक बार बनते हैं, फिर जिंदगी रिश्तों के साथ साथ चलती है।

411 Love

 

343 Love
4 Share