Kaushal Kumar

Kaushal Kumar

जब दर्द और कड़वी बोली,दोनों मीठी लगने लगे, तब समाज लीजिये की जीना आ गया...

  • Latest Stories

जब #दर्द और #कड़वी बोली,दोनों #मीठी लगने लगे,
तब समाज लीजिये की जीना आ गया.

271 Love
6 Share

ना तो इतने #कडवे बनो कोई #बर्दास्त ना कर सके
और नाही इतने #मीठे बनो की कोई निगल जाए

Na To Itane #Kadave Bano Koee Bardaast Na Kar Sake
Aur Naahi Itane #Meethe Bano Ki Koye Nigal Jae

#Dosti #Life #lover #love_you

235 Love
3 Share

एक #दिन हम सब दुसरे को यही #सोच सोच कर खो देंगे
की वो मुझे याद नहीं करते तो हम क्यों याद करे

Ek #Din Ham Sab Dusare Ko Yahi #Soch Soch Kar Kho Denge
Kee Vo Mujhe Yaad Nahin Karate To Ham Kyon Yaad Kare

#Dosti #Life #lover #love_you

213 Love
2 Share