Nojoto: Largest Storytelling Platform
rjkrishna6605
  • 37Stories
  • 1.1KFollowers
  • 2.2KLove
    20.2KViews

Rj Kant krishn kant

क्षीण हो जाती हसरतें गालिब, गर मंजिले ज़ुस्तज़ु का जज़्ब ना होता ।

  • Popular
  • Latest
  • Repost
  • Video
3784b308d024a517c94e56d27ff65ed1

Rj Kant krishn kant

White जीव से जीव का क्या नाता !
खुद को बस खुद से ही तो बिछड़ना है !!

©Rj Kant krishn kant
  #sad_shayari
3784b308d024a517c94e56d27ff65ed1

Rj Kant krishn kant

Vishnu Bhagwan भास ?

भास से भाषा,
भाषा से विचार,
विचारो से चिंतन,
और चिंतन में सिर्फ कलिकाल।

राधा राधा

©Rj Kant krishn kant
  स्वाध्याय

स्वाध्याय #मोटिवेशनल

3784b308d024a517c94e56d27ff65ed1

Rj Kant krishn kant

मतलब के लिए हर कोई अपना देखा है। 
कुछ नहीं लेकर जाऊँगा मैं साथ अपने, 
फिर भी बहुत कुछ बनाने का सपना देखा है।।

©Rj Kant krishn kant
  #Identity
3784b308d024a517c94e56d27ff65ed1

Rj Kant krishn kant

ओ रे खुदा,,,,
ओ रे खुदा, 
तू ही बता, 
क्यों सुकूनो में सबको तू मिलता नहीं। 

ओ रे खुदा,,,,
ओ रे खुदा, 
तू ही बता, 
तू ही बता,।।

©Rj Kant krishn kant
  #adventure  Ankita Tantuway Sudha Tripathi Anupriya Yogita Agarwal indu singh

#adventure Ankita Tantuway Sudha Tripathi Anupriya Yogita Agarwal indu singh #ज़िन्दगी

3784b308d024a517c94e56d27ff65ed1

Rj Kant krishn kant

सबको लगता है मैं किसान हूं!

अरे नही भाई मैं भी इंसान हूं।
कमाता हूं यार मैं भी, कमाने धमाने वाला इंसान हूं।

जोतता हूं, बोता हूं, सींचता हूं।
फिर भी कभी कभी कुदरत मार जाती है।

sorry sorry 🙏
कुदरत नहीं!
मेरी नीयत मार जाती है। 🙂

कभी कभी कुछ दिन,,,,,,,,।
देरी से!

और कभी कभी कुछ ही क्षणों में।

मेरा हिसाब भी हो जाता है ।
जैसी मैं भी और इंसानों की तरह नीयत रखता हूं,
कुदरत भी मेरी नीयत के हिसाब से,
कभी आंधी के तराजू में।
कभी बारिश के तराजू।
तो कभी कभी ओलो और बर्फ के तराजू में मेरी फसल को तोल देता है।

मैं भी तो तुम जैसा ही हूं ना।

और सबको देख लो अभी भी ये लग रहा होगा मैं किसान हूं।

😅😅😅
अरे नही भाई, मैं भी इंसान हूं!!

©Rj Kant krishn kant
  RAVINANDAN Tiwari  bhumika rani mansi sahu Anupriya Vandana Mishra

RAVINANDAN Tiwari bhumika rani mansi sahu Anupriya Vandana Mishra #ज़िन्दगी

3784b308d024a517c94e56d27ff65ed1

Rj Kant krishn kant

पता है हम लोग कब अपनी ज़िन्दगी में अपने आप को अकेला कर लेते हैं। 

जब सवाल भी हमारे खुद के होते हैं, और फैसला भी हम खुद कर लेते हैं।।

फिर चाहे बो, 
सवाल किसी से भी हों।।

©Rj Kant krishn kant #Top  Geeta Modi indira दुर्लभ "दर्शन" NIDHI Dhyaan mira  Priya Godiyal  Sudha Tripathi lekhak sandesh Ankita Tantuway vks Siyag

#Top Geeta Modi indira दुर्लभ "दर्शन" NIDHI Dhyaan mira Priya Godiyal Sudha Tripathi lekhak sandesh Ankita Tantuway vks Siyag #विचार

3784b308d024a517c94e56d27ff65ed1

Rj Kant krishn kant

अगर आप दुःखी हो। 
और आपको लगता है, आपके कर्मो की वजह से आप दुखी हो। 
तो इस बार भी आप गलत ही हो।। 

कर्मो की सिर्फ आपको सजा मिलती है। 
दुखी, 
इंसान अपने मन के कारण होता है।। 

फिर वह बहुत लम्बे समय तक भी दुःखी रह सकता है, जिसका कोई इलाज नही ,,,,,,!

©Rj Kant krishn kant
3784b308d024a517c94e56d27ff65ed1

Rj Kant krishn kant

हो ही गया एक और दिन का अंत। 
और जिस
जिस अंत का intezaar है, 
बो अंत आज फिर अधूरा रह गया।।

©Rj Kant krishn kant intezaar नहीं करता कोई, 
फिर भी सबका मेहमान है। 


#mask

intezaar नहीं करता कोई, फिर भी सबका मेहमान है। #mask #लव

3784b308d024a517c94e56d27ff65ed1

Rj Kant krishn kant

क्षीण हो जाती हसरतें गालिब! 
गर मंजिले-जुस्तुजू का जज्ब ना होता

©Rj Kant krishn kant #Anhoni  indu singh zoya mansi sahu Sudha Tripathi NIDHI

#Anhoni indu singh zoya mansi sahu Sudha Tripathi NIDHI #ज़िन्दगी

3784b308d024a517c94e56d27ff65ed1

Rj Kant krishn kant

तुझे याद है! 

जब भी मम्मी पापा से बे-वजह सा मुँह फुलाकर खाना छोड़ देता था! 
तो उनके पास एक ही option होता था, कि तू खाना देकर आ खा लेगा!! 
or 
तेरी भैय्या वाली एक आवाज से, पेट के भूखे चूहे जैसे कुत्तो की तरह दौड़ पड़ते थे! 
आज जब जब भूख सताती है,,,,,! 
सच में बहन तेरी बहुत याद आती है!!

©Rj Kant krishn kant #friends  Vineeta Rakesh Srivastava Sanju Singh vks Siyag Devil Abhishek

#friends Vineeta Rakesh Srivastava Sanju Singh vks Siyag Devil Abhishek #समाज

loader
Home
Explore
Events
Notification
Profile