jay sharma

jay sharma Lives in Jaipur, Rajasthan, India

अपनी कलम के सहारे अपने जज़्बात को उतार रहा हु,..

  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"एक सुकून की तलाश में, ना जाने कितनी बेचैनियाँ पाल ली ।।।।। और लोग कहते है हम बड़े हो गये हमने जिंदगी संभाल ली।।।।"

एक सुकून की तलाश में, ना जाने कितनी 

बेचैनियाँ पाल ली ।।।।। और लोग कहते 

है हम बड़े हो गये हमने जिंदगी संभाल ली।।।।

there is no end of human desire

169 Love
17 Share

""

"#OpenPoetry हर तरफ करूणा की चीत्कार मिलती है, यहाँ हर रोज मानवता शर्मसार होती है,बीच सडक पर कोई मरता है देखो कोई उठा उसे ना पाता है, खींच तस्वीर फोन से उसे इन्टरनेट पे डाला जाता है, देखो क्या समय आया है मौत का भी तमाशा बनाया जाता है, बेटी को कोख में मारा जाता है,हर रोज बलात्कार किया जाता है,पवित्रता से बंधे रिश्तो को हर रोज शर्मसार किया जाता है,क्या गलती होती है उन मासूमो की जो ये अत्याचार उन पर किया जाता है,क्या इसी डर से उन्हे पैदा होने से पहले ही मार दिया जाता है,पैसे,हवस,स्वार्थ के लिए लोगों को मारा जाता है,इन्सानो की इस दुनिया में हेवानो को बसाया जाता है ।।।"

#OpenPoetry  हर तरफ करूणा की चीत्कार मिलती है, यहाँ हर रोज मानवता शर्मसार होती है,बीच सडक पर कोई मरता है 
देखो कोई  उठा उसे ना पाता है, खींच तस्वीर फोन से उसे इन्टरनेट पे डाला जाता है, देखो क्या समय आया है मौत का भी तमाशा बनाया जाता है, बेटी को कोख में मारा जाता है,हर रोज बलात्कार किया जाता है,पवित्रता से बंधे रिश्तो को हर रोज शर्मसार किया जाता है,क्या गलती होती है उन मासूमो की जो ये अत्याचार उन पर किया जाता है,क्या इसी डर से उन्हे पैदा होने से पहले ही मार दिया जाता है,पैसे,हवस,स्वार्थ के लिए लोगों को मारा जाता है,इन्सानो की इस दुनिया में हेवानो को बसाया जाता है ।।।

रोष है,गुस्सा है पर सब जज़्बात दिल में दबाए बैठा हु,ज्यादा तो मे कर ना पाया बस हालातों को अपनी कलम से बयां कर पाया हूँ ।।।।।।

160 Love
7 Share

""

"सही वक़्त पर करवा दो,हदो का अहसास मौला, कुछ तालाब ख़ुद को समदंर समझ बैठे है."

सही वक़्त पर करवा दो,हदो का अहसास मौला, कुछ तालाब ख़ुद को समदंर समझ बैठे है.

ओर हमने तो माना था उन्हे खुदा की तरह,हमे क्या पता था कि वो खुद को ही खुदा समझ बैठे है

144 Love
11 Share

""

"#DearZindagi ये जिंदगी है साहब ये जीना सिखाती हैं गिरना सिखाती है,उठना सिखाती है,खिला के ठोकर ये चलना सिखाती है,ये जिंदगी है साहब ये जीना सिखाती है, प्यार करना सिखाती है,गम सहना भी सिखाती है फिर लोगों को को पहचाना भी सिखाती है,ये जिंदगी है साहब ये जीना सिखाती है लड़ना सिखाती है, जीतना सिखाती हैं ,हारना भी सिखाती है"

#DearZindagi                    ये जिंदगी है साहब ये जीना सिखाती हैं
                                                                                        
गिरना सिखाती है,उठना सिखाती है,खिला के ठोकर ये चलना 

सिखाती है,ये जिंदगी है साहब ये जीना सिखाती है, 

प्यार करना सिखाती है,गम सहना भी सिखाती है फिर लोगों को 

को पहचाना भी सिखाती है,ये जिंदगी है साहब ये जीना सिखाती 

है 

लड़ना सिखाती है, जीतना सिखाती हैं ,हारना भी सिखाती है

or har k fir jitna sikhati h y zindgi h saheb y jina sikhati h.... hasna sikhati h,rona sikhati h y zindgi h saheb jo har hal m jeena sikhati h

137 Love
7 Share

""

"तमन्ना एक तरह की जान है जो मरते दम निकले,जुदाई एक तरह की मौत जो जीते जी आये।।।।"

तमन्ना एक तरह की जान है जो मरते दम निकले,जुदाई एक तरह की मौत जो जीते जी आये।।।।

 

125 Love
3 Share