Guptaji

Guptaji Lives in Azamgarh, Uttar Pradesh, India

  • Popular
  • Latest
  • Repost
  • Video

""

"कुसूर तो उस बेजुबा के पेट का था, जो उसे उस मौत के दलदल में खींच लाई थी. कहने को तो पृथ्वी का सबसे होशियार जीव इंसान है, पर यहां तो जानवर ही बाजी मार ले गए. ....Juhi Gupta....."

कुसूर तो उस बेजुबा के पेट का था,
 जो उसे उस मौत के दलदल में 
खींच लाई थी. 
कहने को तो पृथ्वी का सबसे होशियार 
जीव इंसान है,
 पर यहां तो जानवर ही बाजी 
मार ले गए.
                         ....Juhi Gupta.....

Insaf###

84 Love
1 Share

""

"खुदा ने बड़े अजीब ढंग से दिलों के रिश्ते बनाए हैं.. सबसे ज्यादा वही रोए हैं जिसने दिल से निभाए हैं"

खुदा ने बड़े अजीब ढंग
 से दिलों के रिश्ते बनाए 
 हैं..
 सबसे ज्यादा वही रोए हैं
 जिसने दिल से निभाए हैं

😌😌😌😌

84 Love
2 Share

""

"यह दुनिया है जनाब, किसे कितनी इज्जत देनी चाहिए ये उनकी हैसियत से मापती हैं"

यह दुनिया है जनाब,
किसे कितनी इज्जत देनी चाहिए 
 ये उनकी हैसियत से मापती हैं

इज्जत

80 Love
1 Share

""

"आज मैं अपनी राह से भटक गया हूँ दुनिया क्या सोचती है इसमें ही अटक गया हूँ .. जो गलतियां आज तलक मैंने कि ही नहीं उसमें ही जकड़ कर रह गया हूँ मैं..."

आज मैं अपनी राह से भटक गया हूँ 
दुनिया क्या सोचती है इसमें ही अटक गया हूँ ..
जो गलतियां आज तलक मैंने कि ही नहीं 
उसमें ही जकड़ कर रह गया हूँ मैं...

#Hope

79 Love
1 Share

""

"औलाद तो लात मारना पेट से ही सीख लेता है, बस अंतर इतना है कि जब पेट में मारता है, तो मां फूले नहीं समाती और जब सामने से मारता है तो मां आंसू नहीं रोक पाती."

औलाद तो लात मारना 
पेट से ही सीख लेता है,
बस अंतर इतना है कि 
जब पेट में मारता है,
तो मां फूले नहीं समाती 
और जब सामने से मारता है 
तो मां आंसू नहीं रोक पाती.

 

78 Love
1 Share