Pakhi Gupta

Pakhi Gupta Lives in Bengaluru, Karnataka, India

Searching for Meaning

  • Latest Stories

विचार से कार्य की उत्पत्ति होती है,
कर्म से आदत की उत्पत्ति होती है और
चरित्र से आपके भाग्य की उत्पत्ति होती है

605 Love
37 Share

"रिश्ते जोड़ने या तोड़ने से पहले हजार बार सोच लेना चाहिए।"

रिश्ते जोड़ने या तोड़ने से पहले हजार बार
 सोच लेना चाहिए।

रिश्ते जोड़ने या तोड़ने से पहले हजार बार सोच लेना चाहिए।

762 Love
6 Share

"किस्मत ने जैसा चाहा वैसे ढल गए हम, बहुत संभल के चले फिर भी फिसल गए हम, किसी ने विश्वास तोड़ा तो किसी ने दिल, और लोगों को लगा की बदल गए हम."

किस्मत ने जैसा चाहा वैसे ढल गए हम,
बहुत संभल के चले फिर भी फिसल गए हम,

किसी ने विश्वास तोड़ा तो किसी ने दिल,

और लोगों को लगा की बदल गए हम.

किस्मत ने जैसा चाहा वैसे ढल गए हम,
बहुत संभल के चले फिर भी फिसल गए हम,

किसी ने विश्वास तोड़ा तो किसी ने दिल,

और लोगों को लगा की बदल गए हम.

683 Love
6 Share

"नहीं काँटे भी क्या उजड़े चमन में कोई रोके मुझे मैं जा रहा हूँ"

नहीं काँटे भी क्या उजड़े चमन में
कोई रोके मुझे मैं जा रहा हूँ

#oldage #nojotohindi

849 Love
24 Share

"तुम समुंदर की बात करते हो लोग आँखों में डूब जाते हैं"

तुम समुंदर की बात करते हो
लोग आँखों में डूब जाते हैं

Sad Shayari #nojotohindi #SAD

915 Love
39 Share