Kanak Tiwari

Kanak Tiwari

This is me and I am unique 😎😎

  • Latest
  • Popular
  • Video

finally i am back in our ballia🥳🥳🥳

70 View

#Happyrakshabandhanbhai #nojotoinbhai😂  Happy rakshabandhan to all

©Kanak Tiwari

लोगों से मिलना तब भी पसंद था और अब भी पसंद है पर एक बदलाव आया है अब तब हम सबको दिल में जगह देते थे अब तो बगल में भी जगह देने का मन नहीं करता ।। ©Kanak Tiwari

#Quotes  लोगों से मिलना तब भी पसंद था
और अब भी पसंद है


पर एक बदलाव आया है अब
तब हम सबको दिल में जगह देते थे
अब तो बगल में भी जगह देने का मन नहीं करता ।।

©Kanak Tiwari

बुरे हो तुम पता है हमे बुरा हम भी बनना चाहेंगे चलो ढूंढो मुझे अब नजर तो क्या ,झलक भी नही दिखाएंगे। @SIDDHARTH.SHENDE.sid @Untold_story ( Mr Maahi) @Versha Kashyap @Manali Rohan @Sandip rohilla

13 Love

अपने वो नही जो कैसे हो का जवाब..... ठीक हूं!... दे। अपना तो वो है जो बस कैसे हो पूछने पर उस दिन की सारी कहानी सुना दे...तब पूछे तुम बताओ ।😂 ©Kanak Tiwari

#expirence  अपने वो नही जो कैसे हो का जवाब..... ठीक हूं!... दे।

अपना तो वो है जो बस कैसे हो पूछने पर उस दिन की सारी कहानी सुना दे...तब पूछे तुम बताओ ।😂

©Kanak Tiwari
#somebeautifullines #MyFavSong #Quotes

यादें.....कितनी याद आती हैं मन शांत रहता है ,पर दिल यूं ही धड़कता है लेकर किताब यादों का बार बार पलटता है कभी कहता बचपन को पढ़ ले ,फिर कुछ पल थमता है कर के याद दिन बचपन का दिल शिशक शिशक कर रोता है पूछता है मुझसे बताओ ना क्यों मां नही अब सुलाती है प्यारी सी वो लोरी जो बार बार याद आती है यादें.....कितनी याद आती हैं दिल ने खोल दिया वो पन्ना मेरे जीवन का जहां पड़े थे खिलौने और कुछ कपड़े मेरे गुड़िया का देख उसे मेरा दिल भर आया सोची क्यों बीता वो दिन ,ये दिन आया गुड़िया बोली मुझसे हस कर रोती क्यों हो इतना मेरे बेटे की शादी है चलो उसी में मिलना ये सुन कर हसी जोड़ से आई क्या सच में गुड़िया के घर बजेगी शहनाई फिर दिल बोला ....नही गुड़िया भी कर रही तुम्हारी टांग खिंचाई तब तक फिर मां की आवाज आती है खाना खा लो और चलो पढ़ो बैठ कर , मां हमे बुलाती है यादें...... कितनी याद आती है।।।। ©Kanak Tiwari

#bachpan #yaaden  यादें.....कितनी याद आती हैं
मन शांत रहता है ,पर दिल यूं ही धड़कता है
लेकर किताब यादों का बार बार पलटता है
कभी कहता बचपन को पढ़ ले ,फिर कुछ पल थमता है
कर के याद दिन बचपन का दिल शिशक शिशक कर रोता है
पूछता है मुझसे बताओ ना क्यों मां नही अब सुलाती है
प्यारी सी वो लोरी जो बार बार याद आती है
यादें.....कितनी याद आती हैं
दिल ने खोल दिया वो पन्ना मेरे जीवन का
जहां पड़े थे खिलौने और कुछ कपड़े मेरे गुड़िया का
देख उसे मेरा दिल भर आया
सोची क्यों बीता वो दिन ,ये दिन आया
गुड़िया बोली मुझसे हस कर रोती क्यों हो इतना
मेरे बेटे की शादी है चलो उसी में मिलना
ये सुन कर हसी जोड़ से आई
क्या सच में गुड़िया के घर बजेगी शहनाई
फिर दिल बोला ....नही गुड़िया भी कर रही तुम्हारी टांग खिंचाई
तब तक फिर मां की आवाज आती है 
खाना खा लो और चलो पढ़ो बैठ कर , मां हमे बुलाती है
यादें...... कितनी याद आती है।।।।

©Kanak Tiwari

#yaaden #bachpan Aaru Bishnoi Mysterious Girl swara wadhwa Rachna Rathore chandni

15 Love

Trending Topic